महासुदर्शन काढ़ा के फायदे – Benefits Of Mahasudarshan Kadha In Hindi

0
949
mahasudarshan kadha
mahasudarshan kadha

महासुदर्शन काढ़ा एक प्रभावी आयुर्वेदिक काढ़ा है | जिसको बैद्यनाथ कम्पनी द्वारा निर्मित किया जाता है | इस काढ़े को कई गुणकारी जडीबुटी से मिलकर बनाया जाता है |  जडीबुटी से मिलाकर बने होने के कारण इस दवा को आयुर्वेद की श्रेणी में रखा गया है | महासुदर्शन काढ़ा का सेवन करने से हमारे शरीर को कई प्रकार के लाभ मिलते है | अगर बुखार में महासुदर्शन काढ़े का सेवन किया जाये | तो इससे हमारे शरीर को तुरंत राहत मिल जायेगी |

महासुदर्शन काढ़ा को बनाते समय इसमें जड़ी-बूटी के साथ इसमें बुखार के उपचार के लिए इसमें सेल्फ जेनरेटेड एल्कोहल मिलाया जाता है | जो बुखार की समस्या को दूर करने में हमारी बहुत मदद करता है | आज आपको हम महासुदर्शन काढ़ा के लाभ व सेवन कैसे किया जाये इसके बारे बताने जा रहे है | तो आइये सबसे पहले इसमें मिलाई जाने वाली जड़ी बूटी के बारे में जानते है |

इन जड़ी-बूटी से मिलाकर बनता है महासुदर्शन काढ़ा

महासुदर्शन काढ़ा बनाने के लिए कई जड़ी बूटी का प्रयोग किया जाता है | जिससे हमारे शरीर की समस्या को पूरी तरह खत्म किया जा सके | तो आइये जानते है उन जडीबुटी के बारे में | हितकारी, आवंला, बहेड़ा, दारुहल्दी, कंठकारी, पिप्पली, दालचीनी, नेत्रबला, दाहदी, कंटकारी, कचरू, सुठी, मरीचा, धमासा, अजवाइन, सिहजना बीज, वंशलोचन, कमल फूल, काकोली, तेजपात, कालमघे, नागरमोथा, कमल के फूल, अतीस व बलामलू जैसी गुणकारी जडीबुटी हमारे शरीर की कई समस्या को जड़ से खत्म करने में हमारी बहुत मदद करती है | अब आइये जानते है इसके लाभ के बारे में |

इस काढ़े के सेवन से होने वाले लाभ

वैसे तो इसका सेवन करने से हमारी कई आन्तरिक समस्या ठीक हो जाती है | लेकिन कुछ बीमारियों में इसका असर जल्दी देखने को मिलता है | जैसे ज्वार, पाचन की समस्या, मलेरिया व डेंगू के उपचार के लिए यह दवा अति उत्तम मानी जाती है | अब आइये जानते है | इसके सेवन से होने वाले अन्य लाभ के बारे में

टाइफाइड की समस्या को दूर करने में लाभकरी होता है

टाइफाइड की समस्या सैल्मोनेला टाइफी नामक जीवाणु के द्वारा होती है | जिसमे व्यक्ति को शरीर दर्द, सिरदर्द, मिचली, कब्ज या दस्त, भूख की कमी के साथ साथ बुखार की समस्या भी होने लगती है | अगर आप इस समस्या से जल्दी छुटकारा पाना चाहते है | तो आपको महासुदर्शन काढ़ा का सेवन करना चाहिये | इसके सेवन से हमारे शरीर में मौजूदसंक्रमण खत्म होने लगता है | ओर आपका शरीर पहले जैसा स्वस्थ बनाने लगता है |

बुखार की समस्या में लाभदायक है

बुखार की समस्या केवल हमारे गलत रहन सहन व दूषित भोजन के सेवन से आती है | बुखार के कारण हमारे शरीर को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है | जैसे सिरदर्द और बदनदर्द, जुकाम व खांसी, या फिर बुखार के कारण आपको भूख ना लगने की समस्या के साथ साथ शरीर पर दाने भी हो सकते है | अगर आप इन सभी समस्या से छुटकारा पाना चाहते है | तो आपको महासुदर्शन काढ़ा का सेवन करना चाहिये इसके सेवन के बाद हमारे शरीर में तेज पसीना निकालने लगता हैं | जिससे हमारे शरीर को बुखार में काफी राहत मिलती है | यदि इसका सेवन नियमित रूप से किया जाये तो हमारा शरीर कभी भी इस प्रकार की किसी भी समस्या का शिकार नही होगा |

संक्रमण को खत्म करता है

आज के इस जीवन में कई प्रकार की संक्रम बीमारियाँ है जिनसे हमाये दिन ग्रस्त होते रहते है | इन्ही बीमारियों की वजह से हमारे शरीर के कई अंगो पर बहुत बुरा असर पड़ता है | अगर इसका सही उपचार ना कराया जाये तो हमारे शरीर को कई गंभीर समस्या का सामना करना पड़ सकता है | इन्ही सभी बातों को ध्यान में रखते हुये महासुदर्शन काढ़ा का निर्माण किया गया है | जिसके सेवन से आप अपने शरीर में मौजूदसंक्रमण को जड़ से खत्म करके अपने शरीर को स्वास्थ बना सकते है | मैंने खुद इसका सेवन करके पाया की यह अन्य किसी दवा से जल्दी असर करता है |

लीवर से जुडी समस्या को खत्म करता है महासुदर्शन काढ़ा

लीवर को हमारे शरीर का प्रमुख अंग माना जाता है | यह केवल हमारे गलत खानपान व धम्रपान के द्वारा ही इसमें कई प्रकार की समस्या आने लगती है जिससे हमारे शरीर को कई परेशानियों का सामना करना पड़ता है | अगर हमारा लीवर स्वस्थ नही होगा | तो इसकी वजह से हमारे शरीर को कई नुकसान हो सकते है | अगर आप नियमित महासुदर्शन काढे का सेवन करे | तो इससे लीवर में काफी सुधार आता है | जिससे हमारा शरीर भी स्वस्थ बनाने लगता है | इसके सेवन से लीवर से जुड़े कई रोग पूरी तरह खत्म हो जाते है | जैसे

  • फैटी लिवर
  • कमजोर लीवर
  • लीवर सिरोसिस
  • लीवर में सुजन

कैसे करे इस दवा का सेवन

आपको महासुदर्शन काढ़े का सेवन कुछ इस प्रकार करना चाहिये | आपको रोजाना इसका केवल 5-20 मिलीलीटर ही इसका सेवन करे | जब इसका सेवन करे तो दवा को पानी के साथ और पानी की बराबर मात्रा के साथ ही करे | यदि आप अपनी समस्या को जल्दी खत्म करना चाहते है | तो दिन में दो बार भी इसका सेवन कर सकते है | लेकिन इसका सेवन हमेशा खाना खाने के एक घंटे पहले करे |

इस ओषधि से जुडी कुछ सावधानी

महासुदर्शन काढ़े का सेवन केवल 18 वर्ष के बाद ही करे | बच्चों को इसका सेवन ना करने दे | इसके सेवन के एक घंटे बाद भोजन जरुर करे | यदि आपको शुगर की समस्या है | तो इसका सेवन बिलकुल भी ना करे | गर्भवती महिला गर्भ के पहले व दुसरे महीने में इसका सेवन कर सकती है | लेकिन उसके बाद इसका सेवन ना करे |

अगर आप भी ऊपर डी हुई किसी समस्या से परेशान है तो जरुर इसका सेवन करे | यह आसानी से बाजार व किसी मेडिकल की दुकान पर मिल जाती है | आप अपनी इच्छानुसार इसका सेवन कर सकते है | जैसे 100ml से लेकर 450ml तक आप इसको खरीद सकते है |इच्छा

और पढ़े – जाने कोलोनोस्कोपी के बारे में – Colonoscopy In Hindi

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.