खसरा का उपचार व बचाव की जानकारी

0
141

खसरा यानि मीजल्स साँस से जुडी एक वायरल बीमारी है खसरे की बीमारी ज्यादातर बच्चो (Baby Measles) को होती है खसरा रोग हो जाने के कारण (Causes Of Measles) रोगी को शरीर में रोगों से लड़ने की प्रतिरोधकता कम हो जाती है इस रोग के होने के पीछे सबसे बड़ा कारण (Causes Of Measles) है इस रोग के लक्षणों (Symptoms Of Measles) के बारे में जानकारी न होना | खसरा पैरामाइक्सोवायरस परिवार के एक वायरस के कारण होने वाली घातक बीमारी है |

कुछ देशो में इसका एक वैकल्पिल नाम रूबेला (Rubella) है | जिसे अक्सर लोग रूबेला (Rubella) जर्मन खसरा  कहते है, खसरे (Measles) के सबसे पहले प्रमाण 165-180 ई.पू. प्लेग ऑफ गालेन के रूप में मिला खसरे की बीमारी (Measles Disease) को वैज्ञानिक तरीके से पहचानने का श्रेय फारसी चिकित्सक मोहम्मद इब्न जकारिया अर रजी को जाता है | उन्होंने इस पर एक किताब द बुक ऑफ स्माल पॉक्स और मीजल्स भी लिखी थी खसरे का टीका (Measles Vaccine) सबसे पहले मर्क में मोरिस हिलमैंन ने विकसित किया था 1963 में इस टीके को लाइसेंस प्राप्त हुआ और खसरे के टीकाकरण (Measles Vaccine) अभियान की शुरुआत सर्वप्रथम दक्षिण अफ्रीका से हुई थी |

तो दोस्तों आइये जानते है इस रोग के कुछ सामान्य से लक्षण ( Symptoms Of Measles) जिससे आप इस रोग से बचाव कर सके-

खसरा के सामान्य से लक्षण-( Symptoms Of Measles)

खसरा रोग (Measles Disease) से पीड़ित रोगी को छींके आने लगती है | आँखे लाल हो जाती है  खसरा रोग (Measles Disease) की शुरुआती अवस्था में रोगी व्यक्ति को तेज खांसी और बुखार रहता है और बुखार के साथ दो दिन बाद तीसरे दिन से उसके चेहरे व छाती पर लाल-लाल दाने दिखाई देने लगते है जो 4-5 दिनों तक रहते है जैसे- जैसे रोगी के दाने ठीक होने लगते है वैसे – वैसे उसकी खांसी तथा बुखार भी कम हो जाता है इस रोग से पीड़ित व्यक्ति को कभी – कभी निमोनिया भी हो जाता है खसरा (Measles) एक संक्रामक रोग है इसलिये रोगी को अन्य लोगो के सम्पर्क से दूर रखना चाहिये वरना उन्हें भी खसरा (Measles) होने की सम्भावना रहती है |

दोस्तों इन लक्षणों ( Symptoms Of Measles) को पहचान कर आप अपना इस संक्रामक बीमारी से बचाव ( Treatment Of Measles) कर सकते है तो दोस्तों इन लक्षणों के साथ हमे यह भी जानकारी होना आवश्यक है की खसरा होता किन –किन कारणों से है तो दोस्तों आइये जानते है खसरा होने के कारण- (Causes Of Measles)

खसरा होने के कारण- (Causes Of Measles)

  • खसरा रोग बच्चो (Measles In Children) के गलत खान पान तथा अस्वास्थ्य वातावरण में रहने के कारण होता है |
  • खसरा रोग (Measles Disease) से पीड़ित रोगी के द्वारा इस्तेमाल की गई चीजो का इस्तेमाल करने के कारण भी यह रोग हो जाता है |
  • लापरवाही बरतने के कारण खसरा रोग (Measles Disease) के संक्रमण एक रोगी के शरीर से किसी स्वास्थ्य व्यक्ति को भी खसरा (Measles) हो जाता है |
  • खसरा रोग (Measles) से व्यक्ति को तलिभुनी, मिर्च मसालेदार, भोजन नही खाना चाहिये |

दोस्तों कारणों का ध्यान दे लापरवाही बिल्कुल न बरते तो हम जानते है की खसरा का घरेलु उपचार (Treatment Of Measles) कैसे किया जाये |

इसका घरेलु उपचार- (Treatment Of Measles)

  • खसरे (Measles) में संतरे का जूस पीना बेहद फायदेमंद होता है इससे रोगी की पाचन शक्ति बढती है आप चाहे तो संतरे का जूस पीने की जगह संतरा खा भी सकते है |
  • खसरे  में रोगी के शरीर में खुजली की समस्या आम बात है इसके लिये नीम के पत्तो को गर्म पानी में डालकर छोड़ दे उसके बाद रोगी को उस पानी से स्नान कराये इससे खुजली की समस्या अपने आप दूर हो जायेगी |
  • खसरे (Measles) से ग्रस्त रोगी के लिये नीबू बेहद फायदेमंद होता है जब भी रोगी को प्यास का एहसास हो उसे नीबू पानी ही पीने को दे यह पानी पीने की इच्छा को और बढाता है |
  • खसरे (Measles) से ग्रस्त रोगी को बुखार की समस्या होती है जिसके लिये उसके पेट पर दिन में 2 बार मड पैक लगाये, इससे रोगी के शरीर में बुखार की कमी होने लगेगी |
  • ब्राह्मी के स्वरस में मधु मिलाकर पीने से लाभ होता है |
  • खसरे (Measles) की छोटी-छोटी फुंसियो पर खुजली और जलन हो तो चंदन को घिसकर लेप लगाने से आराम मिलता है |

और पढे – (About The Safed Daag, Safed Daag Ka Ilaj, Safed Daag Treatment, Safed Daag Ka Gharelu Ilaj, Safed Daag Ki Dua |)

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.