फ्लैट फुट का असरदार इलाज – Flat Feet Treatment in Hindi

0
222
फ्लैट फुट का असरदार इलाज

अगर आप फ्लैट फुट की समस्या से परेशान है और आपके पैर का आर्च वाला हिस्सा मतलब पंजो वाले उठाव के नीचे कर्व लिया हुआ  जो हिस्सा एडी और पंजे के मध्य होता है वो सपाट हो तो उसे पैर का सपाट होना कहते है, या इंग्लिश में इसे फ्लैट फुट भी कहते है| इस स्थिति के कारण आपके पेरो के तलवे पूरी तरीके से चपटे हो जाते है और आपको चलने में परेशानी होती है |

ये एक ऐसी स्थिति होती है जिसमे आपको दर्द नही होता है |फ्लैट फुट की समस्या तब होती है ,जब बचपन में आपके पेरो के आर्च सही से विकसित नहीं हो पाते है | कई सारे केसेस में फ्लैट फुट की समस्या बचपन के अलावा चोट लगने के कारण और उम्र बढ़ने के कारण भी हो जाते है |  

ये आपके पैरो का आकार बिगाड़ सकते है| जिससे आपको टखनो और घुटनों की समस्या हो सकती है, हालंकि फ्लैट फुट से कोई परेशानी नहीं होती है क्यूंकि इसमें कोई दर्द नहीं होता है |इसलिए इसका कोई इलाज भी नहीं कराया जाता है |

फ्लैट फुट के होने की कुछ मुख्य वजह 

आइये जाने सपाट पैर क्यों होते है, तो ये समस्या बच्चो में बहुत आम होती है| क्यूंकि बच्चो के आर्च उस समय सही से विकसित नहीं हुए होते है, ज्यादातर लोगो में समय के साथ पैरो के आर्च विकसित हो जाते है लेकिन कई सारे मामलो में ऐसा नही होता है | ये पैरो की आम स्थिति मानी जाती है और जिन लोगो के आर्च विकसित नही होते है जरुरी नहीं है की उन्हें पैरो की अन्य समस्या हो |

कुछ बच्चो के सपाट पैर बहुत ही तक लचीले होते है इस स्थिति में उनके पैर का आर्च सिर्फ तब ही दिखाई देता है जब वो बैठते है या फिर अपने पंजो पर खड़े होते है| जिन बच्चो में ऐसी स्थिति होती है उन्हें सपाट पैरो से जुडी अन्य समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ता है |

कभी कभी बचपन में नहीं बल्कि आगे जाकर पैरो के आर्च का आकर बिगड़ जाता है ऐसा तब होता है |जब आपको पैरो में बहुत ज्यादा चोट लगी हो और भी बहुत से कारक है जो आपके पैरो में सपाट होने का जोखिम बढ़ा सकते है |

  1. मोटापा
  2. टखनो या पैरो पर लगी चोट
  3. उम्र का बढ़ना
  4. शुगर

फ्लैट फुट होने पर दिखाई देते है ये लक्षण

फ्लैट फुट होने पर कोई परेशानी नहीं होती है ना ही आपको दर्द होता है और ना ही पैरो में कोई परेशानी होती है लेकिन कुछ लोगो को फ्लैट फुट होने पर एडि और आर्च में थोडा दर्द फील होने लगता है |अगर हम ज्यादा से ज्यादा गतिविधि पैरो से करते है तो हमारा दर्द बढ़ भी सकता है और दर्द के साथ साथ आपके टखनो के अन्दर सूजन भी आ सकती है |

अगर आपके और आपके बच्चो के पैर सपाट है , अगर उन पैरो से आपको कोई प्रॉब्लम नहीं है और आपको को दर्द नहीं हो रहा है| तो आपको डॉक्टर से संपर्क करने की जरुरत नहीं है पर अगर आपको और आपके बच्चो को दर्द की अनुभूति होती है तो आपको जल्द ही डॉक्टर से संपर्क करने की जरुरत है |

फ्लैट फुट का निदान 

आपके पैरो की गतिविधि और ताल मेल पता करने के लिए आपके डॉक्टर आपके पैरो को आगे से पीछे की और चेक करेंगे और आपको अपने पंजो पर खड़ा होने को कहेंगे | आपके जूते किस हिस्से से ज्यादा घिसे है ये देखकर भी डॉक्टर आपके सपाट पैरो की जांच कर सकते है |

अगर आपके पैरो में बहुत ज्यादा दर्द हो रहा है तो डॉक्टर आपको ये टेस्ट करने की बोल सकता है |

  1. एक्स- रे – एक ऐसा टेस्ट है जिसमे रेडिएशन यानि की विकरण के द्वारा आपकी हड्डिया और जोड़ो की तस्वीर बनाई जाती है | इस टेस्ट का इस्तेमाल अक्सर गठिया की जांच के लिए किया जाता है |
  2. सी टी स्कैन- ये एक ऐसा टेस्ट है जिसमे हर तरफ से आपके पैर का एक्स- रे लिया जाता है |ये टेस्ट आपके पैर की स्थिति तस्वीर द्वारा बेहतर तरीके से दिखाता है |
  3. अल्ट्रासाउंड – अगर आपके किसी टेंडन में चोट हो तो डॉक्टर आपको अल्ट्रासाउंड का आईडिया भी दे सकते है इस टेस्ट में शरीर के नर्म उतकों की साफ़ तस्वीर के लिए ध्वनि तरंगो का उपयोग किया जाता है |
  4. एम आर आई – ये टेस्ट रेडियो तरंगो और चुम्बकीय शेत्रो का इस्तेमाल करके आपके शरीर के नर्म और कठोर उतकों की एक बेहतर तस्वीर बनाता है |

फ्लैट फुट का असरदार इलाज 

अगर आपको सपाट पैर है फिर भी आपको दर्द महसूस नहीं हो रहा है तब इसका इलाज करने की जरुरत नहीं है |

लेकिन अगर आपको सपाट पैर होने के बाद दर्द हो रहा हो तो डॉक्टर आपको ये उपाय बता सकता है |

  1. आर्च को उचित सपोर्ट दे – अपने पैरो के आर्च को उचित सपोर्ट देने के लिए कुछ ऐसे यंत्रो का उपयोग करे जो बिना डॉक्टर के पर्चे के मिल सके | ऐसे यंत्रो का उपयोग करने से आपको दर्द में कुछ रहत मिल सकती है | ये यंत्र आपके सपाट पैर को ठीक तो नहीं कर सकते पर इससे होने वाली तकलीफों से आपको राहत जरुर प्रदान करेंगे |
  2. स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज करे – कभी कभी जिन लोगो के सपाट पैर हो उनका एचिल्स टेंडन मतलब पिंडली को एडी से जोड़ने वाला टेंडन छोटा होता है | इस स्थिति का इलाज करने के लिए स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज काम आती है |
  3. पैरो को उचित सपोर्ट देने वाले जूते ही पहने – अगर आप ऐसे जूते पहने जो आपके पैरो के आर्च को उचित सपोर्ट प्रदान करे तो ये काफी हेल्पफुल हो सकता है |
  4. सर्जरी – सर्जरी सिर्फ सपाट पैरो के लिए नहीं की जाती है पर अगर आपको अन्य कोई समस्या है जैसे अगर आपके टेंडन में कोई चोट हो या वो खराब हो गया हो तो डॉक्टर आपको सर्जरी की सलाह देता है |
  5. फिजियोथेरेपी कराये – सपाट पैर होने के कारण आपको काफी चोट भी आ सकती है खासकर जब आप खेलते कूदते हो और दौड़ लगते हो |फिजियोथेरेपी में आपकी दोड़ते हुए एक विडियो बनाया जाता है जिससे आपके दोड़ने का परिक्षण किया जा सके और उस तरीके को बेहतर बनाया जा सके |

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.