दूध के प्रकार और फायदे-benefits of Milk in Hindi

0
110
benefits of Milk

दूध हमारी किस तरह रोगों से हमारे शारीर की रक्षा करता है |क्योंकि दूध को एक सम्पूर्ण आहार माना जाता है|इसको पीना हमारे शरीर के लिये बहुत जरुरी है |इसीलिये हमको इसके बारे में जानना भी बहुत जरुरी है |इसको पीने से हमारे शरीर की कई बीमारियाँ दूर होती है |और ये हमारे शरीर में रोग प्रतिरोध की मात्रा को भी बढ़ता है |जिससे हमको कोई भी बीमारी छु तक नही पाती |दूध हमारे शरीर की कई सारी कमियों को भी दूर करता है |

बकरी का दूध हमारे शरीर के लिये काफी फायेदेमंद होता है |बकरी के दुग्ध में केल्शियम और विटामिन A, विटामिन बी6,निसिन और एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है |और बकरी के दुग्ध में सिलेनियम की मात्रा भी काफी अधिक होती है |जिसको पीने से हमारे शरीर में कोई भी बीमारी पनप नही पाती है | इसमें फोलिक एसिड बहुत कम मात्रा में पाया जाता है| जिसकी वजह से हम मोटापे के शिकार भी नही हो पाते है |हमको बकरी के दुग्ध को उबालकर पीना चाहिये |जिससे की हम इसको जल्दी पचा सके |और हमको किसी भी प्रकार की बीमारी ना हो |

  • भैंस का दूध

अगर आप कमजोर है| और अपने शरीर को जल्दी ही विकसित करना चाहते है|तो आपको भैंस के दुग्ध का सेवन करना चाहिये |क्योंकि भैंस के दुग्ध में सबसे ज्यादा फैट पाया जाता है|और इसके साथ ही साथ इसमें कैल्शियम की भी मात्रा बहुत होती है|इसके साथ ही इसमें विटामिन A भी बहुत मात्रा में पाया जाता है|भैंस के दुग्ध में प्रोटिन के साथ आयरन, कैल्शियम और फोस्फोरस भी गाय के दुग्ध के मुकाबले बहुत अधिक पाया जाता है |भैंस के दुग्ध से आप बच्चों के लिये खाना बना सकते है |जैसे की कॉर्नफ्लैक्स, पोडिग्री, सूप, खीर आदि भी हम भैंस के दुग्ध से बना सकते है |

  • गाय का दूध

अगर किसी महिला का दूध नही आ रहा है|तो वो महिला चाहे तो गाय के दुग्ध का सेवन अपने बच्चे को करा सकती है|गाय के दुग्ध को बच्चा आसानी से पचा भी लेता है |जिससे इसके सेवन से बच्चे को किसी भी प्रकार का नुकसान भी नही होता|लेकिन अपने बच्चे को गाय का दूध तभी पिलाये जब आपका बच्चा एक साल का हो जाये |जिससे आपके बच्चे को इसके सेवन से कोई समस्या ना हो |गाय के दूध में आयरन काफी मात्रा में पाया जाता है |जो आपके बच्चे की हड्डियों को मजबूती प्रदान करता है |

  • ऊंटनी का दूध

यदि आप ऊंटनी के दूध से नफरत करते हैं| तो आपको आज उसके फायदे जान लेना चाहिये|क्योंकि ऊंटनी का दूध हमारे शरीर से बहुत से रोगों को मिटाता है |साथ ही साथ ये हमारे शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को भी बढ़ाता है|ऊंटनी का दूध दिमागी बीमारी में रामबाण सिद्ध साबित होता है| अगर आपका बच्चा सही से पढ़ नही पा रहा है |

तो आपको अपने बच्चे को ऊंटनी के दुग्ध का सेवन कराना चाहिये |क्योंकि इसका दूध मंद बुद्धि बच्चों के लिए अमृत के समान माना जाता है |इसी लिये राजस्थान की राज्य सरकार ने भी ऊंट को राज्य पशु भी घोषित किया है| ऊंटनी का दुग्ध पीने से हमें मधुमेह, दमा, ऑटिज्म, बच्चों में दुग्ध की एलर्जी, ब्लड प्रेशर सहित विभिन्न रोगों मुक्ति मिलती है |इसके अलावा मलेरिया के उपचार के लिये भी यह दुग्ध काफी फायदेमंद साबित होता है |ऊंटनी के दुग्ध में प्रतिरोधक क्षमता बहुत ज्यादा होती है| जिसको पीने के बाद हमको अनेक रोगों से लड़ने की क्षमता मिलती है|

अगर आपका बच्चा भी कमजोर या फिर मंद बुद्धि है |तो उसको आज ही ये सारे दुग्ध का सेवन कराये जिससे आपके बच्चे का विकाश तेजी से होगा| और आपका बच्चा बीमारी से भी दूर रहेगा | इसी लिये अगर आप भी चाहते है की आपका बच्चा स्वस्थ और दिमागी रूप से बहुत तेज बने तो आपको अपने बच्चे को इन दूधो का सेवन कराना चाहिये |

और पढ़े-(माँ के दूध को बढ़ाने के लिये घरेलु उपाय – HOME REMEDIES TO INCREASE MOTHER’S MILK IN HINDI)

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.