फोलिक एसिड युक्त टेबलेट के फायदे व गुण – Benefits Of Folic Acid Tablet in Hindi

दवाइयाँ

फोलिक एसिड यानि विटामिन बी9 को ही फोलिक एसिड के नाम से जाना जाता है | यह हमारे शरीर में मौजूद कार्बोहाइड्रेट को शरीर के लिए जरुरी ग्लूकोज में परिवर्तित करने का कार्य करता है | इसी वजह से हमारे शरीर को ऊर्जा प्राप्त होती है | फोलिक एसिड हमारे लीवर, त्वचा, बाल व आंखों के लिए बहुत जरुरी होता है | यह हमारे तंत्रिका तंत्र को भी सुचारू रूप से काम करने में मदद करता है | इस तत्व को आप कई प्रकार के आहार के द्वारा भी ले सकते है | यह हमारे दिमाग के लिए भी काफी फायदेमंद होता है |

फोलिक एसिड क्या है ?

फोलिक एसिड की सबसे अधिक आवश्यकता गर्भवती महिला को होती है | यह गर्भ के दौरान बच्चे के ऊतकों व कोशिकाओं का निर्माण करता है | साथ ही साथ यह महिला के शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करके शरीर में आयरन की मात्रा को भी ठीक बनाता है | जिससे बच्चे का स्वस्थ अच्छा बनता है | अगर शरीर में फोलिक एसिड की कमी हो जाये तो आप इस कमी को टैबलेट व सिरप के द्वारा पूरी कर सकते है | तो दोस्तो आइये जानते है | फोलिक एसिड के द्वारा होने वाले फायदे के बारे में |

फोलिक एसिड युक्त कई टैबलेट व सिरप बाज़ार में आते है | जैसे Folvite Tablet, Raricap Tablet, Megafit Tablet व Cipla Fericip जैसी टैबलेट को आप आसानी से किसी भी मेडिकल स्टोर से खरीद सकती है | यह टैबलेट हमारे शरीर में लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण करती है | जिससे हमारे शरीर में मौजूद रक्त की कमी ठीक हो जाती है |

 इसकी कमी से होने वाले नुकसान

  • वजन में कमी आना |
  • भूख ना लगना |
  • मुंह में छाले होने लगना |
  • थकान की समस्या का होना |
  • जी मिचलाना |
  • हाई बीपी की समस्या होने लगना |

इस टैबलेट से होने वाले लाभ

पोषण की कमी को पूरा करती है

यदि आप कमजोरी व फोलिक एसिड की कमी से किसी बीमारी से परेसान है | तो इस टैबलेट के द्वारा अपनी इस समस्या का पूर्ण उपचार बहुत आसानी से कर सकते है | क्यूकि यह टैबलेट हमारे शरीर का रक्त संचार ठीक बनाती है | जिसकी वजह से हमारा पाचन तंत्र ठीक तरह से कार्य करने लगता है |

एनीमिया की समस्या को खत्म करती है

अगर आपके शरीर में रक्त की कमी की कारण एनीमिया जैसी बीमारी जन्म ले रही है | या फिर आप एनीमिया से ग्रस्त है | तब भी आप इस टैबलेट का सेवन करके अपनी इस समस्या को जड़ से ख़त्म कर सकते है |

गर्भावस्था के दौरान बच्चे को स्वस्थ बनाती है

फोलिक एसिड की टैबलेट गर्भवती महिला के लिए बहुत जरुरी है | क्यूकि अगर महिला के शरीर में रक्त की कमी है | तो इससे माँ के साथ साथ बच्चे की विकाश पर भी गहरा असर पड़ेगा | इसीलिए कई डॉक्टर गर्भावस्था के दौरान महिला को फोलिक एसिड टैबलेट लेने की सलाह देते है | जिससे महिला व बच्चे का शरीर स्वस्थ बना रह सके |

जाने इस दवाई के सेवन करने का तरीका

फोलिक एसिड टैबलेट का सेवन बहुत ही आसानी से किया जा सकता है | आपको अपनी समस्या को ख़त्म करने के लिए फोलिक एसिड टैबलेट का सेवन दूध व गुनगुने पानी के साथ खाना खाने के बाद करना चाहिये | आप चाहे तो इस टैबलेट का सेवन दिन में दो बार यानि सुबह व शाम को भी कर सकते है | गर्भवती महिला को इसका सेवन दिन में दो बार ही करना चाहिये | उससे अधिक बार इसका सेवन ना करे |

कितनी मात्रा में करे सेवन

किसी भी दवा का सेवन एक निश्चित मात्रा में ही करना चाहिये | तभी उस दवा का सही असर हमारे शरीर पर होता है | दोस्तो आइये जानते है | कितनी मात्रा लेनी चाहिये फोलिक एसिड की रोजाना के जीवन में |

  • एक से पांच महीने के शिशु को – 0.065 मिलीग्राम |
  • सात से बारह माह के शिशु को – 0.08 मिलीग्राम |
  • एक साल से चार साल के बच्चे को – 0.15 मिलीग्राम |
  • पांच साल से दस साल के बच्चे को – 0.2 मिलीग्राम |
  • दस साल से पंद्रह साल के बच्चे को – 0.3 मिलीग्राम |
  • बीस वर्ष व अधिक पुरुष व महिला को – 0.4 मिलीग्राम
  • गर्भवती व स्तनपान कराने वाली महिला को – 0.5 मिलीग्राम

इसके सेवन से होने वाले नुकसान

फोलिक एसिड टैबलेट को यदि अधिक मात्रा में सेवन किया जाये | तो इससे शरीर पर कई हानिकारक प्रभाव पड़ सकते है | जैसे

  • सांस फूलने की समस्या |
  • खुजली या जलन होना |
  • लाल चकत्ते पड़ना |
  • त्वचा का लाल हो जाना |
  • उलझन की समस्या होना |
  • पेट में ऐंठन होने लगना |
  • दस्त की समस्या होना |

आदि का सामना करना पड़ सकता है | अगर आपको इस प्रकार की किसी समस्या होने लगे | तो तुरंत डॉक्टर से समपार करे |

जाने किस प्रकार के आहार में पाया जाता है यह

  • गहरे हरे रंग की पत्तेदार सब्जियां, जैसे – पालक व मैथी आदि में |
  • अंकुरित अनाज में
  • सरसों के साग में |
  • चुकंदर व शलजम में
  • सोयाबीन की बरी में |
  • साबुत अनाज में
  • गेहूं में पाया जाता है |
  • सेम की फली में
  • संतरे में पाया जाता है |
  • बकरी के दूध में अधिक मात्रा में पाया जाता है |

और पढ़े – प्रोटीन पाउडर के फायदे व सेवन का तरीका – Benefits Of Protein Powder In Hindi

MANVENDRA
HEALTH BLOGGER AND DIGITAL MARKETER AT SOFT PROMOTION TECHNOLOGIES PVT LTD

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *