पैरासिटामोल दवाई के लाभ, नुकसान व सेवन का तरीका – Paracetamol Tablet Uses In Hindi

paracetamol

पैरासिटामोल दवाई बुखार, दर्द व सुजन जैसी परेशानियों में सबसे अधिक ली जाने वाली दवा है, इसी वजह से इस दवा को नॉन स्टेरॉडल एंटी-इनफ्लेममेटरी ड्रग्स के समूह में रखा गया है | विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने भी इस दवा को स्वास्थ के लिए जरुरी बताया है, क्योंकि इस दवा को आप परेशानी होने पर बिना डॉक्टर की सलाह लिए अपने नजदीकी मेडिकल स्टोर से प्राप्त करके सेवन में ला सकते है, वैसे भी सामान्य बुखार व दर्द की समस्या होने पर डॉक्टर्स के द्वारा यह दवा लेने की सलाह दी जाती है |

पैरासिटामोल दवाई के द्वारा होने वाले लाभ :

बुखार में लाभदायक है यह दवा –

शरीर में संक्रमण आने के कारण पीड़ित व्यक्ति का रक्त व लसीका प्रणाली रोगी के शरीर में सफेद रक्त कोशिकाओं का निर्माण करती है जिसके कारण रोगी के शरीर का तापमान बढ़ जाता है व मांसपेशियों पर दबाव पड़ने के कारण रोगी के शरीर में कंपकपी  होने लगती है | बुखार आम तौर पर 105.8 से 107.6 डिग्री फारेनहाइट से ऊपर नही जाता है यदि आप भी बुखार से पीड़ित है, तो पैरासिटामोल के द्वारा बुखार की समस्या को आसानी से ख़त्म कर सकते है | यह दवा आपके शरीर में मौजूद संक्रमण को पसीने के माध्यम से बहार निकालकर अपने शरीर को स्वस्थ बनाती है |

सिरदर्द को ख़त्म करती है यह दवा –

सिरदर्द अक्सर तनाव, अवसाद या चिंता के कारण ही आपको परेशान करते है लेकिन कई बार बहुत ज्यादा काम करने, बुखार, पर्याप्त नींद न लेने व शराब का सेवन करने से भी आपको सिरदर्द जैसी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, यदि आप भी नियमित के सरदर्द से परेशान है तो आप इस दवा के द्वारा सिरदर्द जैसी समस्या से निजात पा सकते है |

मांसपेशियों के दर्द को ख़त्म करती है

मांसपेशियों में दर्द शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकता है, यह दर्द मुख्य रूप से संक्रमण, मांसपेशियों में खिंचाव व मांसपेशियों से जुड़े किसी रोग के कारण भी उत्पन्न हो सकता है | यदि आप भी इस कुछ इसी प्रकार के दर्द से परेशान है तो पैरासिटामोल दवा के द्वारा दर्द से निजात पा सकते है | ( और पढ़े – मांसपेशियों के दर्द के बारे में )

इस दवा के द्वारा अन्य रोग में होने वाले लाभ

इस दवा के द्वारा होने वाले नुकसान –

दोस्तों यदि आप दिन में अधिक बार इस दवा का सेवन करते है तो आपको इस दवा के द्वारा उल्टी, जी मिचलाना व चक्कर जैसी समस्या का सामान करना पड़ सकता है | इसलिए इस दवा का सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर की सलाह जरुर ले ले |

इस दवाई की खुराक व सेवन करने का तरीका –

यदि आप इस दवा का सेवन पांच साल से कम उम्र के बच्चे को करवा रहे है तो एक बार डॉक्टर की सलाह जरुर ले ले पांच साल से दस साल के बच्चे को इस दवा का सेवन दवा की आधी मात्रा यानि टेबलेट को दो हिस्सों में तोड़कर आधी टेबलेट का सेवन करे | दस साल से अधिक उम्र के व्यक्ति को इस दवा का सेवन दिन में एक बार करना चाहिए |

नोट :- दोस्तों यदि आप नियमित बुखार व दर्द की समस्या से परेशान है तो आपको इस दवा के साथ साथ डॉक्टर से सलाह लेकर अपनी उपचार प्रक्रिया को भी अपनाना चाहिए | यदि आप किसी अन्य दवा व सिरप के साथ इस दवा का सेवन करना चाहते है तो आपको एक बार डॉक्टर से जरुर सलाह ले लेनी चाहिए |

दोस्तों यदि आप हमारे इस लेख से जुडी किसी सवाल को हमारे द्वारा पूछना चाहते है तो हमें हमारे कमेन्ट बॉक्स में जरुर बताये |