पौष्टिक आहार की उपयोगिता – IMPORTANCE OF NUTRITIVE DIET IN HINDI

0
138
पौष्टिक आहार की उपयोगिता - IMPORTANCE OF NUTRITIVE DIET IN HINDI

पौष्टिक आहार की उपयोगिता हमारे जीवन के लिये बहुत जरुरी होती है | इसीलिए आज हम पोष्टिक आहार के बारे मे बात करेगे | क्योंकि आज कल के इस वयस्त जीवन मे हम अपने घरेलु काम काज के चक्कर मे अपने शरीर पर ध्यान नही दे पाते है | जिसकी वजह से हमको कई प्रकार की बीमारियो का सामना करना पड़ता है | ये सारी बीमारी हमारे गलत खानपान की वजह से होती है | इसलिए हमे पौष्टिक आहार की उपयोगिता का पता होना जरुरी होता है जिससे हम इस डाइट का प्रयोग करके स्वस्थ रह सके | तो दोस्तों आइये जानते है –

इस वयस्त जीवन मे हमको किस प्रकार पौष्टिक आहार की उपयोगिता होती है –

  • दही का प्रयोग करें :-

पौष्टिक आहार की उपयोगिता में सर्वप्रथम दही हमारे शरीर के लिये बहुत लाभकारी होता है | इसमें बिलकुल भी फैट नहीं होता है | यह विटामिन , कैल्शियम , प्रोटीन जैसे पौष्टिक तत्‍वों का मेल होता है । इसको खाने से दिल की बीमारी , हाई ब्लड प्रेशर और गुर्दों की बीमारियों से हमको काफी राहत मिलती है। यह खून में बनने वाले कोलेस्ट्रॉल जैसे हानिकारक पदार्थ को बढ़ने से रोकता है , जिससे यह नसों में जमकर ब्लड सर्कुलेशन को प्रभावित न कर सके और दिल की धड़कन नार्मल बनी रहे । दही मे पाया जाने वाला कैल्शियम हड्डियों का विकास करता है और हड्डियों को मजबूत बनाता है |

  • सूखे मेवे का सेवन :-

सूखे मेवे को हेल्‍दी स्‍नैक्‍स माना जाता है । काजू , बादाम , किशमिश , अखरोट , हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाकर जरूरी पोषण देते हैं। इनमें बहुत मात्रा में प्रोटीन , फाइबर , विटामिन पाया जाता है | जो वजन घटाने में काफी मदद करता हैं। मेवे का सेवन आप ब्रेकफास्‍ट में , लंच और डिनर के बीच में कभी भी कर सकते हैं ।

  • गाजर का प्रयोग :-

गाजर में विटामिन ए , विटामिन बी ,विटामिन सी , कैल्शियम और पैक्टीन फाइबर होता है। जो कॉलेस्ट्रॉल को हमारे शरीर मे बढ़ने नहीं देता अैर वजन कम करने में भी मदद करता है । सर्दी के मौसम में इसका जूस पीने से सर्दी नहीं होता है । गाजर का जूस इम्यूनिटी बढ़ाने के भी काम आता है । इसको खाने से त्‍वचा में निखार भी आता है ।

  • संतरा का प्रयोग :-

संतरा विटामिन सी से भरपूर होता है साथ ही साथ ये पौष्टिक तत्‍वों से भी भरपूर होता है । वैसे तो संतरा साल भर मिलता है पर इसका जूस सर्दियों मे पीने से शरीर की कई बीमारियो को दूर कर सकते है । इसमें पोटेशियम व फोलिक एसिड, कैल्शियम और कोलेस्ट्रॉल भारी मात्रा मे पाया जाता है जो उच्च रक्तचाप को नियंत्रित रखता है । ये तत्व कोशिकाओ में इलेक्ट्रोलाइट सामान्य करके दिल को स्वस्थ रखता है।

  • शकरकंद का प्रयोग :-

शकरकंद को सबसे अच्छा हेल्थी फ़ूड माना जाता है। क्योंकि इसमें आयरन, फोलेट, कॉपर, मैगनीशियम, विटामिन्‍स होते हैं, जो इम्‍यून सिस्‍टम को मजबूत बनाते हैं । इसके खाने से त्‍वचा में चमक आती है और चेहरे पर जल्‍दी झुर्रियां नहीं पड़ती। यह कैंसर , दिल की बीमारी और दिल के दौरे के खतरे को कम कर देता है |

  • बींस का प्रयोग :-

बींस हरे रंग की फलियां होती हैं। जो पोषण से भरपूर होती है | इसमें प्रोटीन तथा घुलनशील फाइबर बहुत मात्रा में पाया जाता है | साथ ही साथ इसमे वसा कम होता है । जिससे बींस हमारे हृदय को स्वास्थ्य रखने मे मदद करती है तथा यह वजन को सामान्य रखने में भी सहायक है ।

  • अंडा का प्रयोग :-

अंडा पौष्टिक आहार तत्‍वों से भरा हुआ आहार है । अंडे मे दो भाग होते हैं – सफेद और जर्दी । अंडा प्रोटीन, वसा,और कई तरह के विटामिन, मिनरल्स, आयरन और कैल्शियम जैसे तत्‍वों से भरपूर होता है। यह हमारी हड्डियों को मजबूत बनाता है, व हमारी आंखों की रोशनी को भी बढ़ाता है , इसमें मौजूद कोलाई नामक तत्व दिमाग को तेज करने मे हमारी मदद करते है। इसके अलावा अंडा खाने से हमारा दिल भी स्वस्थ रहता है ।

  • अंकुरित दालों का प्रयोग :-

हमारे किचन में अनेको प्रकार के अनाज और दालें मौजूद होते हैं । हालांकि अनाज और दालें अपने आप में बहुत पौष्टिक होते हैं | लेकिन अगर इन्हें अंकुरित करके नियमित रूप से खाया जाए तो ये हमारे शरीर को तंदुरुस्त व बीमारी रहित बनाती है । दालों में मूँग, मोठ, चावल , काला चना , काबुली चना , सोयाबीन आदि का सेवन करने से हमारा शरीर स्वस्थ बना रहता है | दालों को आसानी से अंकुरित कर इनसे विभिन्न स्वादिष्ट एवं पौष्टिक खाना बनाया जाता हैं । अंकुरण से उनमें मौजूद अनेक पोषक तत्वों की मात्रा दोगुनी से भी ज्यादा हो जाती है , मसलन सूखे बीजों में विटामिन ‘सी’ की मात्रा लगभग न के बराबर होती है । लेकिन इन बीजों के अंकुरित होने पर यही मात्रा लगभग दस गुना हो जाती है। जो हमारी बॉडी को कई प्रकार से सुरक्षा प्रदान करती है व हमको बीमारियो से बचाती है |

  • शहद का प्रयोग :-

शहद को सुबह सुबह उठते ही हल्के गर्म पानी में नींबू शहद मिला कर पीने , से हमारी पाचन शक्ति मे काफी सुधार आता है। और कब्ज जैसी बीमारी को भी हमसे बचाता है | और पाचन से होने वाली दूसरी परेशानियों को भी खत्म करने में हमारी मदद करता है। नींबू और शहद का मेल कब्ज को खत्म करने के लिए सबसे अच्छा घरेलु उपाय है। पेट में जाकर यह कई बीमारियों को खत्म कर हमारे शरीर मे पानी की मात्रा को पूरी करता है। इसके अलावा हमारे शरीर को स्वस्थ बनाता है |

दोस्तों हमको लम्बा जीवन जीने के लिये और स्वास्थ रहने के लिये अच्छे पौष्टिक आहार की उपयोगिता की जरूरत पड़ती है | इसीलिये दोस्तों अगर आप स्वस्थ और बीमारी रहित रहना चाहते है | तो आज ही अपनी रोजाना के खानपान की लाइफ मे ये सारी चीजे लेनी पड़ेगी तभी आप अपने शरीर को स्वस्थ बना सकते है |

 

और पढ़े – ( हींग के खाने से कुछ लाभदायक फायदे – HEALTHY BENEFITS OF EATING HEENG IN HINDI )

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.