लड़का पैदा करने का उपाय जानिए

लड़का पैदा करने के सफल उपाय

लड़का पैदा करने का उपाय जानिए : आज का हमारे शिक्षित भारतीय समाज चाहे कितना भी हर क्षेत्र में प्रगति पर चल रहा हो लेकिन यंहा के कई लोगों की सोच आज भी पहले जैसे ही है । आज के लोग उच्च शिक्षा ग्रहण कर रहें है, और इस प्रकार की शिक्षा प्राप्त करने के बावजूद वह लड़के और लड़की में अंतर करते है । कई लोग ऐसे है, जो पुत्री से ज्यादा अपने पुत्र को प्यार करते है । यह लोग पता नहीं क्यों समक्ष नहीं पा रहे है, कि आज के समय में दोनों में कोई अंतर नहीं है । जो काम एक लड़के के द्वारा किया जा सकता आज वह सारे काम लड़कियों के द्वारा भी किया जा रहा है ।

शादी के बाद जब महिला के गर्भधारण करने पर परिवार व अन्य रिशतेदार अलग ही प्रकार की उत्सुकता होती है । इनमें से अधिकतर लोग महिला को पुत्र जन्म देने के लिए दबाब डालते है । चाहे लड़का हो या लड़की दोनो ही भगवान के द्वारा दिया जाने वाला एक उपहार है । महिला के द्वारा पुत्र या पुत्री को जन्म देना केवल महिला पर निर्भर नहीं करता है, इसमें एक पुरूष का सम्पुर्ण सहयोग रहता है । हम आपकों लड़का पैदा करने के बारे में जानकारी देंगे लेकिन हमारे द्वारा किसी प्रकार के लिंग का विरोध नहीं किया जा रहा है ।

लड़का या लड़की कैसे बनता है

हमारे शरीर में पाए जाने वाले क्रोमोसोम पर ही यह निर्भर करता है। विज्ञान के मुताबिक एक्स और वाई क्रोमोसोम एक प्रकार का डीएनए अणु होता है, महिला व पुरूष में ये अलग-अलग पाए जाते है । पुरूष में एक्स और वाई दोनों व महिला में सिर्फ एक्स क्रोमोसोम ही पाया जाता है । जब पुरूष और महिला एक-दुसरे के साथ सभोंग क्रिया करते है, तो उस द्वोरान पुरूष का वीर्य जिसमें क्रोमोसोम उपस्थित रहता है वह महिला की वी सेक्शन के माध्यम से अंदर प्रवेश कर जाता है ।

यदि पुरूष का एक्स क्रोमोसोम महिला के एक्स क्रोमोसोम से जाकर मिलता है तो लड़की का जन्म होता है । यदि पुरूष का वाइ क्रोमोसोम महिला के एक्स क्रोमोसोम से मिलता है, तो लड़के का जन्म होता है । अतः इस मत से आपको यह ज्ञात हो गया होगा कि लड़का या लड़की के पैदा होने में महिला का नहीं बल्कि पुरूष का 99 प्रतिशत हिस्सा होता है । अब हम अपको बताते है, कि किन तरीकों के माध्यम से आप लड़के को जन्म दे सकते है ।

लड़का पैदा करने का उपाय करने के लिए सम्भोंग का समय

लड़का पैदा करने में सबसे ज्यादा ध्यान रखने वाली बात यह है कि आपके सभोंग का समय क्या है। महिलाओं को मासिक धर्म या पीरिडिय्स की क्रिया होती है । यह प्रक्रिया प्रत्येक महीने में कुछ दिन तक होती है । एक बार होने के बाद अगले समय तक महिला के शरीर में ओवुलेशन की प्रक्रिया होती है । इस प्रक्रिया के द्वोरान ही महिला में अंडे को निर्माण होता है। इसी अंडे की सहायता से वह गर्भवती होती है। मासिक धर्म के होने के बाद यदि पुरूष के द्वारा कुछ दिनो के अंतराल में सेक्स किया जाए तो लड़का पैदा होने की संभावना बहुत बढ़ जाती है ।

इसके अतरिक्त यदि मासिक धर्म के खत्म होने के बाद 24 से 12 घटें के अंदर में संभोग करने से लड़का पैदा होने की संभावना होती है । ऐसा इसलिए क्योंकि ओवुलेशन की क्रिया के द्वोरान जब अंडे का निर्माण होता है, तो इसे बनने में लगभग 1 माह का समय लग जाता है । लड़के के लिए उत्तरदायी वाई क्रोमोसोम का जीवन काल बहुत कम होता है । इस कारण मासिक धर्म के खत्म होने के बाद जल्द से जल्द सम्भोग कर लेना चाहिए ।

महिला का चरमसुख

हमारे समाज में यह माना जाता है,कि यदि सभोंग करते समय पुरूष को चरमसुख प्राप्त होने से पहले महिला को यह चरमसुख की प्राप्ति हो जाती है, तो उसके द्वारा लड़के पैदा करने की संभावना अधिक हो जाती है।

यौन संबंधो की अवस्था

यौन संबंधो की अवस्था लड़का या लड़की के पैदा करने मे एक अहम भूमिका निभाता है। कई लोग गर्भ में लड़का पाने के लिए कई प्रकार के उपायों को भी खोजते है। लड़का पैदा करने की निम्न यौन संबंधो की अवस्था –

डोगी अवस्था एक बहुत असरकारक अवस्था मानी जाती है । इस अवस्था में महिला डॉगी की तरह हो जाती है, और पुरूष के द्वारा उसके साथ सम्बन्ध स्थापित किया जाता है । इससे पुरूष के वाई क्रोमोसोम सीधे अंदर तक चले जाते है ।

जब पुरूष महिला के उपर होकर सेक्स करता है, तो इस कारण उसका वीर्य महिला की वी सेक्शन में बहुत अंदर तक चला जाता है। इससे वाई क्रोमोसोम एक्स की तुलना में जल्दी प्रवेश कर क्रिया कर लेता है।

कॉफ़ी का सेवन

कॉफ़ी में पाये जाने वाले कैफीन को लड़का पैदा करने के लिए असरकारक माना जाता है। कहा जाता है, कि इसके सेवन से पुरूष के वाई क्रोमोसोम अधिक समय तक सक्रिय रहता है । इसलिए आपको संभोग के आधा घंटे पहले कॉफ़ी का सेवन कर लेना चाहिए इससे आपको लड़का पैदा हो जाएगा ।

खांसी की दवा

अधिकतर खांसी वाली दवाओं में गुआइफेनेसिन नामक पदार्थ मौजूद होता है । इससे गर्भाशय ग्रीवा की झिल्ली व उसमें पाए जाने वाला द्रव्य वाई क्रोमोसोम के साथ क्रिया के लिए तैयार हो जाते है । इसलिए हमें अपने सेवन में खांसी की दवा का प्रयोग करना चाहिए, यह एक बेहतर उपाय है।

टाइट कपड़ो का त्याग

ऐसा कहा जाता है,कि लड़का पैदा के लिए आपको अपने अंदर के कपड़ो को लूज या ढीला पहनना चाहिए । क्योंकि टाइट कपड़े पहनने के कारण यह आपके लिंग पर दबाब डालते है, और इससे आपके वाई क्रोमोसोम पर बुरा असर पड़ता है । इसलिए आपको टाइट कपड़ो को पहनने से दूर रहना चाहिए ।

पौटेशियम का सेवन

पौटेशियम में कई प्रकार के ऐसे मिनरल्स पाए जाते है, जिनसे आपको लड़का पैदा होने की संभावना अधिक हो जाती है । इसलिए आपको अपने प्रतिदिन के आहार में पौटेशियम का सेवन शुरू करना चाहिए । आपको एक दिन में लगभग 300 मिलिग्राम पौटेशियम का सेवन करना चाहिए। सेब, केला, स्ट्राबेरी, मछली, अंडा आदि पौटेशियम के अच्छे सोर्स माने जाते है।

दुध में नींबू की जड़ उबालकर उसमें घी मिलाकर अच्छे से काड़े का निर्माण कर लें । इस प्रकार निर्मित काड़े को मासिक धर्म के द्वोरान महिला को इसका सेवन सुबह शाम करने से लड़के के पैदा होने की संभावना बढ़ जाती है ।

हमारे द्वारा दी लड़का पैदा करने का उपाय की जानकारी से आप संतुष्ट होगें । यदि हमारी सलाह मानी जाए तो हमें यह उपाय न अपनाकर इस प्रथा को समाप्त करने की कोशिश करनी चाहिए ।