स्तन का आकार बढाने वाले फायदेमंद तेल – Oil for Increased Breast Size In Hindi

0
115
ब्रेस्ट का आकार बढाने वाले  फायदेमंद तेल - Increased Breast Size Beneficial Oil In Hindi

अगर किसी महिला के ब्रेस्ट का आकार छोटा है तो उसे अपने आप में आत्मविश्वास की कमी महसूस होती है | क्योंकि महिलाओं के शरीर की बनाबट उनकी पर्सनाल्टी और लुक्स को बेहतर बनाने में बहुत महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती है | जिन महिलाओं के शरीर की बनाबट एक दम सही होती है उनमे एक अलग ही किस्म का आत्मविश्वास होता है | जिससे उन्हें किसी भी प्रकार से पर्सनाल्टी से जुडी चिंता नहीं रहती है | अगर शरीर की बनाबट के आधार पर महिलाओं की पर्सनाल्टी की बात करे तो उन्हें बेहतर दिखाने में महिलाओं के स्तन को सबसे अहम् माना जाता है | स्तनों का सही से विकास न हो पाने की वजह से स्तनों का आकार छोटा रह जाता है |

अगर किसी महिला के ब्रेस्ट का आकर पहले से ठीक है तो ये बहुत ही अच्छा होता है लेकिन अगर ब्रेस्ट का आकर छोटा है और आप इन्हें बड़ा आकर देना चाहती है | जिसके लिए स्त्रियाँ कई तरह की क्रीम, तेल, योगा और कई तरह की दवाओं व एक्सरसाइज का प्रयोग करती हैं मगर उन्हें न के बराबर लाभ मिलता है | इसीलिये आज हम आपको कुछ तेल का घरेलू प्रयोग बतायेंगे जिनसे आप आसानी से बिना सर्जरी करबाए अपने ब्रेस्ट का आकार बड़ा सकती है | तो आइये जानते है कुछ तेल जिनका नियमित प्रयोग करने से आप अपने ब्रेस्ट का आकार आसानी से बड़ा सकती है –

ब्रेस्ट बढाने को करें इन तेलों का प्रयोग

बादाम का तेल –

बादाम का तेल स्तनों को बढाने में बहुत ही फायदेमंद होता है यह स्तनों की कोशिकाओ को मजबूत बनाता है जिससे इस तेल को रोजाना प्रयोग करने से लगभग 8 से 10 हफ्तों में स्तनों का आकार 3 से 4 इंच तक बढ़ जाता है |

सामग्री – पांच बड़ी चमच्च बादाम का तेल ( बादाम का तेल बाजार में आसानी से मिल जाता है ) |

बादाम का तेल प्रयोग करने की विधि – सबसे पहले पांच बड़ी चमच्च बादाम का तेल लेकर इसे गुनगुना कर ले अब अपने उँगलियों से बादाम के तेल को दोनों ब्रेस्ट्स पर अच्छी तरह से लगा लें | ब्रेस्ट पर तेल लगा लेने के बाद ब्रेस्ट को हल्के हल्के हाथों से तब तक मसाज करें जब तक ब्रेस्ट पूरे तेल को सोख न लें | इसके बाद तेल को लगा कर छोड़ दे और प्रतिदिन लगभग 8 हफ्तों तक इसका प्रयोग नियम से करें |

जैतून का तेल –

जैतून के तेल में बहुत सारे पोषक तत्व पाए जाते है जिससे ये रक्त के परिसंचरण को सुधारने का भी काम करता है | जैतून के तेल में फाइट्रोएस्ट्रोजेंस पाए जाते है जिससे ये शरीर की एस्ट्रोजेनिक गतिविधियों को उत्तेजित करता है और ब्रेस्ट के आकार को बढाने में फायदेमंद होता है |

सामग्री – दो चमच्च जैतून का तेल ( जैतून का तेल बाजार में आसानी से मिल जाता है ) |

जैतून के तेल को प्रयोग करने की विधि – सबसे पहले दो चमच्च जैतून के तेल को लेकर उसे अपनी हथेलियों पर अच्छे से रगड़ लें | फिर इन हथेलियों से अपने स्तनों को दस मिनट तक अच्छे से मसाज करें और फिर इस तेल को ऐसे ही स्तनों पर लगा छोड़ दें | इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार लगातार छह हफ़्तों तक प्रयोग करने से बहुत अधिक फायदा मिलता है |

सोयाबीन का तेल –

सोयाबीन का तेल सोयाबीन के बीज से बनता है जो शरीर में एस्ट्रोजेन के स्तर को बढाता है जिससे यह ब्रेस्ट के साइज़ को बढाने में फायदेमंद होता है |

सामग्री – एक कटोरी सोयाबीन के बीज का तेल ( सोयाबीन का तेल बाजार में आसानी से मिल जाता है ) |

सोयाबीन के तेल को प्रयोग करने की विधि – सबसे पहले अपनी उँगलियों को अच्छे से सरसों के तेल में डाल का अच्छे से सरसों के तेल को लेलें फिर अपनी उँगलियों से ब्रेस्ट पर अच्छे से 10 मिनट तक मसाज करें फिर इस तेल को ऐसे ही लगा रहने दे | इस प्रक्रिया को दिन में एक बार लगातार नियम से 8 हफ्तों तक करने से आश्चर्यजनक फायदा देखने को मिलता है |

लौंग का तेल –

लौंग का तेल स्तनों के आकार को बढ़ाने के लिए बहुत ही लाभकारी होता है | लौंग के तेल को अदरक के जूस के साथ मिलाकर प्रयोग करना फायदेमंद होता है इन दोनों को एक साथ मिलाकर आठ से दस हफ्तों तक प्रयोग करने से स्तनों का आकार चार से पांच इंच तक बढ़ जाता है | इन दोनों को एक साथ मिलाकर प्रयोग करते समय इस बात का ध्यान रखें की लौंग के तेल को कम और अदरक के जूस को ज्यादा मात्रा में प्रयोग करना चाहिए |

सामग्री – दो चमच्च लौंग का तेल और तीन चमच्च अदरक का जूस ( लौंग का तेल बाजार में आसानी से मिल जाता है ) |

लौंग के तेल को प्रयोग करने की विधि – सबसे पहले अदरक को पीस कर उसका जूस निकाल लें फिर इस जूस में दो चमच्च लौंग के तेल को मिलाकर अच्छे से मिश्रण बना ले फिर इस मिश्रण को अपनी उँगलियों पर लगाकर इसे अपने ब्रैस्ट पर लगायें और दस से पंद्रह मिनट तक अच्छे से मसाज करें | मसाज के बाद इस तेल को ब्रेस्ट पर ऐसे ही लगा रहने दे | इस प्रक्रिया को दिन में दो बार लगातार नियम से छह हफ्तों तक प्रयोग करने से बहुत फायदा मिलता है |

अलसी का तेल –

अलसी के तेल में ओमेगा 3 बहुत ही अच्छी मात्रा में पाया जाता है जिससे अलसी का तेल स्वास्थ से जुडी कई समस्याओं में लाभदायक होता है | अलसी के तेल में स्तनों के आसपास की कोशिकाओं को मजबूत बनाने वाले पोषक तत्व भी बहुत ही अच्छी मात्रा में पायें जाते है | इस वजह से अलसी के तेल का प्रयोग स्तनों के साइज़ को बढाने में लाभकारी होता है |

सामग्री – तीन चमच्च अलसी के बीज का तेल ( अलसी का तेल बाजार में आसानी से मिल जाता है ) |

अलसी का तेल को प्रयोग करने की विधि – सबसे पहले अलसी के तेल में अपनी उँगलियों को डालकर अच्छे से तेल को उँगलियों पर लेलें फिर इन उंगलियों को अपने ब्रेस्ट पर लगाकर दस से पंद्रह मिनट तक अच्छे से मसाज करे | मसाज के बाद इस तेल को अपने ब्रेस्ट पर ऐसे ही लगा रहने दें | इस प्रक्रिया को दिन में एक बार लगातार नियम से छह हफ्तों तक प्रयोग करने से आश्चर्यजनक फायदा देखने को मिलता है |

नोट : – अगर आपको इन में से किसी भी तेल या उसमे मिलाये जाने वाले पदार्थ से एलर्जी है तो अपने डॉक्टर से परामर्श करके ही इन तेलों का प्रयोग करें |

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.