हार्ट की बीमारी में रखनी चाहिए ये सावधानियां – Heart disease Care In Hindi

0
87

हार्ट की बीमारी मे खानपान के साथ शारीरिक परिश्रम और दिमाग के स्वास्थ का भी ध्यान रखना अत्यंत जरूरी होता है | हमारे शरीर में कोई भी बीमारी होने पर सबसे जरूरी होता है कि हमे उस बीमारी के बारे में पूरी जानकारी हो| जैसे कि उस बीमारी में क्या जरूरी होता है और क्या नही | जिससे आप अपने स्वास्थ को और बेहतर बना सकते है और आपको इस बीमारी के कारण किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पढ़े | ऐसे ही दिल के मरीजो को भी कुछ खास बातो का विशेष बातो का ध्यान रखना जरूरी होता है क्योकि दिल की समस्या में थोड़ी सी भी असावधानी नुकसानदायक और घातक साबित हो सकती है |

ह्रदय की बीमारी होने पर स्वास्थ के साथ किसी भी प्रकार का खिलबाड़ नुकसानदायक साबित हो सकता है| इसीलिए आपको अपने स्वास्थ का पूरा ध्यान रखना बहुत जरूरी होता है , जैसे आपको कभी भी किसी भी तरह के नशीले पदार्थो का सेवन नही करना चाहिए क्योंकि इसका बुरा प्रभाव सीधा दिल की धमनियों पर पड़ता है| ज्यादा भाग दौड़ वाले कामो को बिलकुल नही करना चाहिए| पूरी नींद लेने से परहेज नही करना चाहिए| यदि आप इस तरह की सभी सावधानी बरतते है तो यकीन मानिये इससे आपकी सेहत बिलकुल ठीक रहती है| ह्रदय सम्बन्धी रोग होने पर मरीजों को कभी भी छोटी से छोटी बात को भी अनदेखा नहीं करना चाहिए।

तो आइये आज हम यहाँ जानते है कि आपको ह्रदय सम्बन्धी समस्याओं  किन किन सावधानियों का दिल के मरीजो को खास ध्यान रखना जरूरी होता है-

हार्ट की बीमारी में बरतनी चाहिए ये सावधानियां :

नशीले पदार्थो का सेवन नहीं करना चाहिए

हार्ट की बीमारी वाले व्यक्ति को नशीले पदार्थो से परहेज करना चाहिए , क्योकि नशीले पदार्थो के सेवन से साँस की गति पर खराब असर पढ़ता है | जिसके कारण मनुष्य  की धमनिया सिकुड़ जाती है और दिल से जुडी बीमारी का खतरा बढ़ जाता है| अगर आप भी हार्ट अटैक के मरीज है तो आपको कोई भी नशा नही करना चाहिए , क्योकि ये नशीले पदार्थ आपके शरीर से आक्सीजन की मात्रा को कम कर देते है तथा काबर्न मोनो आक्साइड की मात्रा को बढ़ा देते है | इसलिए दिल के मरीजो को नशीले पदार्थो से परहेज करना चाहिए |

ज्यादा भाग दौड़ वाले कार्य नही करना चाहिए

हार्ट के मरीज को कोई भी ज्यादा भाग दौड़ वाले कार्य नही करना चाहिए क्योकि ये बात तो सभी जानते है कि दुर्घटना से देर भली| अगर आप भी दिल के मरीज है तो आपको इस बात का ध्यान जरुर ध्यान रखना चाहिए कि आप ज्यादा भाग दौड़ न करे| क्योकि ज्यादा भाग दौड़ करने से ह्रदय की गति तेज़ चलने लगती है , जिसके कारण से सेहत खराब हो जाती है| इसलिए दिल के मरीजो को ज्यादा भाग नहीं करना चाहिए |

नींद से परहेज नहीं करना चाहिए

हार्ट के मरीज को जितना हो सकें उतना आराम करना चाहिए| दिल के मरीज को नींद से बिलकुल भी परहेज नही करना चाहिए| नींद पूरी न होने से शरीर में थकावट महसूस होने लगती है जिसके ह्रदय की गति तेज हो जाती है और व्यक्ति हाफना शुरू कर देता है| अगर आप इस समस्या से बचना चाहते है तो आपको अपनी नींद सही तरह से लेनी चाहिए जिससे आपको थकान महसूस न हो और आप फ्रेश फील कर सके |

