कीटो आहार सुझाव एवं इसमें सम्मिलित खाद्य पदार्थ – Food Indigents Of Kito Diet In Hindi

स्वास्थ्य सुझाव

आज के समय में व्यस्त दिनचर्या और अनियमित खानपान की वजह से बहुत से लोग मोटापा का शिकार हो जाते है, फिर वजन कम करने के चक्कर में बहुत से एक्सरसाइज और कई तरह की कठिन डाइट को प्रयोग करते है मगर फिर भी उनका वजन कम नहीं होता है | अगर आप भी अपने बड़े हुए वजन को कम करना चाहते है तो परेशान न हो आज कल कीटो डाइट नाम का एक डाइट प्लान बहुत ही ज्यादा लोकप्रिय हो रहा है जो वजन कम करने में बहुत लाभकारी होता है |

कीटो डाइट में लो कार्बोहाइड्रेट और हाई फैट बाले भोजनों का प्रयोग किया जाता है जिससे शरीर को किटोसिस की अवस्था में लाया जा सके | किटोसिस शरीर की एक प्राक्रतिक प्रक्रिया होती है जो शरीर में मेटाबोलिक अवस्था उत्पन्न करता है जिससे शरीर फैट को तोड़कर एनर्जी प्राप्त करना शुरू कर देता है जो वजन को तेजी से कम करने में मदद करता है |

इन खाद्य पदार्थों को करें शामिल :

कीटो डाइट को प्रयोग करना कोई आसान बात नहीं है जब की आपको यह पता ही नहीं हो की कीटो डाइट में किस प्रकार के भोजनों को प्रयोग किया जाता है | तो आइये जानते है कीटो डाइट किन भोज्य पदार्थो का प्रयोग लाभकारी होता है | इन भोज्य पदार्थों को प्रयोग करने से पहले अपने विशेषज्ञ से इनके प्रयोग करने की मात्रा और सही तरीके के बारे में परामर्श जरुर कर ले –

सीफूड होता है लाभकारी –

कीटो डाइट में सीफूड जैसे मछलियां, केकड़े और श्रिंप आदि को प्रयोग करना लाभदायक होता है | साल्मन और दूसरी मछलियों में विटामिन, पोटेशियम और सेलेनियम बहुत ही अच्छी मात्रा में पाए जाते है | सीफ़ूड में कर्ब्स बिलकुल ना के बराबर में पाए जाते है जिससे इन्हें कीटो डाइट प्रणाली में प्रयोग करना लाभदायक होता है |

कम कर्ब्स वाली हरी सब्जियों के फायदे –

जिन हरी सब्जियों में स्टार्च की मात्रा ना के बराबर होती है उनमे कैलोरी और कार्बोहाइड्रेट भी बहुत कम मात्रा में पायें जाते है मगर इस प्रकार की हरी सब्जियों में पोषक तत्व बहुत उच्च मात्रा में पाए जाते है | ज्यादातर हरी सब्जियों में कर्ब्स बहुत ही कम मात्रा में पाया जाता है | हरी सब्जियों में आप केल, ब्रोकली, फूलगोभी और पत्तागोभी का प्रयोग कर सकते है |

शेडर चीज़ होता है लाभकारी –

बाज़ार में आपको आसानी से चीज की कई सारी वैरायटी मिल जाएँगी जिनमे बहुत ही कम मात्रा में कर्ब्स और हाई फैट पाए जाते है | शेडर चीज की 28 ग्राम मात्रा में लगभग 1 ग्राम कर्ब्स और 7 ग्राम प्रोटीन पाए जाते है जो कीटो डाइट में लाभकारी होता है |

एवोकाडो करे प्रयोग –

एक अच्छे एवोकाडो में लगभग 9 से 10 ग्राम तक कार्बोहाइड्रेट और बहुत से विटामिन और खनिज पदार्थो के साथ साथ पोटेशियम भी बहुत अच्छी मात्रा में पायें जाते है | स्वास्थ के लिए लाभकारी होने के साथ साथ एवोकेडो कीटो डाइट में प्रयोग करना बहुत फायदेमंद होता है |

पोल्‍ट्री मांस को करे शामिल –

पोल्ट्री मांस को कीटो डाइट में प्रयोग करना बहुत ही लाभकारी होता है इसमें कार्बोहाइड्रेट कम मात्रा में पाया जाता है | इसके साथ ही इसमें विटामिन बी और कई सारे खनिज पदार्थ बहुत अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं | पोल्ट्री मांस में हाई क्वालिटी बाले प्रोटीन बहुत ही अच्छी मात्रा में पाए जाते हैं जिससे यह मांसपेशियों को मजबूत रखने और वजन को कम करने में मदद करता है |

अंडे करे शामिल –

कीटो डाइट वाली जीवनशैली में अंडे लाभाकरी होते है क्योंकि एक बड़े अंडे में 1 से 3 ग्राम तक कार्बोहाइड्रेट और 6 से 8 ग्राम तक प्रोटीन पाया जाता है जिसकी वजह से कीटो डाइट में अंडे का प्रयोग करना बहुत ही लाभकारी माना जाता है | अंडे शरीर में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने और वजन को नियंत्रित करने में बहुत ही लाभदायक होते है |

नारियल तेल होता है लाभकारी

नारियल के तेल में बहुत ही अच्छी क्वालिटी के लाभकारी गुण पाए जाते है जिससे नारियल के तेल को कीटो डाइट में प्रयोग करना लाभकारी होता है | नारियल के तेल में मध्यम-श्रृंखला में ट्राइग्लिसराइड्स पाए जाते है यह शरीर में केटोंस के रूप में बनी उर्जा को तेजी से प्रयोग करने में मदद करता है जिससे नारियल का तेल मोटे लोगो को वजन घटाने में बहुत ही लाभकारी होता है |

प्‍लेन ग्रीक योगर्ट को करे शामिल –

प्लेन ग्रीक योगर्ट यानि की दही में उच्च मात्रा में प्रोटीन पाया जाता है वैसे तो दही में कुछ मात्रा में कार्बोहाइड्रेट भी पाया जाता है मगर फिर भी दही को कीटो डाइट में शामिल करना लाभकारी होता है | दही की 150 ग्राम मात्रा में लगभग 5 से 7 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 10 से 14 ग्राम तक प्रोटीन पाया जाता है | दही को डाइट में शामिल करके प्रयोग करते समय इसमें दालचीनी और अखरोट मिलाकर ही प्रयोग करें वजन को जल्दी कम करने में लाभकारी होता है |

बेरीज़ को करे शामिल –

कई सारे फलो में कर्ब्स बहुत अधिक मात्रा में पाए जाते है जिससे उन फलो को कीटो डाइट में शामिल नहीं किया जाता है | मगर बेरीज फल में फाइबर बहुत अधिक मात्रा में और कर्ब्स बहुत ही कम मात्रा में पाए जाते है इसके साथ ही ब्लैकबेरीज और रसभरी में भी फाइबर बहुत ही अच्छी मात्रा में पाया जाता है जिससे ये फल वजन को कम करने के साथ साथ पाचन की क्रिया को मजबूत बनाने में भी मदद करते है |

बटर को करे शामिल –

कीटो डाइट में फैटी भोज्य पदार्थ के रूप में बटर को प्रयोग करना बहुत ही लाभकारी माना जाता है | वजन को कम करने बाले सारे गुण बटर में पाए जाते है | इसमें बहुत ही कम मात्रा में कर्ब्स पाए जाते है और बटर आसानी से हजम भी हो जाता है | बटर को कम मात्रा में प्रयोग करना लाभदायक होता है |

 नट्स का प्रयोग लाभकारी होता है –

नट्स और सीड्स में कम मात्रा में कर्ब्स और अधिक मात्रा में वसा पाया जाता है | नट्स में फाइबर का उच्च स्त्रोत पाया जाता है जिससे ये बहुत ही कम मात्रा में कैलोरी का अवशोषण करते है और ये पेट को भरने में फायदेमंद होता है | आप कीटो डाइट में निम्न नट्स बादाम, काजू, पिस्ता, चिया बीज, सन बीज आदि को शामिल कर सकते है |

नोट : – निम्न भोज्य पदार्थो को कीटो डाइट में शामिल करने से पहले अपने डाइट  विशेषज्ञ से इन पदार्थो को प्रयोग करने का सही तरीका और मात्रा आदि के बारे में परामर्श जरुर कर लें |

Tagged आहार सुझाव
MANVENDRA
HEALTH BLOGGER AND DIGITAL MARKETER AT SOFT PROMOTION TECHNOLOGIES PVT LTD

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *