लिकोरिया का इलाज और इस रोग के लक्षण,कारण, बचाव – likoria treatment in hindi

1
148
सफ़ेद पानी आना

लिकोरिया का इलाज : लिकोरिया महिलाओं में होनें वाली एक आम समस्या है। इस रोग  को आम भाषा मे ‘सफ़ेद पानी आना’ भी कहा जाता है। महिलाओं की योनि से एक सफ़ेद या पीले रंग के पतले तरल के स्त्राव को भी कहा जाता है। आम बोलचाल की भाषा मे इसे ‘सफ़ेद पानी आना कहतें हैं। वहीं डॉक्टर इसके लिए ‘लिकोरिया’ शब्द का प्रयोग करतें हैं।

महिलाओ के लिए यौन रोग की समस्या का सामना करना काफ़ी समय से एक बड़ी चुनौती रही है। वो अपने इन समस्याओं के बारें में किसी से खुल कर कह नहीं पाती है, जिस वजह से उन्हें कई बार लिकोरिया का इलाज नहीं मिल पाता है। सही सलाह तथा इलाज़ के अभाव में कई बार ऐसा देखा गया है कि महिलाओं के गुप्त रोगों की सामान्य सी समस्याएं भी आगे चलकर बड़ा रूप ले लेती हैं। ऐसे में महिलाओं के लिए हमारी यही सलाह है कि वो लिकोरिया का इलाज likoria treatment in hindi के लिए उसके बारें में डॉक्टर को जरूर बताएं, इसे छिपाए नहीं।

इसी क्रम में आज हम आपको महिलाओं में अक्सर पाये जानें वाली यौन समस्या ‘लिकोरिया’ के  बारें में बतानें वाले हैं। आइये सबसे पहले जान लेतें है कि यह बीमारी क्या है?

लिकोरिया क्या है

योनि से ये सफ़ेद या पीले रंग के तरल का स्त्राव एक प्राकृतिक क्रिया है जो कि सभी महिलाओं में पाया जाता है। महिलाओं की योनि से इस सफ़ेद तरल का स्त्राव उनके मासिक धर्म की शुरुआत के पहले तथा उसके बाद होती है। असल महिलाओं की योनि इसके अंदर के रासायनिक तत्वों का संतुलन बनाये रखनें के लिए अपशिष्ट तरल को शरीर से बाहर करती रहती है। अतः महिलाओं को इससे घबरानें की कोई आवश्यकता नहीं हैं। साधारणतः लिकोरिया का यही कारण होता है, जो कि बिल्कुल सामान्य है। महिलाओं की योनि से इस सफ़ेद तरल के स्त्राव का मुख्य कारण एस्ट्रोजेन का बढ़ जाना भी होता है। एस्ट्रोजेन महिलाओं में पाया जाने वाला एक ऐसा हार्मोन्स होता हौ जो कि उनके द्वारा बच्चें पैदा करनें में सहायक होता है। जब महिलायों के शरीर मे इस  हार्मोन्स की मात्रा बढ़ जाती है, तो उनके योनि से सफ़ेद तथा पीले तरल के रूप में इसका स्त्राव होने लगता है।

इसके अतिरिक्त कई बार इस रोग के कई अन्य कारण भी हो सकते हैं। यदि किसी महिला की योनि से इस सफ़ेद तरल का स्त्राव सामान्य से काफी ज्यादा हो रहा है, तो हो सकता है कि इसके पीछे कोई अन्य कारण हो, जिसके लिए उसे उचित सलाह तथा इलाज़ की आवश्यकता है।

योनि से सफ़ेद पानी आने के कारण-

अक्सर यह  समस्या शादी-शुदा महिलाओं को ज्यादा होती है। लेकिन कई बार अविवाहित युवतियों में भी ये समस्या देखनें को मिल जाती है। इस रोग के मुख्य कारण निम्न हैं-

● शरीर मे खून की कमी होना।

● आपके द्वारा अत्यधिक शारीरिक परिश्रम करना।

● ग़लत तरीक़े से सहवास करना।

● अत्यधिक सहवास करना।

● योनि में गंदगी होना।

● अत्यधिक मसालेदार भोजन का सेवन।

● किसी संक्रमित व्यक्ति से सहवास करना।

● योनि में बैक्टीरिया की अधिकता।

● गर्भपात कराने से।

● शरीर मे कमज़ोरी होने से।

● शरीर मे पोषक तत्वों की कमीं होनें से।

● मूत्र मार्ग में संक्रमण होने से।

● अनियमित खान-पान से।

मधुमेह होना।

● अत्यधिक मैथुन करना।

● महिलाओं का अत्यधिक कामुक होना।

यहाँ दिए गए सभी कारण किसी महिला की योनि से सफ़ेद पानी आनें के कारण हो सकतें हैं।

लिकोरिया के लक्षण- हम सभी ने अब तक लिकोरिया के बारे में तथा उसके होनें के मुख्य कारणों के बारे में जान लिया है। अब आइये आपको बतातें है लिकोरिया होने के लक्षण के बारे में।

साधरणतः जब किसी महिला को लिकोरिया की समस्या होती है तो उसकी योनि से सफ़ेद या पीले रंग के बदबूदार तरल का स्त्राव होने लगता है। इसके अतिरिक्त भी लिकोरिया के कई अन्य लक्षण भी है, जिन्हें हम आपको यहाँ बतानें वाले हैं।

महिलाओं में सफ़ेद पानी आने के लक्षण-

● शरीर की हड्डियों में दर्द उठना।

● पेट साफ ना होना।

● बार- बार शौच जाना।

● योनि में खुजली की समस्या होना।

● पेट मे दर्द होना।

● अत्यधिक गुस्सा आना।

● कुछ खाने की इच्छा ना होना।

● चेहरें पर पीलापन आना।

● आँखों के नीचें काले धब्बें बनना।

दोस्तों लिकोरिया खुद कोई ख़ास रोग नहीं है, लेकिन इसके होने से शरीर मे कई अन्य तरह के रोगों का प्रवेश आसान हो जाता हैं। लिकोरिया महिलाओं के शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को काफ़ी कम कर देता है जिस वज़ह से उनमें अन्य रोगों के होनें की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए महिलाओं के लिए लिकोरिया से खुद को बचाना काफ़ी आवश्यक हो जाता हैं।

लिकोरिया का इलाज : likoria treatment in hindi

इसी क्रम मे आइये जानतें है कि महिलाएं किस तरह से खुद को लिकोरिया की समस्या से सुरक्षित रख सकतीं है।

● शरीर की अच्छी तरह से सफ़ाई करें।

● नहाते समय योनि मार्ग की भी अच्छे से सफ़ाई करें।

● अत्यधिक मासलेदार भोजन ना करें।

● नियमित दिनचर्या अपनाएं।

● भोजन में पोषक तत्वों को अधिक शामिल करें।

● हरी सब्ज़ियों का सेवन अधिक करें।

● संयमित सहवास करे।

● अत्यधिक शारीरिक परिश्रम ना करें।

● अधिक मैथुन करनें से बचें।

●  गर्भपात के लिए अधिक दवाओं का सेवन ना करें।

● यौन रोग से संक्रमित व्यक्ति के साथ सहवास ना करें।

कई बार सावधानी रखनें के बावजूद महिलाएं इस रोग  से  पीड़ित हो जाती है। इस स्थिति में कई बार महिलाएं इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए दवाओं का सेवन करने लग जाती हैं, जो कि बिल्कुल ग़लत हैं। इन दवाओं के सेवन से आपकी ये समस्या तो खत्म हो जाती है लेकिन इसके कई विपरीत प्रभाव भी आपके शरीर पर पड़ते है। यह बीमारी  कोई बड़ी समस्या नहीं है, जिसके लिए आप तुरंत ही दवाओं का सेवन करने लग जाये। हमारें पास लिकोरिया की समस्या को खत्म करने के लिए बहुत से घरेलू उपचार तथा आयुर्वेदिक औषधि मौजूद है, जिसे आजमाकर आप आसानी से इस समस्या से छुटकारा पा सकतें हैं।

 सफ़ेद पानी की समस्या को खत्म करने वाले कुछ आसान लिकोरिया का इलाज –

◆ इस बीमारी  के समय ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करें, ताकि यूरिन के साथ ही ये सफ़ेद पानी भी आपके शरीर से खत्म हो जाये।

● इस रोग  के समय आपके अंतःवस्त्र साफ़ होनें चाहिए तथा आप इसे दिन में 3-4 बार जरूर बदलें।

● एक गिलास साफ पानी में, लगभग एक चौथाई सेब का सिरका मिलाकर इससे अपने योनि मार्ग को धोएं। इससे आपकी ये समस्या जल्द ही खत्म होगी।

● नीम की छाल को पीसकर इसमें शहद मिलाकर इसका पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट को योनि मार्ग पर लगाकर रखें। इससे सफ़ेद पानी का आना शीघ्र बन्द होगा।

● अगर आपके स्त्राव से काफ़ी बदबू आती है तो आप दिन में 3-4 बार फ़िटकरी से योनि मार्ग की सफ़ाई करें। इससे स्त्राव की बदबू खत्म होगी, साथ ही योनि में होनें वाली खुजली से भी राहत मिलेगी।

● सफ़ेद पानी आने की समस्या में, केले के साथ फ़िटकरी मिलाकर खाये। ऐसा करने से जल्द ही इस समस्या से छुटकारा मिलता है।

● दूध के साथ पीपल के पत्ते का रस मिलाकर इसका सेवन करे, इससे निश्चित रूप से आपकी ये समस्या खत्म होगी।

● शंखपुष्पी को पीसकर उसका पानी के साथ पेस्ट बना लें। अब इस पेस्ट में थोड़ा छाछ तथा मिश्री मिला लीजिए। इस पेस्ट का नियमित सेवन करें। ये उपाय निश्चित रूप से आपकी लिकोरिया की समस्या को खत्म करनें में मदद करेगा।

● अगर आपको रोज ही इस समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो आप नियमित रूप से नारियल के पानी तथा बकरी के दूध का सेवन करें। इसके द्वारा आप जल्द ही इस समस्या से छुटकारा पाने में सफ़ल होंगे।

● अगर आपके योनि से निकलने वाला स्त्राव काफ़ी गाढ़ा हो तो आप लहसुन के साथ हल्दी को मिलाकर इसका सेवन करें। इससे आपकी ये समस्या कम होगी।

● भिंडी का सेवन भी आपको लिकोरिया की समस्या से छुटकारा दिला सकता हैं। आप अपने भोजन में नियमित रूप से भिंडी को शामिल करें।

● मेथी के बीज को रात भर पानी मे भिगोकर रखें। अब सुबह के समय इसे पानी मे उबालकर इससे अपने योनि की अच्छी तरह से सफ़ाई करें। ऐसा करनें से आपके योनि से होनें वाले सफ़ेद स्त्राव में कमी आयेगी।

इन सभी उपायों का प्रयोग करके आप निश्चित रूप से इस रोग  की समस्या से छुटकारा पानें में सफ़ल होंगे। यहाँ लिकोरिया के इलाज़ के लिए दी गयी सभी विधियाँ पूरी तरह से प्राकृतिक और आयुर्वेदिक है। अतः इन्हें आजमाने से आपके शरीर पर इसका कोई ग़लत प्रभाव नहीं पड़ेगा। महिलाएं इन नुस्खों का इस्तेमाल आसानी से कर सकती हैं।

दोस्तों आज हमनें आपको महिलाओं में लिकोरिया या सफ़ेद पानी आने की समस्या से जुड़ी सारी जानकारी दी। आशा करतें है कि आपको यहाँ दी गयी सभी जानकारियाँ काफ़ी पसंद आई होंगी। आपको ये जानकरीं कैसी लगीं हमे कॉमेंट कर के जरूर बताएं।

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.