स्कर्वी रोग के कारण एवं घरेलु उपचार

0
166
Scurvy
Scurvy

दोस्तों स्कर्वी रोग भोजन में विटामिन c जिसे एस्कोब्रिक एसिड भी कहते है की कमी से होता है | मनुष्यों में कोलाजेन के बनने और आयरन के अवशोषण के लिये विटामिन c  की आवश्यकता होती है|जो कि हमे विभिन्न फलो और सब्जिया से मिलते है

लेकिन विटामिन c  की कमी होने से शरीर में रक्त की भी कमी हो जाती है दोस्तों विटामिन c की कमी होने से सबसे ज्यादा प्रभावित गर्भ में पल रहा शिशु होता है |

विशेषज्ञों की माने तो यदि महिला में विटामिन c की कमी हो तो बच्चे का दिमाग पूरी तरह विकसित नही हो पाता है विटामिन c की कमी होने पर व्यक्ति में खून की कमी हो जाती है |

कई बार शरीर के कुछ हिस्सों में सूजन भी आ जाती है | व्यक्ति के दंत भी टूट सकते है |

और मसूडो में अल्सर होने की शिकायत भी हो सकती है हालांकि स्कर्वी बहुत कम देखने को मिलती है |

फिर भी बुजुर्गो, ज्यादा एल्कोहल लेने वालो और ऐसे लोगो या बच्चों में होने संभावना रहती है जिनकी डाइट में फल और सब्जियों की मात्रा कम होती है स्कर्वी रोग  होने से ब्लड वैसेल त्वचा और रोगों को ठीक करने की क्षमता कमजोर हो जाती है |

स्कर्वी का घरेलु उपचार 

 

स्कर्वी रोग के कई लक्षण होते है |

जैसे- मसूडो में खून आना सूखे और दो मुहं बाल पैरालायसिस जैसा महसूस करना, वजन का न बढना, स्किन डिसआर्डर जैसी समस्याये होना है |

ऐसे ही स्कर्वी रोग  होने के कारण  भी कई होते है जैसे- धुम्रपान या शराब का ज्यादा सेवन करने से इसका खतरा बढ़ता है गर्भवती होने के दौरान खाने पीने का ध्यान न रखने पर स्कर्वी हो सकता है |

बच्चो को गाय का दूध ठीक से उबालकर न पिलाने से इस रोग की समस्या हो सकती है|

खाने में फल और सब्जियों की प्रचुर मात्रा न होने पर विटामिन c शरीर को नही मिल पाता है | जिससे स्कर्वी रोग  की समस्या बढ़ जाती है |

दोस्तों स्कर्वी का इलाज हम आसानी से डॉक्टर से परामर्श लेकर कर सकते है |

मगर दोस्तों कुछ घरेलू उपायों  को प्रयोग कर इससे बच सकते है तो आइये जानते है

स्कर्वी से बचाब के घरेलू उपाय

  • हरीमिर्च में विटामिन cकी उच्च मात्रा होती है हरीमिर्च खाना स्कर्वी रोग  से बचने का सबसे अच्छा उपाय है |
  • कीवी को सलाद के रूप में आहार में प्रयोग कर विटामिन c की भरपाई पूरी की जा सकती है |
  • आवंला में विटामिन c होता है आवंला की सूखी कैंडी या आवंला का रस भी स्कर्वी रोग  में फायदा देता है |
  • खाना खाने से पहले रोज एक छोटी चम्मच अमचूर खाने से शरीर में विटामिन c की कमी को पूरा करता है |
  • स्ट्रॉबेरी विटामिन c का उच्च स्त्रोत होती है स्ट्रॉबेरी को सलाद स्मूदी आदि किसी भी रूप में खाना फायदेमंद होता है |
  • स्कर्वी के इलाज में पपीता बेहद प्रभावी फल है पपीता रोज खाने से शरीर में विटामिन c की कमी पूरी होती है |
  • धनिया की तरह पार्सले में भी विटामिन c की उच्च मात्रा होती है | जो स्कर्वी के उपचार में फायदेमंद होता है |
  • शिमला मिर्च में विटामिन c की उच्च मात्रा होती है | पीली शिमला मिर्च में सबसे अधिक विटामिन c पाया जाता है|
  • लगभग 100 ग्राम ब्रोकली में 89 मिलीग्राम विटामिन c की मात्रा पाई जाती है ऐसे में अपने खाने में ब्रोकली का सर्वाधिक प्रयोग करना चाहिये |
  • बेलफल में साइट्रिक एसिड और ओक्जेलिक की उच्च मात्रा होती है बेलफल का शरबत बनाकर या इसका गूदा निकालकर खाने से विटामिन c की कमी पूरी होती है |

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.