क्यों होता है योनि से रक्तस्राव – Vaginal Bleeding Causes In Hindi

महिलाओं की समस्यायें

महिला अक्सर अपनी गुप्त अंग से जुडी समस्या का उपचार करवाने व किसी से शेयर करने में संकोच है | लेकिन अगर गुप्त अंग से जुडी समस्या का उपचार समय रहते ना करवाया जाये | तो वह समस्या को गंभीर होते समय नही लगता है | जिससे महिला के जीवन पर बुरा असर पड़ सकता है | इसीलिए आज हम आपको महिला से जुडी योनी से रक्तस्त्राव जैसी गंभीर समस्या के बारे में जानकारी देने जा रहे है | तो आइये जानते है इसको विस्तार से

योनी से रक्तस्राव क्यों होता है ?

सामान्यता महिला को रक्तस्राव जैसी समस्या का सामना केवल मासिक धर्म में ही करना पड़ता है | मासिक धर्म के समय हर महिला को रक्तस्राव का सामना करना पड़ता है | यदि मासिक धर्म से पहले या बाद महिला को इस प्रकार की समस्या हो रही है | तो यह केवल गुप्त रोग के कारण हो सकता है | मासिक धर्म से पहले या बाद में रक्तस्राव की समस्या कई कारणों से हो सकती है | जैसे की

  • संक्रमण की वजह से |
  • रजोनिवृत्ति के कारण |
  • योनि में चोट की वजह से |
  • हार्मोन परिवर्तन के कारण |

आदि | इस वजह से भी अक्सर महिला के योनी से रक्तस्राव जैसी समस्या आने लगती है | अगर इन सभी समस्या का समय रहते उपचार ना करवाया जाये | तो महिला को गंभीर समस्या का सामना करना पड़ सकता है | तो आइये जानते है | इस सभी समस्या के बारे में विस्तार से |

संक्रमण के कारण भी होता है

महिला को संक्रमण के कारण भी इस प्रकार की समस्या का समाना करना पड़ता है | क्यूकि संक्रमण की वजह से महिला के गुप्त अंग में दाने व छाले जैसी भी समस्या का सामना करना पड़ता है | इसके साथ साथ महिला के गुप्त अंग से रक्तस्त्राव भी होता है जिसमे से बदबू, योनि में खुजली, गुलाबी रक्त का निकलना, या फिर गाढ़ा और श्वेत प्रदर जैसा रक्त निकलता है | अगर इस समस्या का सही समय पर उपचार ना करवाने पर योनी में अल्सर जैसी समस्या हो सकती है |

योनि में चोट की वजह से आती है रक्त की समस्या

यदि किसी वजह से महिला के गुप्त अंग में चोट लग जाये | तो इस वजह से भी महिला को रक्त जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है | ये चोट सेक्स के दौरान भी लग सकती है | यदि इस प्रकार की समस्या का सामना करना पड़े | तो महिला को बर्फ के टुकड़े को साफ़ तौलिये में लपेटकर उस जगह की सिकाई करने से आराम मिलता है | एक बात का ध्यान रहे अगर इस प्रकार की कोई परेसानी हो | तो इस समय में टाइट कपडे बिलकुल भी ना पहने |

सेक्स के समय भी हो सकती है

सेक्स के समय बहुत कारणों की वजह से रक्तस्राव जैसी समस्या हो सकती है | यदि किसी महिला को संक्रमण, गर्भाशय की कोशिकाओं में परिवर्तन या फिर योनि में चोट लगने की वजह से महिला को रक्तस्राव जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है | अगर कोई महिला पहली बार सेक्स करे | तो रक्तस्राव की समस्या सामान्य बात होती है | लेकिन हर बार सेक्स करने पर रक्तस्राव की समस्या हो तो डॉक्टर से जरुर संपर्क करे |

हार्मोन परिवर्तन के कारण आती है

कई महिलायों को मासिकधर्म के 15 दिन बाद रक्तस्राव जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है | ऐसा इसलिए होता है | क्यूकि महिला के हार्मोन परिवर्तन का सामना करना पड़ता है | हार्मोन परिवर्तन के कारण होने वाला रक्तस्राव से महिला से शरीर पर किसी भी प्रकार का कोई असर नही पड़ता है | अगर आपको इसके कारण कमजोरी की समस्या का सामना करना पड़ रहा है | तो आप डॉक्टर से भी सलाह ले सकती है | कभी कभी गर्भनिरोधक दवा के कारण भी हार्मोन परिवर्तन होने लगता है | जिसके वजह से महिला को रक्तस्राव की समस्या का सामना करना पड़ सकता है |

गर्भावस्था के समय भी होता है

गर्भावस्था के समय भी महिला को रक्तस्राव का सामना करना पड़ सकता है | यदि गर्भावस्था के समय अधिक रक्त निकालने की समस्या हो रही है | तो महिला को डॉक्टर से जरुर संपर्क करना चाहिये | क्यूकि अधिक रक्त निकालने से महिला को कमजोरी के साथ साथ और भी कई समस्या का सामना करना पड़ सकता है | अगर इस समस्या का सही समय पर इलाज ना कराया जाये | तो महिला के साथ साथ बच्चे की जान को भी खतरा हो सकता हैं |

अब आइये जानते है योनी से रक्तस्राव से जुड़े कुछ सवाल के बारे में

स्कूबा डाइविंग के समय रक्तस्त्राव किस कारण से होता है ?

स्कूबा डाइविंग करते समय कई कारणों की वजह से रक्तस्त्राव की समस्या आ सकती है | जैसे संक्रमण या फिर हार्मोन परिवर्तन के कारण

एबॉर्शन के 15 दिन बाद रक्तस्त्राव होने से क्या खतरा है ?

एबॉर्शन के 15 दिन बाद अगर नार्मल बिलिडिंग हो रही है | तो इससे महिला को कोई दिक्कत नही आती है | लेकिन लगातार कई दिनों तक इस प्रकार की समस्या हो तो डॉक्टर से जरुर संपर्क करना चाहिये |

अधिक बिलिडिंग होने पर क्या करना चाहिये ?

यदि किसी महिला को अधिक बिलिडिंग की समस्या हो रही है | तो महिला को तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करना चाहिये | अधिक बिलिडिंग से महिला के स्वास्थ पर असर पड़ता है |

और पढ़े – गर्भावस्था के दौरान पेट व पीठ में दर्द – Pregnancy Time Pain In Back In Hindi

MANVENDRA
HEALTH BLOGGER AND DIGITAL MARKETER AT SOFT PROMOTION TECHNOLOGIES PVT LTD

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *