सहजन की फली या मोरिंगा फली के रोगों मे फायदे

सहजन की फली या मोरिंगा की फली , ओलिफेरा व हर राज्य में अलग अलग नामों से भी जाना जाता है | यह एक प्रकार की ड्रमस्टिक की तरह फली होती है | जिसमे प्रोटीन, अमीनो एसिड, बीटा कैरोटीन और फीनॉलिक जैसे गुणकारी तत्व पाए जाते है | इस फली के पेड़ से लेकर जड़ तक सभी हमारे शरीर के लिए लाभकारी सिद्ध होता है | सहजन के फूलो का प्रयोग कई प्रकार के हर्बल टॉनिक बनाने में किया जाता है | इस पेड़ की पत्तियां भी हमारे शरीर की कई कमियों को दूर करने में फायदेमंद साबित होती है |

इसकी पत्तियों के द्वारा हम मोच, गठिया व जोड़ो के दर्द से मुक्ति पा सकते है | अगर इस फली का सेवन हफ्ते में एक बार या दो बार किया जाये | तो हमारे जोड़ों व शरीर की किसी भी अंग में दर्द की समस्या का सामना नही करना पड़ेगा | इसीलिए दोस्तो आज हम आपको सहजन से जुड़े कुछ जरुरी लाभ व हानियों के बारे में आपको बताने जा रहे है | तो आइये जानते है सहजन के बारे में विस्तार से |

उच्च रक्तचाप की समस्या को ख़त्म करने में सहायक है सहजन की फली

सहजन में भरी मात्रा में पोटेशियम की मात्रा पाई जाती है | जो व्यक्ति के शरीर से उच्च रक्तचाप जैसी समस्या को जड़ से ख़त्म करने में बहुत मदद करती है | यदि उच्च रक्तचाप वाला व्यक्ति नियमित रूप से इस फली का सेवन करे | तो कुछ ही समस्या में उच्च रक्तचाप जैसी समस्या को जड़ से खत्म किया जा सकता है |

सहजन उच्च रक्तचाप साथ हमारे शरीर का कोलेस्ट्रॉल को भी सामान्य स्तर पर बनाये रखती है | क्यूकि इस फली में मौजूद इसोथियोसाइनेट और निइज़िमिनिन जैसे जैवसक्रिय घटक हमारी धमनियों को मोटा होने से रोकते है | जिसके कारण हमारे शरीर में अधिक कोलेस्ट्रॉल जमा नही हो पाता है |

मोटापे को कम करती है सहजन की फली

यदि आप अधिक मोटापे की समस्या से ग्रस्त है | तो आपको इस फली का सेवन जरुर करना चाहिये | क्यूकि इसमें पाया जाने वाला फास्फोरस हमारे शरीर में जमा वसा व कैलोरी की मात्रा को कम करने में हमारी बहुत मदद करता है | यदि आप जल्दी अपना वजन को कम करना चाहते है | तो आपको इसकी पत्तियों के रस का सेवन करना चाहिये | सहजन की पत्तियों में फाइबर की अच्छी मात्रा पाई जाती है | जो हमारे शरीर में जमा चर्बी को जल्द से जल्द कम करने में हमारी बहुत मदद करता है | इसीलिए अगर आप अपने वजन को करना चाहते है | तो आपको अपने रोजाना के आहार में इस फली को ऐड करना चाहिये |

त्वचा की खूबसूरती व मुलायामपन को जिन्दा रखता है सहजन की फली

यदि आपकी त्वचा कमजोर व रुखी है जिसके कारण आपको कई प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ता है | अपनी इस समस्या को जड़ से ख़त्म करने के लिए भी आपको इस फली का सेवन करना चाहिये | इस फली में एंटीबैक्टीरियल, एंटीफंगल और एंटीवायरल जैसे गुण होते है | जो हमारी त्वचा को खुबसूरत व मुलायम बनाने में हमारी बहुत मदद करते है |

अगर आप इस फली का सेवन रोजाना करते है | तो आपको कभी भी त्वचा से जुड़े संक्रमण,दाग धब्बे, पिम्पल्स या फिर अन्य किसी समस्या का सामना नही करना पड़ेगा | क्यूकि सहजन में विटामिन A भी भरी मात्रा में पाया जाता है | जो हमारी त्वचा को मजबूती प्रदान करता है | यदि आप अपनी त्वचा को जल्दी कोमल व खुबसूरत बनाना चाहती है | तो आप इससे बना तेल का भी प्रयोग कर सकती है |

पाचन तंत्र को मजबूत बनती है सहजन की फली

पाचन तंत्र में खारबी आने से व्यक्ति को कई प्रकार क समस्या का सामना करना पड़ता है | जो व्यक्ति अस्वस्थ व बीमार बनाता है | यदि आप भी इस प्रकार की समस्या से ग्रस्त है | तो आपको भी सहजन की फली का सेवन करना चाहिये | क्यूकि इसमें पाये जाने वाले एंटीबायोटिक और एंटीबैक्टीरियल गुण व्यक्ति के पाचन के साथ-साथ अल्सर, गैस्ट्र्रिटिस, कब्ज, दस्त व पीलिया जैसी समस्या को जड़ से खत्म करने में हमारी बहुत मदद करते है | यदि आप इन सभी समस्या में से किसी भी एक समस्या से ग्रस्त है | तो आपको इसकी पत्तियों को पीसकर शहद के साथ पीने से जल्दी आराम मिल जाता है |

