गर्मी में आलस को दूर करने के कुछ आसान सरल उपाय

गर्मी में आलस को दूर करने के कुछ आसान, सरल और सफल उपाय

स्वास्थ्य सुझाव

आज का समय भाग-दौड़ का समय है और ऐसी स्थिति में धकान,नीद और आलस का होना सामान्य सा है। आज के समय में मनुष्य बहुत ही आलसी होता जा रहा, हम देखते है कि कुछ लोग, बहुत आलसी रहते है और आलसी होने के कारण उनके शरीर में फुर्ती नही रहती है जिससे वह सभी अपने कार्य को करने में असमर्थ हो जाते है और कार्य को अगले दिन या फिर कभी करने की सोचता है।


हम ऐसा कह सकते है कि आलस मनुष्य का सामान्य स्वाभाव है, अधिक आलस आने की समस्या गर्मी के मौसम में अधिक होती है। कुछ विद्यार्थी को कक्षा में पढ़ने के दौरान भी आलस आता है । आलस कई कारणों से आ सकता है और हम कुछ अच्छे तरीकों को आजमा कर इस आलस को दूर कर सकते है । आइये हम गर्मी के मौसम में आने बाले आलस को शरीर से दूर करने के कुछ महत्वपूर्ण उपाय बताते हैं |

कई बार ज्यादा कार्य करने से शरीर में थकावट पैदा हो जाती है जिस कारण शरीर में आलस आता है , ज्यादा खाना खाने से भी आलस आता है, और भी कई ऐसे कारण है जिनसे शरीर में आलस आता है-

आलस को दूर करने के उपाय –

खूब पानी पियें

कहते है कि ‘‘ जल ही जीवन है’’ जी , यह कथन इस बात की पूरी पुष्टि करता है । जल हमारे शरीर में ऊर्जा का प्रवाहन करता है क्योकि पानी में एंटीओक्सिडेंट उपलब्ध होता है जिससे हमारे शरीर को ऊर्जा मिलती है, सुबह जागकर पानी पीने से काफी हद तक आपकी दिनचर्या अच्छी रहेगी और पूरे दिन आलस भी नही आऐगा।

व्यायाम करना

सुबह-सुबह जब हम जागते है तो कुछ समय हमे व्यायाम करना चाहिए, व्यायाम का मतलब शरीर पर दवाब डालना, हाथों और पैरो को मोड़ना, कमर,गर्दन आदि शरीर के अंगो को मोड़कर तथा कुछ समय तक उछल कूद करके , नियमित रूप से व्यायाम करके शरीर से आलस को दूर किया जा सकता है, यह आलस को दूर करने का तथा स्वंय को फुर्ती और तंदुरूस्त रखने का बहुत ही अच्छा तरीका है।

ऐक्यूप्रेशर

शरीर में कुछ विशेष स्थानों पर किसी चीज से दवाकर चिकित्सा करने की पध्दति को ऐक्यूप्रेशर कहते है । यह आलस को दूर करने का एक अच्छा तथा आसान तरीका है । कुछ विशेष उपकरण की सहायता से अपने शरीर में जगह-जगह पर दवाब रखना, इसके अंतर्गत आता है, यह उन लोगो के लिए बहुत फायदेमंद है जो लोग ऑफिस जाते है और उनके लिए व्यायाम तथा योग करने का समय नही है । वो लोग ऐक्यूप्रेशर का सहारा ले सकते है आप ऑफिस में बैठकर भी अपने हाथों पर पेन या किसी अन्य उपकरण की सहायता से कुछ निश्चित बिन्दुओं पर दवाब डाल सकते है। बाजार में ऐक्यूप्रेशर बाली चप्पल भी आती है जिसमें छोटे-छोटे दाने होते है जो आपके पैरो में ऊर्जा के संचार को बढ़ा देते है, आप इन चप्पलों को पहन कर कुछ समय के लिए टहल सकतें है ।

घास पर चलना

सुबह-सुबह आप कुछ समय के लिए अपने नजदीकी पार्क में जा करके बिना चप्पलों के कुछ समय तक टहले, यह आपके आलस को दूर करने में मददगार होता है तथा घास पर चलने से आपकी मस्तिष्क की याद करने की क्षमता भी बडती है । और आप वही पार्क में योग भी कर सकते है यह काफी हद तक आपके शरीर को आलस से दूर रखता है ।

स्ट्रेचिंग करें

कई बार ऐसा होता है कि जागते ही हम किसी न किसी काम में लग जाते है या नहाने चले जाते है, आज की पीड़ी तो जागने के साथ ही मोबाइल फोन का उपयोग करने लगती है जिससे उनके स्वास्थ तथा दिन भर आलस शरीर रहित शरीर हो जाता है । सुबह जागते ही कुछ समय के लिए प्रकृति  के बातावरण में आना चाहिए और हल्की सी स्टेचिंग या सूर्य नमस्कार का भी सहारा ले सकते है ।

पूरी नींद लें

आलस आने का यह एक प्रमुख कारण है कि आप नींद पूरी नही लेते है । हम सभी को 7-8 घण्टे सोना चाहिए । नींद पूरी नही होने के कारण आलस बहुत आता है, व्यक्ति ऑफिस, क्लास आदि जगह पर आलस आने के कारण नींद आने लगती है और हम पूर्णतः सक्रिय नही रहते है। इसलिए नींद को पूरी ले और सक्रिय रहे।

सकारात्मक सोच

सकारात्मक सोच रखना मनुष्य के लिए बहुत ही जरूरी है । जब तक आप सकारात्मक सोच रखगें तब तक आप आलस से दूर रहेगें।

आलस को दूर करने के कुछ और उपाय

  • कार्य को छोटे-छोटे टुकड़ों मे करे, किसी भी बड़े कार्य को टुकडो में कीजिए, क्योकि टूकडों में करने से आलस नही आता है, और आप एक समय में एक ही काम को करें क्योकि कुछ लोग एक दिन में बहुत सारा काम करना चाहते है और ज्यादा काम को देखकर शरीर में आलस आने लगता है।
  • कुछ ऐसे लक्ष्य को तय करें जो आप आसानी से पा सकते है। अपको जो काम करना है उसकी एक सूची बनाइयें और उस काम को छोटे-छोटे टुकड़ो में बाटे। उन सभी काम को कीजिए , वह आपको एक सकारात्मक ऊर्जा प्रदान करेंगे।
  • आलस आने का एक प्रमुख कारण है कि हमारा टाइम टेबल सही नही है। जब हमारा टाइम बर्बाद होता है तो हमारा दिमाग बहुत अधिक चिंतन करने लगता है, जिस कारण से हमारा किसी भी काम को करने में मन नही लगता है और आलस आने लगता है।
  • जब आप सुबह जागते है तो आप ठण्ड़े पानी के छिंटो को मुंह पर मार ले । ऐसा करने से आपका आलस तुरंन्त चला जाएगा ।
  • गर्मी के मौसम के आलस को दूर करने के लिए योग के साथ अपने दिन की शुरूआत करें।
  • आप सुबह जल्दी बाहर घुमनें जाए और प्रकृति के बातावरण में आऐ । आलस दूर करने के लिए कम काफी पीये और सुबह हल्का सा नाश्ता भी कर सकते है । सुबह-सुबह साइकिल भी चला सकते है यह  आपके आलस को दूर करने के साथ-साथ आपके शरीर को भी स्वस्थ और फिट रखती है।
  • जब आप अपने काम में थकान महसूस करते है तो आपको आलस आने लगता है, ऐसी स्थिति में आप उनके बारें में सोचे जो लोग सफलता प्राप्त कर चुके है । यह सोच आपको एक नई ऊर्जा प्रदान करेगी।
  • यदि आपको कार्य करते समय अधिक आलस आता है तो आप अपने पसंदीदा गाने भी सुन सकते है तथा आप हमेंशा मोटिवेशनल या सफलता की कहानियों को पढ़ा करें, यह आपको प्रेरित करती है कुछ करने के लिए, इस कारण आलस नही आता है।

DR VIKRANT SINGH GOUR
डॉ विक्रांत सिंह गौरफ़ोन न +९१९९०७३८४२१६( B.A.M.S. ) REG. NO. – DBCP/A/8062 EX – Senior Consultant At Jiva Ayurveda Delhi EX – RMO In Faridabad Medical Center Parkh Hospital Faridabad 5 Year Experience specialist In Piles , Hair Fall , Skin Problems , Likoria

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *