दिव्य अर्जुनारिष्ट के मुख्य लाभ

0
100
Divya Arjunarishta

दिव्य अर्जुनारिष्ट एक हर्बल आयुर्वेदिक तरल औषधि है | जो कि अर्जुन नामक पेड़ की छाल व कई जडीबुटी को मिलाकर बनाई जाती है | यह औषधि आपके ह्रदय से जुड़े रोगों के लिए बहुत ही लाभकारी सिद्ध होती है | इस दवा के सेवन द्वारा आप दर्द, ब्लड प्रेशर, एनजाइना, मंदनाड़ी, मायोकार्डियल इंफ्राक्शन व हार्ट फ़ेल जैसी समस्या को आसानी कंट्रोल कर सकते है | इस दवा के पोटैशियम, कैल्शियम, मैगनिशियम, बीटा-सिटोस्टिरोल, इलेजिक एसिड, ट्राईहाइड्रोक्सी ट्राईटरपीन, मोनो कार्बोक्सिलिक एसिड पाए जाते है | जो आपके शरीर को स्वस्थ बनाने में आपकी बहुत मदद करते है | यदि आप भी कुछ इसी प्रकार कि समस्या से ग्रस्त है | और अपनी इस परेशानी से छुटकारा पाना चाहते है | तो आप इस दवा के अपनी इस समस्या को आसानी से खत्म कर सकते है | तो आइये दोस्तों जानते है – इस दवा के बारे में विस्तार से….

दिव्य अर्जुनारिष्ट कैसे बनता है ?

पतंजलि द्वारा निर्मित इस दवा को अर्जुन की छाल , अंगूर, गुड़, धातकी व मधुका के द्वारा तैयार जाती है | इस दवा में पाए जाने वाले तत्व आपके शरीर को बहुत तेजी से स्वस्थ बनाने का कार्य करते है | यह मुख्य रूप से हृदय को स्वस्थ बनाने का कार्य करती है | आइयें दोस्तों जानते है, इस दवा के सेवन से होने वाले लाभ के बारे में |

ह्रदय रोग में लाभकरी है

ह्रदय रोग आपको ह्रदय में होने वाली समस्या को प्रदर्शित करता है | ह्रदय रोग के अंतर्गत कई प्रकार के रोग आते है | ह्रदय रोग के कारण ही आप एनजाइना, व स्ट्रोक जैसी परेशानी से ग्रस्त हो सकते है | यदि आप भी ह्रदय रोग से प्रभावित है, और जल्द से जल्द इस परेशानी से छुटकारा पाना चाहते है | तो आपको पतंजलि द्वारा निर्मित इस दवा का सेवन जरुर करना चाहिये | इस दवा में पाए जाने वाले पोटैशियम, कैल्शियम व मैगनिशियम तत्व आपके ह्रदय को स्वस्थ बनाने में बहुत मदद करते है |

एनजाइना रोग को खत्म करती है

एनजाइना की परेशानी आपके ह्रदय में कम रक्त प्रवाह के कारण ही शुरू होती है | ह्रदय में कम रक्त प्रवाह के कारण आपको अपने सीने पर दबाव, जकड़न व दर्द जैसी परेशानी का सामना करना पड़ता है | यह परेशानी अचानक से आपको अपनी गिरफ्त में ले सकती है | यदि आप भी कुछ इसी प्रकार की समस्या से परेशान है | तो आप इस दवा के द्वारा अपनी इस समस्या को जड़ से खत्म कर सकते है | इस दवा में पाए जाने वाले तत्व आपके ह्रदय में रक्त प्रवाह को बेहतर बनाते है | जो एनजाइना जैसी समस्या में लाभकारी साबित होता है |

उच्च रक्तचाप को मिटाती है

उच्च रक्तचाप की समस्या अधिकतर तनाव के कारण ही आपको परेशान करती है | यदि आप अधिक तनाव लेते है तो आप भी हाई ब्लड प्रेशर जैसी समस्या के शिकार हो सकते है | यदि आप हाई बीपी के शिकार है तो आप इस दवा के द्वारा अपनी इस समस्या को आसानी से खत्म कर सकते है | यह दवा आपको तरोताजा व तनाव मुक्त बनाने का कार्य करती है | जिससे आपकी उच्च रक्तचाप जैसी समस्या को खत्म करने में बहुत मदद मिलती है |

टैकीकार्डिया को जड़ से खत्म करता है

टैकीकार्डिया यानि दिल की धड़कन बहुत तेज हो जाना एक आम समस्या होती है | यह परेशानी अधिकतर अधिक मानसिक तनाव लेने व वयायाम के समय होने लगती है | इस स्थिति में आपका ह्रदय 60 से 100 बार प्रति मिनट धड़कता है | जो आपके ह्रदय के लिये बहुत हानिकारक साबित हो सकता है | यदि आप भी कुछ इसी प्रकार की समस्या से ग्रस्त है | और अपनी इस समस्या का उपचार करना चाहते है | तो भी आप इस दवा के द्वारा अपनी इस परेशानी का इलाज बहुत ही आसानी से कर सकते है | इस दवा के सेवन से आपका ह्रदय सामान्य तरीके से ही कार्य करता है |

दिव्य अर्जुनारिष्ट सेवन का तरीका :

इस दवा का सेवन आप बहुत ही आसानी से कर सकते है | इस दवा को आप पानी व दूध दोनों के साथ ले सकते है | इस दवा का सेवन आप पांच से अधिक उम्र के बच्चे को भी करवा सकते है | ह्रदय रोग में आपको इस दवा का सेवन सुबह शाम भोजन के बाद करना चाहिये |

कोई नुकसान है क्या ?

इस दवा के सेवन से आपको किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नही होता है | और न ही कभी इस दवा की कोई लत लगती है | लेकिन गर्भवती महिला व स्तनपान करवाने वाली महिला को इस दवा का सेवन डॉक्टर की सलाह से ही करना चाहिये | इस दवा के सेवन के बाद आपको किसी भी प्रकार की कोई नशीली चीज का सेवन बिलकुल भी नही करना चाहिये | नशीली चीज का सेवन करने से यह दवा बेअसर हो जाती है | और दिन केवल दो बार ही इस दवा का सेवन करे |

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.