सिरदर्द का आसान इलाज है सहजन की फली

यदि आपको रोजाना सिरदर्द की समस्या का सामना करना पड़ता है | तो आपको सहजन की पत्तियों को पीसकर इसके रस का सेवन करने से बहुत आराम मिलता है | यदि आप सिरदर्द के आलावा गठिया, जोड़ों का दर्द, माइग्रेन जैसी समस्या से ग्रस्त है | तब भी आप इसी तरह इस समस्या का आसान इलाज कर सकते है | यदि आप इसके रस को नही पी पा रहे है | तब आपको पीसी हुई पत्तियों को अपने सर पर लेप लगाने से भी व्यक्ति बहुत आराम मिलेगा |

शुक्राणुओं व यौवन क्षमता को बढ़ाने में मददगार है सहजन

यदि आपके शरीर में शुक्राणुओं की मात्रा कम है | या फिर आप इसको अधिक बनाना चाहते है | तो भी आप इसका सेवन करके अपनी इस कमी को खत्म कर सकते है | क्यूकि इसमें जिंक की मात्रा भी काफी अच्छी पाई जाती है | जो हमारे शरीर में शुक्राणुओं की क्षमता को बढ़ाने के साथ साथ यौवन क्षमता को भी बहुत हद तक बेहतर बनाती है | आपको नियमित रूप से इसका सेवन करते रहना चाहिये | क्यूकि अगर आप इस प्रकार की कोई समस्या से जूझ रहे है | तो आप घर पर ही अपनी समस्या का आसान इलाज करा सकते है |

जाने सहजन के अन्य लाभ के बारे में

  • बालों की मजबूती के लिए भी फायदेमंद है सहजन |
  • कान दर्द में भी फायदेमंद है सहजन की पत्तियां |
  • सर्दी जुखाम होने पर इस्तमाल करे सहजन का |
  • पायरिया जैसे रोग का इलाज है सहजन |
  • घाव व सुजन का आसान इलाज कर सकते है सहजन के द्वारा |
  • पेट के कीड़े ख़त्म करने में लाभकारी है सहजन की फली |
  • मधुमेह को कम करने में भी सहायक है मोरिंगा |
  • बच्चों की हड्डियों को मजबूत बनाता है मोरिंगा की फली |

कैसे करे मोरिंगा यानि सहजन का सेवन

आप कई प्रकार से इसके फल,बींज, पत्तियों व फूल का सेवन कर सकते है | तो आइये जानते है | इसको विस्तार से

सहजन की फली का सेवन – आप इस फली को कई प्रकार से सेवन में ला सकते है | जैसे तलकर, उबालकर, सब्जी बनाकर, या फिर सलाद के तौर पर | उबालकर खाने से हमारे शरीर को अधिक लाभ मिलता है |

मोरिंगा की पत्तियों का सेवन – आप मोरिंगा की पत्तियों का सेवन कई प्रकार से कर सकते है | जैसे पीसकर, व सलाद के रूप में भी इसका सेवन कर सकते है |

सहजन के बीज का सेवन – सहजन के बीज भी हमारे शरीर को काफी लाभ पहुचाते है | यदि इसके बीजो का सेवन नियमित रूप से किया जाये | तो इससे हमारे पाचन तंत्र पर काफी अच्छा असर पड़ेगा |

मोरिंगा या सहजन से होने वाले नुकसान

  • महिलायों को मासिक धर्म के समय इसका सेवन नही करना चाहिये | क्यूकि इसकी वजह से पेट में पित्त की समस्या हो सकती है |
  • ब्लीडिंग डिसऑर्डर वाले मरीज बिलकुल भी ना करे इसका सेवन |
  • गर्भावस्था के समय महिला को फूल, पत्ते व जड़ का सेवन नही करना चाहिये |
  • प्रसव के बाद इसका सेवन करने से होती है शरीर में हानि |

आब आइये जानते है इससे जुड़े कुछ सवाल के बारे में

सहजन के द्वारा बनाया गया मेडिकल प्रोडक्ट का नाम क्या है ?
सहजन के द्वारा कई प्रकार के मेडिकल प्रोडक्ट बनाये गए है | जैसे मूरीवेन्ना, कोट्तंचुक्कडी थैलम आदि |

सहजन और त्रिफला दोनों को मिलाकर ले सकते हैं क्या ?
सहजन के साथ त्रिफला का सेवन करने से व्यक्ति के शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है | इसीलिए किसी एक का ही सेवन करे |

क्या मोरिंगा के बीज लीवर सिरोसिस में काम करता है ?
मोरिंगा हमारे शरीर की कई समस्या का इलाज करता है | लीवर से जुड़े कई रोग को भी हम इसके द्वारा जड़ से खत्म कर सकते है | मोरिंगा के बींज लीवर सिरोसिस जैसी समस्या में भी काफी फायदेमंद है |

और पढ़े – क्रॉनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिसीस का इलाज – Chronic Obstructive Pulmonary Disease In Hindi