पतंजलि दिव्य गैसहर चूर्ण के चमत्कारी लाभ – Patanjali Divy gashar churna in hindi

0
761
दिव्य  गैसहर चूर्ण
दिव्य गैसहर चूर्ण

पतंजलि दिव्य गैसहर चूर्ण का प्रयोग करने से हमारी पाचन से जुडी समस्या या पेट रोग का पूर्ण रूप से ठीक हो जाता है | गैस एक ऐसी बीमारी हैं जो गलत खाने पीने और गलत ज़िन्दगी जीने के तरीके से पैदा होती हैं, अगर इसका सही से इलाज़ न हो तो यह बीमारी पूरी उम्र परेशान करती हैं | इस बीमारी को दूर करने का सबसे अच्छा तरीका हैं दिव्य गैसहर चूर्ण क्यूकि इसमें पाई जाने वाली जडी बुटी जैसे अजवायन, मिर्च काली, काला नमक, हरड छोटी, नीम्बुसत, हींग, जीरा, व मीठा सोडा जैसे तत्व हमारे पाचन तंत्र की सभी समस्या को ठीक करके करने में हमारी बहुत मदद करती है | इसके अलावा यह चूर्ण पाचन शक्ति बढ़ाने, पेट दर्द, पेट के भारीपन, एसिडिटी और अम्लता जैसे रोगों के लिए भी रामबाण औषधि मानी जाती है | अब आइये जानते है इसके सेवन से होने वाले लाभ के बारे में |

कुछ अनसुने लाभ

पाचन शक्ति को बढ़ाने के लिए उपयोगी है

पतंजलि दिव्य गैसहर चूर्ण में अजवायन, काली मिर्च, हरड़, जीरा और हींग जैसे घटक पाए जाते है | जो हमारे पेट में जमा अम्ल को खत्म करके हमारी पाचन शक्ति को मजबूत बनाने में हमारी बहुत मदद करते है | हमारे गलत खानपान के कारण ही हमारा पाचन तंत्र खराब हो जाता है | जिसकी वजह से हमें पेट दर्द व गैस जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है | इसीलिए इन सभी समस्याओं को देखकर ही दिव्य गैसहर चूर्ण का निर्माण किया गया है | जिसके सेवन के बाद हमारे शरीर को बहुत जल्दी आराम मिल जाता है | आपको अपने पाचन तन्त्र को मजबूत बनाने के किये इसका सेवन रोजाना सुबह व शाम करना चाहिए |

गैस की समस्या को जड़ से खत्म करता है

पेट में गैस बनने की समस्‍या एक आम समस्‍या है | लगभग हर व‍यक्ति के शरीर में गैस बनती है। गैस, डकार या गुदा मार्ग से निकलती है | गुदा मार्ग से निकलने वाली गैस को गैस पास करना यानि फर्टिंग कहते हैं | गैस की समस्‍या पाचन शक्ति में खराबी या कब्ज के कारण अधिक होती है | अगर आप भी इसी समस्या के शिकार है | तो आपको नियमित दिव्य गैसहर चूर्ण का सेवन करना चाहिये | क्यूकि इसमें पाए जाने वाले तत्व हमारे पेट में जमा अम्ल को साफ़ करके स्वस्थ बनाते है | अगर आप इसका नियमित सेवन करते है | तो आपको कभी भी इस समस्या से जूझना नही पड़ेगा

  • दिव्य गैसहर चूर्ण को ऐसी जड़ी-बूटियों से मिलकर बनाया गया हैं | जो कब्ज और दस्त दोनों की रोकथाम के लिए सबसे अच्छी आयुर्वेदिक औषधि मानी जाती हैं
  • पतंजलि दिव्य गैसहर चूर्ण का सेवन करने से हमें भोजन की पचाने की शक्ति में भी बढ़ोतरी होती है | यह चूर्ण एसिडिटी और ह्रदय में जलन जैसी बिमारियों की रोकथाम करने में भी बहुत उपयोगी होता हैं

कैसे करे इसका पतंजलि दिव्य गैसहर चूर्ण का सेवन

पतंजलि दिव्य गैसहर चूर्ण का एक चम्मच दिन में दो बार सेवन करने की सलाह दी जाती हैं | इसका सेवन दिन में दो बार खाना खाने के बाद या जब गैस की तकलीफ हो उस समय करना चाहिए | इसे गर्म पानी के साथ खाना चाहिए | इसका सेवन नियमित रूप से करना चाहिए | इसके सेवन से शरीर को कोई दुष्प्रभाव नही होता है | गर्भबती महिलाएं और स्तनपान कराने वाली माताएं भी इसका सेवन कर सकती हैं |

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.