हाथ पैरों में जलन की समस्या का कारण और उपचार

हाथ-पैरों में जलन की समस्या - Problems Of Burning Sensation In Hands And Feet In Hindi

आज के समय में गलत खानपान और ख़राब जीवनशैली के कारण हमारे शरीर में कई प्रकार की स्वास्थ से जुडी समस्या उत्पन्न हो जाती हैं । इन समस्याओं में से हाथ-पैर में होने वाली जलन की समस्या एक प्रमुख समस्या है । हाथ-पैरों में होने वाली जलन में आपको ऐसा प्रतीत होता है, जैसे आपके हाथ-पैरों में चींटी काट रही है ।

हाथ पैरों में जलन

अधिकतर लोग इस समस्या को सामान्य सी समस्या मान कर छोड़ देतें है | मगर कई बार यदि आपके हाथ-पैरों में जलन की समस्या काफी समय से है, तो इसे नजरअंदाज न करें क्योंकि शायद आपको पैरेस्थीसिया की गंभीर समस्या हो सकती है । यह समस्या आपके शरीर के किसी खास अंग की नस पर अधिक दबाब पड़ने के कारण हो सकती है । हमारे तंत्रिका तंत्र में नुकसान या शिथिलता के कारण भी हमारे हाथ-पैरों में जलन की समस्या हो सकती है । यह समस्या ज्यादातर मधुमेह से पीड़ीत व्यक्ति में पायी जाती है । इस समस्या के होने के कई कारण हो सकते है।

 जलन के कारण

  • आमतौर पर शरीर के किसी खास हिस्से की नस पर अत्यधिक दबाब अधिक समय तक होने के कारण आपको यह  समस्या हो सकती है ।
  • शरीर में ब्लड सर्कुलेशन में होने वाली गड़बढ़ी के कारण भी यह समस्या हो सकती है ।
  • कई बार किसी खास हिस्से के नसों के डेमेज या खराब हो जाने के कारण आपके हाथ-पैरों में जलन होना शुरू हो जाती है ।
  • जब हाथ-पैरों में खून का प्रवाह सही तरीके से नहीं होता है, तब आपके हाथ-पैरों में जलन होना शुरू हो जाती है ।
  • शराब, धूम्रपान व विषाक्त पदार्थो के अत्यधिक सेवन के कारण भी आपकी इस समस्या की शुरूआत हो सकती हैं । ( और पढ़े – धूम्रपान छोड़ने के उपाय )
  • कई प्रकार की दवाओं के अधिक सेवन के कारण आपके हाथ-पैरों में जलन की समस्या हो सकती है ।
  • गुलियन बेरी सिड्रोम नामक बिमारी के कारण हमारे तंत्रिका तंत्र के कुछ हिस्सों पर हमला होता है, जिससे हाथ-पैरों में जलन की समस्या होती है ।
  • रक्त वाहिकाओं में होने वाली सूजन के कारण भी हो जाती है।
  • ब्लड प्रेशर में होने वाली कमी के कारण भी जलन होती है। ( और पढ़े – ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने के उपाय )

जलन के लक्षण

  • हाथ-पैरों में जलन होने से पहले हमारे हाथ-पैर लाल होना शुरू हो जाते है ।
  • कई बार हाथ-पैरों में सूजन आना भी इस समस्या का एक लक्षण है ।
  • इस समस्या की शुरूआत में आपके हाथ-पैर बार-बार सो जाते है और झनझनाहट होती है ।
  • हाथ-पैरों में छोटी-छोटी फुंसियों या दाने होना भी इस समस्या का एक प्रमुख लक्षण है । ( और पढ़े – फोड़ा फुंसियों का उपचार )
  • कई बार इस समस्या में हाथ-पैरों में दर्द और हल्का सा बुखार भी रहता है ।
  • हाथ-पैरों की जलन की समस्या में आपके अंग अचानक से कमजोर होना शुरू हो जाते है ।

इसका उपचार

हाथ पैरों में होने बाली समस्या को आप डॉक्टर द्वारा इलाज कराकर या फिर कुछ घरेलु उपायों का प्रयोग करके आसानी से समाप्त कर सकते है | तो आइये जानते है हाथ पैरो में जलन के उपचार के कुछ आसान और कारगर घरेलु उपाय…

घरेलू उपाय

घरेलू उपायों द्वारा हाथ पैरों की जलन दूर करना बहुत ही आसान और सुरक्षित होता है | हाथ-पैरों में होने वाली जलन को समाप्त करने का सबसे सरल व सस्ता उपाय यह है, कि आप हाथ-पैरों का ठड़ें पानी से अच्छी तरह मालिश करें । इससे आपको जलन में बहुत आराम प्राप्त होगा ।

हल्दी का प्रयोग

आमतौर पर रक्त प्रवाह में कमी के कारण यह समस्या होती है। हल्दी में कई ऐसे एटीं इप्लेमेटंरी गुण पाए जाते है, जो रक्त प्रवाह में होने वाली समस्या को समाप्त कर देते हैं । हल्दी के उपयोग के लिए 1 या 2 चम्मच मात्रा में हल्दी को एक गिलास पानी में मिला के पीने या हल्दी का पेस्ट बनाकर उसे जलन वाले हिस्से में लगाने से आपको हाथ-पैरों में होने वाली जलन से छुटकारा प्राप्त होगा ।

सेंधा नमक का प्रयोग

मैंगनीशीयम सल्फेट हमारे नर्वस सिस्टम के कार्यो  को सही करता है। और हमारे घर में इसका एक उचित र्सोस पाया जाता है, जो सेंधा नमक नमक के रूप में जाना जाता है। सेंधें नमक को पानी में मिलाकर मसाज करने से भी हाथ-पैरों मे जलन से निजाद पाया जा सकता है । इसका उपयोग दिल की बिमारी से पीड़ीत लोगो के लिए नुकसान दायक होता है, इसलिए जिन लोगों को दिल की बिमारी है वह इस विधि का प्रयोग न करें ।

अदरक से उपचार

अदरक एक प्रकार का रामबाण इलाज है। यह रक्त के संचरण को बढ़ाने में बहुत ही लाभकारी साबित होता है । इसमें कई प्रकार के सक्रिय घटक पाए जाते है । गर्म पानी में नारियल का तेल व अदरक के रस को मिलाकर मालिश करने से आपको  राहत प्राप्त होगी ।

सरसों के तेल का प्रयोग

सरसों के तेल में लहसुन मिलाकर उसे जब तक गर्म करे जब तक लहसुन काला नहीं हो जाता है, फिर इसे ठडां होने के बाद इससे मालिश करने से आराम मिलता है ।

विटामिन बी 3 वाले आहार

कई बार विटामिन की कमी की वजह से भी यह समस्या होती है। अधिकतर विटामिन बी 3 की कमी से । इसलिए इस समस्या के दौरान हमें विटामिन बी 3 से भरपूर चीजों का सेवन करना चाहिए। जैसे- अनाज, दूध, सेब, मटर आदि। यह आपके रक्त संचरण को भी नियंत्रित रखता है।

डॉक्टर द्वारा उपचार

अगर आपको इन घरेलु उपायों से आराम नहीं मिलता है तो डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए | डॉक्टर द्वारा आमतौर पर दी जाने बाली दवाएं निम्न प्रकार है…

एमलोडिपिन दवा का प्रयोग

यह बहुत असर कारक दवा है। इसका प्रयोग कई समस्याओं के लिए किया जाता है। इससे आपका रक्त परिसंचरण सही करने के लिए भी प्रयोग किया जाता है।  कई बार डॉक्टर के द्वारा इस दवा के सेवन की सलाह दी जाती है। इस दवा को सात दिन तक लगातार नियम से प्रयोग करने से फायदा मिलता है |

स्पैरोनोलाक्टोंन दवा का प्रयोग

यह दवा भी रक्त के संचरण को उचित करने का कार्य करती है । इसलिए इस समस्या में इस दवा को भी प्रयोंग किया जाता है।

विटामिन की गोली का प्रयोग

कई बार विटामिन की कमी से भी  जलन होती है, इसलिए इस समस्या में डॉक्टर द्वारा आपको विटामिन की गोलियाँ खाने की सलाह दी जाती है।

हाथ पैरों में जलन की सावधानियां

  • कभी भी शराब,धुम्रपान या कोई विषाक्त पदार्थों का सेवन न करे और हमेशा इन वस्तुओं से दुर रहें।
  • शरीर को हमेशा एक सतुंलित आहार प्रदान करें, जिससे आपके शरीर को सभी प्रकार के विटामिन मिल सके और विटामिन की कमी न हो व आप इस समस्या से दुर रहें।
  • किसी भी प्रकार की दवाओं के ओवरडोज न करें। बिना डॉक्टर के सलाह के किसी भी प्रकार की दवा न लें।
  • हमेशा योग करें क्योंकि यह आपके शरीर में रक्त परिसंचरण को उचित ढंग से कराने में सहायता करता है। इससे हाथ पैरों में होने वाली समस्या नहीं होती है।
  • हमेशा पॉजिटिव सोचे क्योंकि इससे आपके शरीर का ब्लड सर्कुलेशन सही रहेगा और आपको इस समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा।
  • कभी भी अपने शरीर के किसी भी नस पर ज्यादा दबाब न पड़ने दे।