अत्यधिक दवाइयों का सेवन नहीं करना चाहिए

हार्ट के मरीज को ज्यादा दवाइयों का सेवन बिल्कुल नही करना चाहिए| यदि आप डॉक्टर से उपचार करवाने के बाद उन दवाइयों का इस्तेमाल कर रहे है तो सही है , लेकिन अगर आप कोई दर्द से बहुत परेशान है और आप दवाई खा रहे है तो यह आपके लिए बहुत नुकसानदायक साबित हो सकता है |

ज्यादा मसाले भोजन से परहेज करे

हार्ट की बीमारी के मरीज को ज्यादा मसाले वाले और तेल से युक्त खाने का सेवन नही करना चाहिए , क्योकि ये भोजन आपके शरीर में वसा को बढ़ा देते है | और इसके साथ – साथ कोलेस्ट्रोल भी बढ़ जाता है | और ये सब दिल के मरीजो के लिए हानिकारक होता है | इसलिए दिल के मरीजो जो पौष्टिक आहारो का सेवन करना चाहिए जो कि आपकी सेहत के लिए बहुत लाभकारी होता है | आपको फलो का भी सेवन करना चाहिए |

अधिक तनाव लेना होता है नुकसानदायक

हार्ट की बीमारी होने पर मरीजो को कभी भी तनाव नहीं लेना चाहिए और कभी भी किसी बात का दबाव अपने दिल पर नहीं लेना चाहिए| ऐसा करने पर इसका बुरा प्रभाव सीधा आपके दिल पर पड़ता है , जिससे आपके दिल की धमनियों को  काम करने में परेशानी आने लगती है और इसका बुरा प्रभाव आपके स्वास्थ्य पर भी पड़ता है , जिसके कारण आपके स्वाभाव में भी परिवर्तन आने लगता है , जो कि दिल के मरीजों के लिए बहुत घातक और नुकसानदायक साबित हो जाता है , अगर आप हार्ट के मरीज है तो आपको अपने आप को हमेशा खुश रखने की कोशिश करना चाहिए।

ज्यादा वयायाम करना नुकसानदायक हो सकता है

वैसे तो दिल की बीमारी में मरीजों के लिए वयायाम करना बहुत अच्छा माना जाता है , परंतु वयायाम करते समय आपको ज्यादा तेजी नहीं करनी चाहिए , हमेशा हल्का फुल्का वयायाम ही करना चाहिए| दिल के मरीजों को वयायाम करते समय इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए की जैसे ही वो वयायाम करते समय थकान महसूस करने लगे तो उन्हें उसके कुछ समय बाद ही वयायाम करना शुरू करना चाहिए | लगातार थकान होने के बाद भी ज्यादा समय के लिए वयायाम नहीं करना चाहिए , क्योंकि ये उनके लिए नुकसानदायक और खतरनाक साबित हो सकता है |

दिल की जाँच कराने से न भागे

हार्ट के मरीजो के लिए बहुर जरुरी होता है कि वे समय समय पर अपनी बीमारी की जाँच करवाते रहे और कोई भी समस्या या थोड़ी सी भी परेशानी होने पर इसे बिलकुल भी नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए। तुरंत ही बिना समय को खराब किये आपको अपने डॉक्टर के पास जाकर परामर्श करना चाहिए और अपनी बीमारी की पूरी तरह से जांच करवानी चाहिए , दिल के मरीज़ के लिए थोड़ी सी भी परेशानी की स्थिति बहुत ही नाज़ुक और घातक साबित हो सकती है , यदि इस समय थोड़ी सी भी लापवाही की जाएँ तो यह जानलेवा भी हो सकती है | इसीलिए समय समय पर , और किसी भी प्रकार की छोटी से छोटी समस्या होने पर तुरंत आपको डॉक्टर से जाँच करवा लेनी चाहिए |

टी०वी० देखने में बरते खास सावधानी

दिल से जुडी बीमारी होने पर मरीजो को टीवी देखते समय विशेष ध्यान रखना चाहिए कि वे टीवी पर कभी भी ऐसी चीजों को न देखे जिससे उन्हें अचानक से डर महसूस हो , जैसे कि डरावने टीवी सीरियल और डरावनी मूवीज | क्योंकि डरावनी मूवीज और सीरियल देखने से आप अचानक से डर जाते है जिससे आपके हदय की गति अचानक तेज हो जाती है , जिसका आपके दिल पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है | इसीलिए यदि आप दिल के मरीज़ है तो इन बातों का आपको विशेष ध्यान रखना चाहिए|आपको हमेशा ही खुश रहने वाली चीजे को ही टीवी में देखनी चाहिए।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.