दिव्य बला तेल के फायदे

दिव्य बला तेल के अस्थमा में लाभ – Benefits Of Divya Bala Tail In Hindi

दवाइयाँ

दिव्य बला प्रकर्तिक जड़ी बूटियों के द्वारा बनाया गया एक लाभकारी तेल है इस तेल के द्वारा आप अस्थमा, सर्दी जुकाम, बुखार व प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने का काम करता है | इस तेल का सबसे अच्छा असर अस्थमा रोगियों पर देखा गया है अस्थमा श्वसन से जुड़ा एक रोग होता है जिसके कारण मरीज के श्वास नलियों में सूजन आ जाती है और मरीज को सांस लेने में दिक्कत महसूस होने लगती है |


लोग अधिकतर धुम्रपान के कारण इस रोग से ग्रस्त हो जाते है और वैसे कई बार यह रोग किसी एलर्जी के कारण यानी कि धूल की वजह से भी आपको अपनी गिरफ्त में ले लेता है | यदि आप भी कुछ इसी प्रकार की परेशानी से परेशान है तो आप घर पर ही इस परेशानी का इलाज इस तेल के माध्यम से कर सकते है दोस्तों आइये जानते है इस तेल के बारे में विस्तार से…

इस तेल में मिलाई जाने वाली जड़ी बूटियां :

  • दशमूल
  • लौंग
  • पलाश
  • चित्रकमूल
  • हिंग
  • देवदारु
  • बाला
  • रसना
  • गिलोय
  • इलाइची
  • रक्त चंदन
  • तुलसी
  • कस्तूरी
  • पलाश
  • कपूर
  • हरेनू
  • सरला
  • यष्टिमधु
  • अतिबला
  • नागकेसर व जायफल

जैसी व और भी कई गुणकारी जड़ी बूटियों को मिलाया जाता है जिसके सेवन से आपको पोटेशियम, फास्फोरस, राइबोफ्लैविविन, नियासिन और विटामिन ए, डी और बी 12 व एंटी-ऑक्सिडेंट, रोगाणुरोधी, एंटी-इंफ्लेमेटरी, संक्रामक विरोधी, व एंटी-क्लोटिंग जैसे तत्व मिलते है | जो आपके शरीर को स्वस्थ बनाने में एक अहम् भूमिका निभाते है तो आइये जानते इस तेल के लाभ के बारे में…

दिव्य बला तेल के फायदे :

प्लीहा रोग को ख़त्म करता है यह तेल –

प्लीहा रोग को तिल्ली के नाम से भी जाना जाता है इस रोग में मरीज के पेट में स्थित प्लीहा यानि तिल्ली बढ़ने लगती है यदि इस बीमारी का सही समय पर इलाज न कराया जाये तो इस रोग से पीड़ित व्यक्ति लिवर रोग व कैंसर जैसी बीमारी का शिकार हो सकता है | यदि आप भी कुछ इसी प्रकार की समस्या से परेशान है तो आपको पंतजलि दवा निर्मित बला तेल का सेवन करना चाहिए | इस प्रकर्तिक तेल में पाए जाने वाले तत्व मरीज की तिल्ली को स्वस्थ बनाकर सही रूप से कार्य करने में मदद करते है |

अस्थमा रोग जड़ से मिटाता है यह तेल –

अस्थमा जैसी बीमारी में पीड़ित को सांस लेने में दिक्कत होने लगती है, इस रोग की मुख्य वजह धुम्रपान, धुल, वायु प्रदुषण, दवाईयां व अधिक तनाव को माना जाता है | अस्थमा की बीमारी पहले अधिक उम्र के व्यक्तियों में देखी जाती थी लेकिन आज के इस प्रदूषण के दौर में कई युवा भी इस रोग से ग्रस्त है | यदि आप भी इस रोग से पीड़ित है और जल्द से जल्द इस बीमारी से छुटकारा पाना चाहते है | तो आपको दिव्य बला तेल का सेवन करना चाहिए यह तेल आपके फेफड़ों में मौजूद गंदगी को साफ़ करने का काम करता है | जो अस्थमा जैसी बीमारी को ख़त्म करने में लाभकारी साबित होता है |

बुखार ठीक करता है यह तेल –

बुखार जैसी समस्या को आम समस्या माना जाता है यह परेशानी मौसम बदलने, एलर्जी के कारण, गलत खानपान व संक्रमण के कारण भी आप बुखार जैसी समस्या के शिकार हो जाते है | यदि आप बहुत जल्दी जल्दी बीमार पड़ते है तो यह केवल प्रतिरोधक क्षमता की कमजोरी के कारण होता है प्रतिरोधक क्षमता की कमी के कारण शरीर में आने वाले दूषित तत्व शरीर से बहार नही जा पाते है | जिसके कारण आप बीमार हो जाते है यदि आप भी आये दिन बीमार होते रहते है तो आपको पंतजलि दिव्य बला तेल का सेवन करना चाहिए | यह तेल आपके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता बढ़ने का काम करता है और आपके शरीर को स्वस्थ बनाता है |

जोड़ों के दर्द में लाभकारी है यह तेल –

जोड़ो में दर्द जैसी समस्या को लेकर कई युवा व बुजुर्ग परेशान रहते है क्योंकि यह रोग आपकी दिनचर्या में बहुत बुरा प्रभाव डालती है | यह परेशानी चोट लगने व गठिया के कारण आपको परेशान करती है | इस परिस्तिति में आपके जोड़ो के कार्टिलेज टूट जाते है | जिसकी वजह से आपको दर्द होने लगता है यदि आप जोड़ों के दर्द से परेशान है और इस समस्या का घर वैठे इलाज चाहते है तो आप दिव्य बला तेल के द्वारा अपनी इस समस्या को आसानी से ख़त्म कर सकते है |

इस तेल को सेवन करने का तरीका –

रोगों से पीड़ित होने पर आपको इस तेल का सेवन दिन में सिर्फ एक बार यानि रात को भोजन के बाद गुनगुने पानी के साथ करना चाहिये | आपको सिर्फ एक छोटा चम्मच तेल का ही सेवन करना चाहिए | आप इस तेल का सेवन अपने पाच साल से अधिक बच्चे को भी करवा सकते है |

इस तेल के शरीर पर होने वाले नुकसान –

इस तेल का सेवन यदि अधिक मात्रा में किया जाये तो आपको इससे उल्टी दस्त व चक्कर जैसी परेशानी का समाना करना पड़ सकता है | इसीलिये जब भी इस दवा का सेवन करे तो पैक पर दी हुई सावधानी के साथ ही करे जिससे आपकी सेहत जल्दी स्वस्थ हो सके | गर्भवती महिला व स्तनपान करवाने वाली महिला को इस दवा का सेवन डॉक्टर की सलाह से करना चाहिए |

Tagged
MANVENDRA
HEALTH BLOGGER AND DIGITAL MARKETER AT SOFT PROMOTION TECHNOLOGIES PVT LTD

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *