बाल तोड़ का कारण, लक्षण और उपचार – Folliculitis In Hindi

रोग व इलाज

बाल तोड़ त्वचा के ऊपर संक्रमण के कारण होने बाली गाँठ या फोड़ा होता है जो की रोम या तेल ग्रंथियों में होता है | इस संक्रमण के कारण पहले संक्रमित स्थान पर त्वचा का रंग लाल हो जाता है और एक गाँठ बन जाती है जिसमे असहनीय दर्द उत्पन्न हो जाता है |  कुछ दिनों के बाद लगभग सात से आठ दिनों में इस गाँठ में मवाद बन जाती है जिससे इसका रंग बदलकर सफ़ेद हो जाता है |


बाल तोड़

जब यह बाल तोड़ के फोड़े एक साथ कई फोड़ो के समूह में होता है तो यह गंभीर संक्रमण के कारण होता है जिसे नासूर कहा जाता है | बालतोड़ आमतौर पर चेहरे, गर्दन, कांख, कंधे, कुल्हे और घुटने पर होता है इसके अलावा जब यह आँखों की पलकों पर हो जाता है तो इसे आँखों की बिलनी कहा जाता है | बाल तोड़ को कारण और लक्षणों को ध्यान में रखकर आसानी से घरेलु उपायों को प्रयोग करके दूर किया जा सकता है | तो आइये जानते है बाल तोड़ होने के कारण, लक्षण, बचने के उपाय और उपचार…

बाल तोड़ के लक्षण

बाल टूटने से होने बाला बाल तोड़ एक गाँठ जो सख्त लाल के रूप में लगभग आधे इंच के आकार में होता है | कुछ दिनों के बाद इस गाँठ में मवाद बनने लगती है जिससे यह गाँठ मुलायम और दर्दनाक हो जाती है | नीचे बताये गए लक्षणों को पहचान कर आप बालतोड़ का पता लगा सकते है |

  • इस गाँठ के चारो तरफ की त्वचा पर लाली,सूजन और भयानक दर्द महसूस होने लगता है |
  • इस गांठ के आसपास छोटी छोटी गांठे हो जाना |
  • गांठ होने पर बुखार आ जाना ( और पढ़े – बुखार से बचने के उपाय )
  • आपके लिम्फ नोड्स में सूजन हो जाना आदि

 होने के कारण

बाल तोड़ होने की समस्या के पीछे स्टैफाइलोकोकस बैक्टीरिया को माना जाता है यह बैक्टीरिया शरीर पर छोटे से घाव और खरोंच के जरिये प्रवेश करता है और बालो की सहायता से रोम तक पहुँच जाता है | इसके साथ ही निम्न कारण भी बाल तोड़ के लिए जिम्मेदार होते है…

इससे बचने को करे ये उपाय

कुछ साधारण सी बातो के पालन करने से बालतोड़ जैसी दर्दनाक समस्या से बचा जा सकता है तो आइये जानते है बाल तोड़ से बचने के उपाय

  • त्वचा में होने बाले मामूली से घाव को नजरंदाज न करे |
  • शरीर की सफाई नियमित रूप से करे |
  • जितना हो सके स्वस्थ रहने पर ध्यान दें |
  • अगर परिवार के किसी सदस्य को संक्रमण है तो उसके कपडे, बिस्तर आदि के प्रयोग से बचे |

घरेलु उपायों द्वारा  इलाज

बाल तोड़ बालतोड़ आय फोड़े फुंसी होने पर आप कुछ घरेलु उपायों को प्रयोग करके आसानी से ठीक कर सकते है | आपके घर में ही कई ऐसी चीजे होती है जो बाल तोड़ के दर्द और सूजन को खत्म करके उनमे से मवाद को बाहर निकालने में मदद करती है | तो आइये जानते है बाल तोड़ को ठीक करने बाले कुछ आसान लाभकारी घरेलु उपाय…

कलोंजी से उपचार

कलोंजी में दर्दनाशक और संक्रमण विरोधी गुण भरपूर मात्रा में पाए जाते है जिससे इसे बालतोड़ के साथ कई प्रकार के त्वचा से जुड़े संक्रमणों के इलाज में प्रयोग किया जाता है | इसके इन्ही गुणों की वजह से यह बालतोड़ के संक्रमण और दर्द को खत्म करती है |

  • बालतोड़ पर कलोंजी के बीज से बना पेस्ट लगाने से जल्द आराम मिलता है |
  • गाँठ पर कलोंजी का तेल लगाने से भी आराम मिलता है |
  • एक कप गर्म सूप में कलोंजी के बीज का तेल मिलाकर दिन में दो बार सेवन करने से जल्द आराम मिलता है |

पुलिट्स से इलाज

आटा या इससे बनी रोटी की पुल्टिस बाल तोड़ की समस्या से आराम पाने के लिए बहुत ही लाभाकरी घरेलु उपाय होता है | रोटी के एक टुकड़े को कुछ देर के लिए गर्म दूध में रखकर छोड़ दे मगर अब इस टुकड़े को बाल तोड़ पर रख दे | इस उपाय को करने से यह बालतोड़ से मवाद को निकालने और सूजन को कम करने में मदद करता है | जब तक बाल तोड़ की समस्या ठीक नहीं हो जाती इस उपाय को दिन में दो बार प्रयोग करते रहे यह फोड़े के संक्रमण को रोकने में भी मदद करता है |

टी ट्री आयल से उपचार

टी ट्री आयल में जीवाणुरोधी, एंटीफंगल और एंटीसेप्टिक गुण भरपूर मात्रा में पाए जाते है जिससे टी ट्री आयल को नियमित रूप से बाल तोड़ पर लगाने से गाँठ जल्दी ठीक हो जाती है और दर्द में आराम मिलता है | पहले टी ट्री आयल को त्वचा के किसी और हिस्से पर लगाकर निश्चित कर ले आपको इससे कोई एलर्जी तो नहीं है क्योंकि अगर आपको इससे एलर्जी की समस्या है तो ध्यान दे की यह आपके त्वचा के अन्दर ना जाने पाए |

टी ट्री आयल को एक साफ़ रुई से बाल तोड़ के फोड़े अपर लगाये और जब तक फोड़ा ठीक न हो जाये इस प्रक्रिया को दिन में दो बार दोहराते रहें |

हल्दी से इलाज

हल्दी में भरपूर मात्रा में अनुत्तेजक गुण के साथ यह प्राक्रतिक रूप से रक्त शोधक की तरह काम करता है जो बालतोड़ के उपचार में बहुत ही लाभकारी होता है |

  • चार पांच दिन तक दिन में दो बार नियम से ओंटी ( एक गिलास दूध में एक चमच्च हल्दी मिलाकर गर्म करके बनाते है ) बनाकर पीने से बाल तोड़ की समस्या ठीक हो जाती है |
  • ताजे अदरक एक रस में हल्दी मिलाकर एक पेस्ट बना ले इस पेस्ट को फोड़े पर लगाकर कपडे से बाँध दे इस प्रक्रिया को दिन में दो बार करने से जल्द आराम मिलता है |

सिंकाई से इलाज

गर्म कपडे से बाल तोड़ की सिंकाई करने से यह होने बाले दर्द व् सूजन को कम करके गाँठ में रक्त के परिसंचरण को बढ़ा देता है जिससे बालतोड़ जल्दी ठीक हो जाता है |

एक भगोने में पानी को तेज गर्म करले फिर एक साफ़ कपडे को इसमें डाल कर भिगो ले इस कपडे कप फोड़े पर रख कर दस मिनट के लिए छोड़ दे | गर्म पानी करते समय इसमें थोडा नमक डालने से यह संक्रमण को दूर करता है | फोड़े के ठीक न होने तक इस प्रक्रिया को दिन में तीन बार प्रयोग करने से जल्द लाभ मिलता है |

प्याज से उपचार

प्याज में एंटीसेप्टिक रसायन भरपूर पाए जाते है जिससे यह एक रोगाणुरोधी तत्व की तरह काम करती है जिससे प्याज को फोड़े के उपचार में प्रयोग करना लाभकारी होता है |

  • प्याज को मोटे मोटे गोल पीस में काटकर फोड़े पर रखने से आराम मिलता है |
  • बाल तोड़ पर एक कपडे के साथ प्याज को बाँध दे जिससे प्याज की गर्मी से बालतोड़ की गाँठ पक जाती है और मवाद निकलने में आसानी होती है |
  • जब तक बाल तोड़ ठीक न हो जाए इस प्रक्रिया को दिन में तीन से चार बार दोहराते रहें |

 लहसून का प्रयोग

लहसून में पाए जाने बाले एंटीबायोटिक, एंटीमाइक्रोबियल और अनुत्तेजक गुणों की वजह से यह फोड़े फुंसियों की समस्या में जल्दी आराम प्रदान करता है |

  • लहसून की दो से तीन कलियों का पेस्ट बनाकर फोड़े पर लगाना फायदेमंद होता है |
  • ताजे लहसून की कलियों को अच्छे से भूनकर दस दस मिनट के लिए फोड़े पर रखे यह प्रक्रिया दिन में तीन से चार बार दोहरा सकते है |
  • सुबह सुबह लहसून की कलियों का सेवन करने से बालतोड़ में आराम मिलता है और संक्रमण नहीं फैलता है |

मिल्क क्रीम से उपचार

मिल्क क्रीम का प्रयोग बाल तोड़ के उपचार में आजकल बहुत तेजी से बढ़ रहा है | मिल्क क्रीम को प्रयोग करने से यह ठंडक प्रदान करके दर्द में राहत देने के साथ फोड़े के ठीक होने की प्रक्रिया में तेजी लाता है |

  • मिल्क क्रीम को बाल तोड़ पर प्रयोग करने पर एक चमच्च मिल्क क्रीम में सिरका और हल्दी पाउडर को बराबर मात्रा में मिलाकर कर फोड़ो पर लगायें जल्द आराम मिलता है |
  • एक कप गर्म दूध में दो चमच्च नमक मिलाकर इसमें थोडा सा आटा या रोटी का टुकड़ा मिलाकर पेस्ट बना ले इस पेस्ट को फोड़े और उसके आसपास लगा ले | इस प्रक्रिया को दिन में दो से तीन बार दोहराते रहे फायदा होगा |

मकई के आटा का प्रयोग

मकई के आटा में फोड़े फुंसी को ठीक करने बाले गुण पाए जाते है जिससे यह बाल तोड़ का प्राकतिक उपचार होता है |

  • एक कप पानी को अच्छे से उबालकर इसमें मकई के आटा को मिलाकर एक पेस्ट बना ले |
  • इस पेस्ट को नियम से फोड़े की गाँठ पर लगाये |
  • इस पेस्ट को नियम से फोड़े पर लागाने से बाल तोड़ मुलायम हो जाता है और मवाद बाहर निकल जाती है

 

इन सब उपायों के साथ संक्रमण को रोकने के लिए शरीर की सफाई का ध्यान रखना बहुत जरुरी होता है | अगर आपको इन उपायों को प्रयोग करने के बाद एक हफ्ते तक आराम नहीं मिल रहा है तो डॉक्टर से परामर्श करने जरुरी होता है |

 

Tagged
MANVENDRA
HEALTH BLOGGER AND DIGITAL MARKETER AT SOFT PROMOTION TECHNOLOGIES PVT LTD

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *