अशोकारिष्ट के प्रयोग से होने वाले लाभ – Benefits Of Ashokarishta in Hindi

0
109

अशोकारिष्ट जडीबुटी अशोक नामक पेड़ की छाल को निकालकर बनाई जाने वाली एक आयुर्वेदिक औषधि है | जो शरीर के कई अंगों के लिए लाभकारी व महिलायों के माहवारी यानि मासिक धर्म के समय बहुत ही लाभकारी साबित होती है | इस जड़ी बूटी के द्वारा कई प्रशिद्ध कम्पनियां कई प्रकार के प्रोडक्ट तैयार करती है जो निम्न प्रकार हैं –

  • डाबर अशोकारिष्ट
  • दिव्य अशोकारिष्ट
  • बैद्यनाथ अशोकारिष्ट

यह औषधि महिलायों की कई प्रकार की परेशानी को जल्दी व आसानी से खत्म करने में मदद करती है | यदि आप मासिक धर्म व कमजोरी जैसी किसी समस्या से ग्रस्त है और बिना डॉक्टर की मदद से अपने शरीर को स्वस्थ व चुस्त बनाना चाहती है | तो अशोकारिष्ट का प्रयोग आपके लिए बहुत लाभकारी रहता है |

अशोकारिष्ट क्या है ?

जैसा की आपको मैंने पहले ही बताया है कि अशोक के पेड़ की छाल के द्वारा ही अशोकारिष्ट आयुर्वेदिक औषधि का निर्माण किया जाता है | सबसे पहले अशोक के पेड़ की छाल को निकालकर इसको गुनगुने पानी से साफ किया जाता है | फिर इस छाल को सुखाकर अच्छी तरह पीसकर छान लिया जाता है | जिससे इस जडीबुटी में किसी प्रकार की कोई धुल मिट्टी न रह जाये |

अब इस जडीबुटी को अन्य जडीबुटीयों के साथ मिलाकर कई प्रकार की दवा को बनाया जाता है | अशोकारिष्ट में कई प्रकार के एंटी ऑक्सीडेंट व एंटी-बैक्टीरियल के साथ साथ कई प्रकार के विटामिन पाए जाते है | जो शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने का कार्य करते है, इसी वजह से इस जडीबुटी के द्वारा कई प्रकार के प्रोडक्ट ने बाज़ार में अपनी एक अलग ही जगह बनाई हुई है | तो दोस्तों आइये जानते है अशोकारिष्ट के द्वारा होने वाले लाभ के बारे में विस्तार से –

इसके प्रयोग से शरीर को होने वाले लाभ :

अशोकारिष्ट के सेवन से महिला को स्वास्थ से जुड़े बहुत लाभ मिलते हैं | इस दवा के सेवन से शरीर को एक नई उर्जा व ताकत मिलती है, जो हमारे शरीर को अधिक समय तक काम करने व स्वस्थ रखने में बहुत ही मदद करती है | तो आइये जानते हैं इस आयुर्वेदिक औषधि के सेवन से होने वाले स्वास्थवर्धक फायदे –

भारी मासिक धर्म में लाभकारी –

मासिक धर्म की समस्या के समय आपके हार्मोन्स में भारी बदलाव आने लगता है | यदि आपको मासिक धर्म के समय अधिक रक्त स्त्राव की समस्या का सामना करना पड़ रहा है | जिससे आपके शरीर में कमजोरी व सुस्ती छाई रहती है और आपको पेट दर्द जैसी समस्या का सामना करना पड़ रहा है | तो आप इस आयुर्वेदिक दवा के सेवन द्वारा अपनी इस समस्या को आसानी से खत्म कर सकते है | अशोकारिष्ट में पाए जाने वाले एंटी-बैक्टीरियल तत्व आपके हार्मोन्स में संतुलन बनाये रखते है और मासिक धर्म के समय अधिक रक्त स्त्राव की समस्या को खत्म करते है |

मासिक धर्म की समस्या में इस प्रकार करे सेवन 

अशोकारिष्ट का सेवन मासिक धर्म में – आपको पीरियड्स के समय अधिक रक्त स्त्राव की समस्या होने पर आपको अशोकारिष्ट चूर्ण के साथ थोडा शहद मिलाकर खाली पेट रात में सेवन करने से बहुत लाभ मिलता है |

असंतुलित हार्मोन को ठीक बनाता है –

असंतुलित हार्मोन के कारण महिला के चेहरे पर दाग धब्बे व पीरियड्स में जल्दी व देरी होना, पर्याप्त नींद न आना, अधिक थकान व मोटापे की समस्या का सामना करना पड़ता है | तो आप इस औषधि के द्वारा आप अपनी परेशानी को जल्दी व आसानी से खत्म कर सकती है | इस औषधि में एंटी ऑक्सीडेंट, एस्ट्रोजनिक तत्व व फाइबर जैसे तत्व मौजूदहोते है | जो आपके शरीर में असंतुलित हार्मोन को ठीक करने में अपक बहुत मदद करते है |

असंतुलित हार्मोन में करे इस प्रकार सेवन 

अगर अशोकारिष्ट औषधि के साथ गाय के देशी घी को मिलाकर सेवन में प्रयोग किया जाये | तो आपकी असंतुलित हार्मोन की समस्या को आसानी से खत्म किया जा सकता है | आपको इसका प्रयोग को खाली पेट गुनगुने पानी के साथ करना चाहिये |

पाचन तंत्र के लिए लाभदायक है –

यदि आपको नियमित कब्ज गैस व एसिडिटी जैसी समस्या का सामना करना पड़ता है | यह सभी समस्या केवल पाचन तन्त्र में खराबी के कारण ही उत्पन्न होती हैं | पाचन तंत्र फ़ास्ट फ़ूड व अधिक शराब पीने के कारण भी खराब हो जाता है | यदि आप भी नियमित इसी प्रकार की समस्या का सामना कर रहे है | तो अशोकारिष्ट के द्वारा अपनी इस परेशानी को जड़ से खत्म कर सकते है |

पाचन से जुडी समस्या मे करे इस प्रकार सेवन 

पाचन तंत्र से जुडी परेशानी को ठीक करने के लिए आपको अशोकारिष्ट का सेवन गुनगुने पानी व गर्म दूध के साथ करना चाहिये | जिससे यह आपके लीवर में मौजूदगंदगी को खत्म करके पाचन से जुडी समस्या को ठीक करने में मदद करता है |

इसके सेवन से शरीर पर होने वाले नकारात्मक प्रभाव :

अशोकारिष्ट के सेवन शरीर को किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नही होता है | लेकिन यदि आप इस दवा का सेवन अधिक मात्रा में करते है | तो आपको कई समस्या का सामना करना पड़ सकता है जिनमे से कुछ निम्न प्रकार है –

  • सर दर्द |
  • चक्कर आना |
  • उल्टी व दस्त |

जैसी अन्य समस्या का सामना करना पड़ सकता है | इसीलिये आपको इस दवा की नियमित मात्रा का ही सेवन करना चाहिये इससे आपको इस दवा के द्वारा किसी भी प्रकार का कोई नुकसान न हो पाए | यदि आप इस दवा से जुड़े किसी सवाल को हमसे पूछना चाहते है, तो हमारे कमेंट बॉक्स में हमे जरुर बातये |

और पढ़े - बीमारी में व सामान्य सर्जरी के बाद खानपान – Diet Plan For Surgery And Disease In Hindi

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.