चुकंदर के विशेष स्वास्थकारी फायदे

0
121

चुकंदर के लाभ : चुकंदर एक मूस्लाधारी जड़ वनस्पति है | चुकंदर की जड़ हलकी मीठी -मीठी होती है ओर इसका जो रंग होता है वह लाल,जमुनी.पीला या सफ़ेद होता है | चुकंदर बीटा वलगेरिस नामक जाती के पौधें होते है |

चुकन्दर मे गुण : चुकंदर के लाभ

चुकंदर मे सोडियम पोट्टेसियम,फास्फोरस ,क्लोरीन,आयरन इत्यादि आवाश्यक विटामिन्स पाए जाते है | चुकंदर को खाने से हमारे शरीर मे हीमोग्लोबिन कम नहीं होता है जिससे शरीर मे कभी भी खून की कमी की समस्या नहीं आती है |
चुकंदर के अन्दर एंटीओक्सिदेंट पाए जाते है जो हमारे शरीर को ऊर्जा प्रदान कर हमे हमेशा जवान बनाये रखते है |

 प्रयोग मे कैसे उपयोग करे : चुकंदर के लाभ

दुनिया भर मे चुकंदर की जमुनी जड़ को कच्चा उबालकर या भूनकर खाया जाता हैं | हमारे भारत मैं चुकंदर  को खाने क साथ इसको छोटा छोटा काटकर खाया जाता है.भारत मे इसका अधिकतर प्रयोग सलाद के रूप मे या फिर इसका रस निकलकर उसको पीने मे किआ जाता हैं | चुकंदर के रस का सेवन करने से शरीर मे खून की कमी नहीं होती हैं |

आपने चुकंदर का प्रयोग अधिकतर सलाद मे या जूस मे किआ होगा, दोस्तो क्या आप जानते है कि चुकंदर से हमारे शरीर की कौन सी बीमारी ठीक होती है ?
चलिए तो हम बताते है आपको ….

1.ब्लड प्रेशर को कम करने मे :चुकंदर हमारे शरीर के ब्लड प्रेशर लेवल को कम करता है ,क्योकि चुकंदर एक नाइट्रेट्स का अच्छा स्त्रोत है जो की नाइट्रऐतेस को एक गैस नाइट्रिक ऑक्साइड मे बदलता है | ये दोनों तत्व मिलकर शरीर मे ब्लड प्रेशर को कम करने मे मदद करते है |

2.एनिमिया से लड़ता है : चुकंदर नै अच्छी मात्रा मे आयरन पाया जाता है जो की एनीमिया से लड़ने मे मदद करता है |

3.गर्भबती महिलाओ के लिए :चुकंदर मे अच्छी मात्रा मे फोलिक एसिड पाया जाता है यह तत्व गर्भबती महिलाओ को ऊर्जा प्रदान करता है ओर उनके गर्भ मे पल रहे गर्बवस्था मे  बच्चे के मेरुदंड बनाने मे सहायक होता है |

4.पेट के रोगों मे : पेट के रोगों से लड़ने के लिए चुकंदर बहुत ही फायदेमंद होता है | दो चम्मच चुकंदर के रस मे एक चम्मच नीम्बू का रस मिलाकर पीने से उलटी,दस्त ,हैजा , पेचिस ओर लीवर इन्फेक्शन जैसी बीमारियों से लड़ने मे सहायक होता है |

5.चुकंदर का प्रयोग दिमाग को तेज बनाने के  लिए : चुकंदर का प्रीतिदीन सेवन करने से मस्तिष्क का विकास होता है ओर स्मरण शक्ति तेज होती है |

6 . चुकंदर के प्रयोग से डायबिटीज पर नियंत्रण :  जिन लोगो को डायबिटीज होती है उनको अक्सर मीठा खाने का मन करता है जो की उनके लिए नुकसानदायक होता है और चुकंदर एक ग्लाइसेमिक इंडेक्स वेजिटेबल होता है इसका मतलब यह होता है की यह मीठा तो होता है लेकिन इसमें कैलोरीज बहुत ही कम मात्रा मे पायी जाती है जो खून मे सुगर बहुत धीरे धीरे रिलीज़ करती है |

7. चुकंदर का प्रयोग महिलाओ के माषिक धर्म मे दर्द से राहत के लिए : मासिक धर्म मे होने वाला दर्द यदि बहुत ज्यादा हो तो महिलाओ को रोज एक चुकंदर का सेवन करना चाहिए इससे दर्द मे भी काफी आराम मिलता है व यह खून की कमी को भी दूर करता है|

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.