बैद्यनाथ अभयारिष्ट सिरप के पाचन से जुड़े फायदे

1
9
benefits of Baidyanath Abhayarishta in hindi

बैद्यनाथ अभयारिष्ट जड़ी बूटियों द्वारा बनाया गया एक आयुर्वेदिक सिरप है | इस सिरप के द्वारा आप बवासीर, कब्ज, एसिडिटी व पाचन से जुडी सभी समस्याओं का इलाज बहुत आसानी से कर सकते है | यह सभी समस्या केवल लोगों का फ़ास्ट फ़ूड के प्रति बढ़ते रुझान के कारण व अधिक धुम्रपान करने की वजह से ही जन्म लेती है | इन सब के अधिक सेवन से आपके पाचन पर बहुत बुरा असर पड़ता है |

पाचन तंत्र ख़राब होने की वजह से आपको बवासीर जैसी बीमारी का सामना करना पड़ता है | यदि आप भी कुछ इसी प्रकार की बीमारियों से परेशान है और आप जल्द से जल्द घर पर ही इस समस्या का उपचार चाहते है | तो आपको बैद्यनाथ द्वारा निर्मित इस दवा का सेवन करना चाहिये | इस दवा को कई प्रकार की लाभकारी जड़ीबूटियों के मिश्रण के द्वारा तैयार किया जाता है | जो आपकी इस प्रकार बीमारियों को दूर करने में आपकी बहुत मदद करती है | इसी कारण यह दवा अन्य प्रोडक्ट के मुकाबले अधिक खरीदी जाती है |

दवा में सम्मिलित जड़ी बूटियां :

  • हरीतकी
  • मुनक्का
  • गोखरू
  • महुआ के फूल
  • बायबिडंग
  • गुड़
  • इन्द्रायण की जड़
  • धनिया
  • चव्य
  • निसोत
  • दस्तीमूल
  • सौंफ
  • सौंठ व मोचरस

जैसी गुणकारी जड़ीबूटीयों को मिलाकर ही इस सिरप को बनाया जाता है | इस दवाई को बनाते समय इसमें किसी भी प्रकार का कोई केमिकल प्रयोग नही किया जाता है | बल्कि इस दवा को बनाते समय कई प्रकार की सावधानियां बरती जाती है | इसी वजह से यह सिरप आपकी परेशानी को तुरंत ख़त्म करने में लाभकारी साबित होता है | तो आइये जानते है, इस सिरप के सेवन से होने वाले लाभ के बारे में…

बैद्यनाथ अभयारिष्ट के फायदे :

बवासीर की समस्या में लाभदायक है –

बवासीर जैसा रोग केवल पाचन तंत्र की खराबी के कारण ही जन्म लेता है | बवासीर चार प्रकार का होता है इस रोग के कारण आपके गुदा की नशों मे तनाव व सुजन आ जाती है | जिसके कारण आपको मल करते समय असहनीय दर्द व रक्त निकालने जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है | यदि आप भी कुछ इसी प्रकार की समस्या से ग्रस्त है तो आपको अपनी इस समस्या के उपचार के लिए बैद्यनाथ अभयारिष्ट सिरप का सेवन करना चाहिये | यह सिरप आपकी बवासीर जैसी समस्या को आसानी से खत्म कर देता है |

कब्ज को जड़ से मिटाती है –

कब्ज की परेशानी केवल पाचन तंत्र के ख़राब होने के बाद आती है इस समस्या में आपको मलत्याग व मल का सामान्य से कम आने जैसी समस्या होने लगती है | कब्ज के कारण आपकी आँतों में भी परिवर्तन आ जाता है जिसके कारण आपको अपना पेट भरा भरा महसूस होता है | यदि आप भी कब्ज जैसी समस्या से परेशान है और आपको भी मलत्याग में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है | तो आप बैद्यनाथ द्वारा निर्मित इस सिरप का सेवन करके अपनी इस बीमारी का घर बैठे आसानी से उपचार कर सकते है | यह दवाई आपके पाचन तंत्र में मौजूद गंदगी को पूरी तरह साफ़ करके पाचन तंत्र को सुचारू रूप से कार्य में अपक मदद करती है | जिससे आपकी कब्ज जैसी समस्या पूरी तरह ख़त्म हो जाती है |

भूख बढ़ाने का कार्य करती है –

भूख न लगने की समस्या से आज कल कई युवा परेशान है कई माता पिता भी अपने बच्चों की इसी समस्या से परेशान रहते है | यदि बचपन में ही बच्चों को सम्पूर्ण आहार न मिल पाए तो इससे बच्चे के शारीरिक विकास पर बहुत बुरा असर पड़ता है | यदि आप भी कुछ इसी प्रकार की समस्या से ग्रस्त है या फिर अपने बच्चों को लेकर चिंतित है | तो आपको व अपने बच्चे को बैद्यनाथ अभयारिष्ट सिरप का सेवन करवाना चाहिये | इसमें मौजूद तत्व आपकी व आपके बच्चे के पाचन को स्वस्थ बनाकर भूख बढ़ाने का कार्य करती है | भूख बढ़ाने के लिए आपको इस दवा का सेवन खाली पेट सुबह शाम करना चाहिये |

पेट में गैस की समस्या को खत्म करती है –

पेट में गैस की समस्या भोजन के पाचन के दौरान होती है यह समस्या माइक्रोबियल ब्रेकडाउन के कारण आपको परेशान करती है | कई बार पेट में गैस बनाने के कारण आपको पेट दर्द, कब्ज, एसिडिटी, बुखारदस्त जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है | यदि आप भी रोजाना इसी प्रकार की समस्या से परेशान रहते है तो आप बैद्यनाथ अभयारिष्ट सिरप के द्वारा अपनी इस समस्या को आसानी से ख़त्म कर सकते है | यह सिरप आपके पाचन तंत्र के साथ साथ आपकी आंतों में मौजूद गंदगी को भी ख़त्म करने का काम करती है |

इस दवा को सेवन करने का तरीका –

बैद्यनाथ द्वारा निर्मित इस सिरप का सेवन आपको नियमित सुबह शाम खाली पेट केवल दो चम्मच करना चाहिये | इस दवाई के सेवन के बाद आपको किसी भी प्रकार का कोई धुम्रपान व बाहरी भोजन का सेवन बिलकुल भी नही करना चाहिये क्योंकि सिरप के सेवन के बाद धुम्रपान व बाहरी भोजन करने से इस सिरप का असर बिलकुल ख़त्म हो जाता है |

इस सिरप से शरीर पर होने वाले दुष्परिणाम –

अगर इस दवा का सेवन नियमित मात्रा में किया जाये तो आपको कभी भी इस दवा के द्वारा किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नही होगा | यदि इस सिरप को अधिक मात्रा में प्रयोग किया जाये तो आपको दस्त व उल्टी जैसी समस्या का सामना करना पड़ सकता है | पांच साल से कम उम्र के बच्चे, गर्भवती महिला व प्रसव के तुरंत बाद महिला को इस सिरप का सेवन बिलकुल भी नही करना चाहिये |

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here