जानिये स्वाइनफ्लू के लक्षण व बचाव

0
117

स्वाइनफ्लू : आजकल स्वाइनफ्लू बहुत तेजी से फ़ैल रहा है रोजाना स्वाइन फ्लू के कारण अनेक पीड़ित मरीजो की मौत हो जाती है क्योकि उन्हें स्वाइन फ्लू  के कारण व लक्षण व बचाव और इलाज के बारे में पता नही होता है स्वाइन फ्लू की बीमारी एज1.एन1  वायरस के फैलने के कारण होती है यह वायरस (Virus) हवा में फ़ैल जाता है |

और साँस लेने पर लोगो के शरीर में प्रवेश कर जाता है मौसम के बदलने के साथ यह बीमारी (Bimari) गर्मी के मौसम में काफी तेजी से फैलने लग जाती है | आमतौर पर स्वाइन फ्लू (Swine Flu) के लिये सुअरों को मुख्य कारण माना जाता है | और अगर स्वाइनफ्लू (Swine Flu) का समय पर उपचार (Treatment) ना किया जाये तो यह जानलेवा हो सकती है तो आइये जानते स्वाइन फ्लू (Swine Flu) के कारण व लक्षण (Lakshan) जिससे आप इसे आसानी से पहचान कर उपचार (Tratment) ले सके |

  • व्यक्ति को ज्यादा बुखार आना |
  • खांसी आना भी स्वाइन फ्लू (Swine Flu) का लक्षण है |
  • सिरदर्द (Sirdard) होना |
  • गले में खराश होना |
  • ज्यादा कमजोरी या थकान लगना |
  • साँस लेने में तकलीफ होना |
  • दस्त की समस्या होना |
  • बार बार उल्टी आना |

आप इन लक्षणों को पहचान कर स्वाइन फ्लू (Swine Flu)  का बचाव कर सकते है |

तो आइये जानते है की स्वाइन फ्लू (Swine Flu) का घरेलु उपचार (Treatment) कैसे किया जाता है |

गुनगुना दूध- (Hot Milk) स्वाइनफ्लू

स्वाइन फ्लू (Swine Flu) में रोजाना रात में दूध में हल्दी (Haldi) डालकर पीना फायदेमंद होता है |

कपूर- (Kapur)

एक गोली के आकार का कपूर (Kapur) का टुकड़ा महीने में एक या दो बार गुनगुने पानी के साथ निगल ले ये स्वाइन फ्लू (Swine Flu) से बचने में फायदेमंद होगा |

 नीम- (Neem)

आपको रोजाना नीम (Neem) की 3 से 5 पत्तियां चबानी होगी जिससे खून साफ रहेगा और स्वाइन फ्लू (Swine Flu) का खतरा कम हो जायेगा |

विटामिन.सी- (Vitamin C)

स्वाइन फ्लू (Swine Flu) से बचने के लिये खट्टे फल और विटामिन सी (Vitamin C) से भरपूर आवंला (Amla) जूस का सेवन करे यह बेहद फायदेमंद रहेगा |

तुलसी- (Tulsi)

तुलसी (Tulsi) की दोनों तरफ से धुली पत्तियां रोज सुबह खाये जिसे आपके शरीर के प्रतिरोधक क्षमता बढेगी और संक्रमण का खतरा कम हो जायेगा |

लहसून- (Lehsun)

रोज सुबह लहसून (Lehsun) की दो कलियाँ कच्ची चबाये यह अन्य चीजो की बजाय आपकी इमुनिटी (Immunity) ज्यादा बढाती है |

एलोवेरा- (Aloe Vera)

एलोवेरा (Aloe Vera) जैल को एक टी स्पून में पानी के साथ लेने से जोड़ो का दर्द दूर होगा और इमुनिटी (Immunity) बढेगी जो स्वाइन फ्लू (Swine Flu) से बचाव के लिये उपयोगी है |

प्राणायाम- (Pranayam)

रोजाना प्राणायाम (Pranayam) करना आपके लिये फायदेमंद होता है इससे आपका शरीर स्वस्थ्य रहता है और संक्रमण का खतरा कम रहता है |

तो इन उपायों से आप स्वाइन फ्लू (Swine Flu) जैसी बीमारी (Bimari) की समस्या से आराम पा सकते है |

और पढे – (What Is Tetanus?, Tetanus Symptoms, Causes And Treatment. टिटनेस का उपचार.)

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.