भृंगराज तेल के लाभ हानि व बनाने की विधि – Benefits Of Bhringraj Oil in Hindi

जड़ी बूटी

भृंगराज तेल भारत ही नही पुरे विश्व में सबसे अधिक बिकने वाला एक असरदार आयुर्वेदिक तेल है | इस तेल को भृंगराज नामक पौधे के द्वारा निकाला जाता है | यह पौधा भारत के साथ साथ पुरे विश्व में पाया जाता है | यह पौधा आपको अधिकतर दलदल वाली जगह पर आसानी से मिल जायेगा है | यह पौधा आपके सफ़ेद बाल, बालों का झड़ना, सिरदर्द और मानसिक कमजोरी जैसी समस्याओं के इलाज में आपकी काफी मदद करता है | यदि भृंगराज तेल का नियमित रूप से प्रयोग किया जाये | तो इसके द्वारा आप अपनी स्मरण शक्ति को भी बढ़ा सकते है |

 दोस्तों यदि आप भी अपने बालों से जुडी किसी समस्या से ग्रस्त है, और अपनी परेशानी का इलाज जल्द से जल्द करना चाहते है |तो दोस्तों आइये जानते है भृंगराज तेल के प्रयोग से लाभ…

भृंगराज तेल के प्रयोग से लाभ :

बालों की रूसी की समस्या को जड़ खत्म करता है –

पर्यावरण प्रदूषण, शारीरिक गंदगी व खानपान के कारण भी आपको रूसी जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है | यदि आप भी कुछ इसी प्रकार की समस्या से परेसान है | और इस परेसानी के कारण आपको कई प्रकार की दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है |

तो आपको भृंगराज तेल के द्वारा रोज रात को सोने से पहले मालिश करनी चाहिये | मालिश करने से आपके सिर में जमा रूसी पूरी तरह से खत्म होने लगती है | आपको मालिश करने से पहले भृंगराज तेल को थोडा गुनगुना कर लेना चाहिये |

कम उम्र में बाल सफेद होने से बचाता है –

कई बार देखा जाता है, पोषण की कमी के कारण कम उम्र में बच्चों के बाल सफ़ेद होने लगते है | पहले यह समस्या केवल अधिक उम्र के व्यक्तियों में ही देखी जाती थी | लेकिन आज कल यह समस्या आम होती जा रही है | यदि आप या अपने बच्चे के सफ़ेद बालों को लेकर चिंतित है |

तो आप भृंगराज तेल के द्वारा अपने बच्चों की इस समस्या को हमेशा के लिए खत्म कर सकते है | इस तेल में कई प्रकार के एंटीऑक्सीडेंट व खनिज तत्व पाए जाते है, जो आपके सफ़ेद बालों को हटाकर नये काले बालों को जन्म देने लगते है | सफ़ेद बालों की समस्या को खत्म करने के लिए आपको इस तेल का प्रयोग सात महीनों तक करना चाहिये |

बालों का झड़ना रोकता है –

बालों के झड़ने की समस्या शरीर में वात के बढने की वजह से उत्पन्न होती है | वात आपके पित्त से जुड़ा हुआ होता है, जिसकी अधिकता के कारण बाल झड़ने लगते है | कभी कभी पोषण की कमी भी बालों के झड़ने की वजह बनने लगती है | यदि आप बाल झड़ने जैसी समस्या से परेशान है, और आप इस परेशानी को जल्द से जल्द खत्म करना चाहते है |

तो आपको नियमित रूप से भृंगराज तेल का प्रयोग करना चाहिये | यह तेल बालों की जड़ से होकर आपके रक्त संचार को स्वस्थ बनाने का कार्य करता है | जिससे आपके शरीर में वात की अधिकता व बालों में पोषण जैसी समस्या पूरी तरह खत्म हो जाती है |

फंगल संक्रमण की समस्या को ठीक करता है –

कई बार मौसम के बदलाव व गंदगी के कारण आपकी त्वचा फंगल संक्रमण से प्रभावित हो जाती है | यदि फंगल संक्रमण का सही समय पर उपचार न कराया जाये, तो इस संक्रमण को गंभीर रूप लेने में समय नहीं लगता है | यदि आप भी किसी फंगल संक्रमण से प्रभावित है |

इसमें आप भृंगराज तेल से अपनी इस समस्या को जड़ से खत्म कर सकते है | इस तेल में पाए जाने वाले रोगाणुरोधी गुण आपकी इस समस्या को बहुत आसानी से खत्म कर देते है | आपको इस तेल का प्रयोग एक रुई को तेल में भिगों कर प्रभवित हिस्से पर लगाना चाहिये |

भृंगराज तेल दिमागी क्षमता को बढ़ता है –

यदि आप कमजोर दिमाग की वजह से अपनी जरुरी चीजों की याद रखना भूल जाते है या फिर आपको पढाई करने में दिक्कत महसूस हो रही है | अपनी इस परेशानी को कुछ ही समय में आसानी से खत्म कर सकते है | आपको नियमित सोने से पहले भृंगराज तेल के द्वारा अपने सिर की मालिश करना चाहिये |

मालिश करने से यह तेल आपके बालों की जड़ के द्वारा आपके मस्तिष्क में प्रवेश करने लगता है | जो बाद में आपके मस्तिष्क में रक्त प्रवाह को बेहतर बनाता है | जिससे आपके दिमाग में सही रूप से रक्त संचार होने लगता है और आपकी दिमागी क्षमता मजबूत होने लगती है |

भृंगराज तेल के प्रयोग करने की विधि –

भृंगराज तेल का प्रयोग आपको मालिश के तौर पर करना चाहिये | मालिश के रूप में प्रयोग करने से हमारे शरीर की कई समस्या को आराम मिलता है | आप चाहे तो इस तेल में नारियल का तेल भी मिलाकर प्रयोग में ला सकते है |

भृंगराज तेल बनाने का तरीका –

भृंगराज तेल बनाने के लिए सबसे पहले भृंगराज जडीबुटी के साथ साथ इसमें नागरमोथा, शिकाकाई, अमरबेल, जटामांसी, आवंला व जैतून का तेल प्रयोग किया जाता है | सबसे पहले एक बर्तन में पानी को गर्म करे फिर उसमे जैतून के तेल को छोड़कर बाकि जडीबुटी को मिलाये | इसको जब तक गर्म करे जब तक यह पूर्णरूप से काढ़े में परिवर्तित न हो जाये | काढ़ा बनाने के बाद इसमें जैतून के तेल को मिलाये | व नियमित रूप से प्रयोग में लाये | कई नामी गिरामी कंपनियां इस जडीबुटी के द्वारा तेल का निर्माण करती है |

भृंगराज तेल के नुकसान –

भृंगराज तेल के प्रयोग से आपको किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नही होता है | हो सकता है | इस तेल के प्रयोग से आपको छींक आना, नाक व आखों में जलन महसूस होने लगें | इसके आलावा इस तेल के अभी तक किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नही देखे गये है | यदि आप इस लेख से जुड़े किसी सवाल को हमसे पूछना चाहते है | तो आप हमारे कमेन्ट बॉक्स में हमे जरुर बताये |

और पढ़े - बालों की रूसी का सम्पूर्ण व असरदार इलाज – Dandruff Treatment In Hindi
Tagged त्वचा रोग
MANVENDRA
HEALTH BLOGGER AND DIGITAL MARKETER AT SOFT PROMOTION TECHNOLOGIES PVT LTD

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *