आपके जीवन मे डाइट प्लान की उपयोगिता – Diet plan in hindi

0
31
डाइट प्लान

डाइट प्लान आपके भोजन के लिए एक दिशा निर्देश होता है जो आपको किस अवस्था या बीमारी मे किस-किस समय पर क्या-क्या खाना चाहिए या क्या-क्या नहीं खाना चाहिए | शरीर में समस्या और रोग का संबंध भोजन से भी होता है | कई रोगों में अगर आप डाइट या खानपान पर नियंत्रण नहीं रखते हैं तो वह रोग आपके लिए जानलेवा साबित हो सकते हैं | जैसे शुगर, टीवी , हृदय रोग ,मोटापा आदि रोग हो सकते हैं|कुछ लोगों का मुख्य कारण गलत खानपान हो सकता है इस तरह उत्पन्न हुए रोग पर नियंत्रण प्राप्त करने के लिए आपको एक विशेष रूप से तैयार डाइट प्लान की आवश्यकता पड़ती है |इसके के लिए आप किसी आहार विशेषक से मिल सकते हैं जो आपके लिए इस तरह का आहार चार्ट बना सकता है| उनमें खाद्य पदार्थों की सूची व मात्रा शामिल होती है| आमतौर पर आपके द्वारा ग्रह्रण भोजन में पोषक तत्व का संतुलन ठीक नहीं होता है , बैलेंस डाईट चार्ट आपके भोजन में पोषक तत्वों की कमी व अधिकता को संतुलित करने में सहायता करता है

डाइट प्लान का उदाहरण

इसके लिए सबसे पहले डाइटिशियन आपका वजन व फिटनेस की जांच करेगा| उसके बाद आपके मेडिकल रिकॉर्ड देखेगा| उसके बाद आप के लिए संबंधित बीमारी या समस्या के अनुसार आपके लिए एक डाइट प्लान तैयार किया जाएगा| एक उदाहरण के तौर पर किसी रोगी को उच्च कोलेस्ट्रॉल की समस्या है, इस समस्या में डाइटिशियन बहुत सारी सब्जियां और फल को शामिल करते हैं | साथ ही फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ गेहूं , भूसी , भूरे चावल आदि फाइबर का सेवन भी बढ़ाते हैं एवं कैंडल्स तितली मछलियों को भी शामिल करते हैं या बादाम अखरोट जैसे मेवा को शामिल करते हैं क्योंकि इनमें एंटी ऑक्सीडेंट होते हैं| इनके साथ ही डाइटिशियन आपको मिठाई , लाल मांस , तला हुआ खाद्य पदार्थ आदि के सेवन पर भी रोक या परहेज की सलाह देते हैं एवं मात्रा निर्धारित करते हैं |

डाइट प्लान की आवश्यकता कब पड़ती है

डाइट प्लान की आवश्यकता आपको सिर्फ वजन बढ़ाने और घटाने के लिए नही ही नहीं पड़ती है |आपको डाइट की आवश्यकता शरीर में कुछ विटामिंस मिनरल्स या प्रोटीन के बढ़ जाने पर भी आपको एक डाइट प्लान की आवश्यकता पड़ सकती है जिससे आपकी शरीर में एक नियमित रूप से सभी विटामिंस की पूर्ति हो सके और बढे हुए मिनरल्स और विटामिंस को कंट्रोल कर आ जा सके चलिए जानते हैं कि आप को कब-कब  डाइट प्लान की आवश्यकता पड़ सकती है :

  • वजन बढ़ना
  • वजन को कम करना
  • दिल के रोग में
  • डायबिटीज के रोग में
  • यूरिक एसिड बढ़ जाने पर
  • खून की कमी होने पर
  • गर्भावस्था में
  • टीवी के मरीज को आदि लोगों में आपको एक डाइट प्लान की आवश्यकता पड़ती है |

डाइट प्लान से आपको स्वस्थ रहने और निरोगी रहने में मदद मिलती है आपको डाइट प्लान के साथ साथ डाइट में डाइट का समय का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए इसके साथ साथ आपको परहेज और कुछ एक्सरसाइज करने की आवश्यकता होती है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here