जाने हार्ट एंजियोप्लास्टी के बारे में – Angioplasty In Hindi

0
109
Benefits Of Angioplasty In Hindi

एंजियोप्लास्टी आमतौर पर ब्लाक हो चुकी दिल की धमनी को खोलने का एक तरीका होता है|  हमारे ह्रदय में मौजूद कोरोनरी धमनियां दिल की मांसपेशियों को ऑक्सीजन और पोषक तत्‍वों के साथ ही शरीर में रक्त की पूर्ति करती है | अगर इनमे एस्थ्रोस्क्लोरोसिस के कारण किसी प्रकार से कोई रूकावट आ जाती है तो इस वजह से हमारे हृदय की मांसपेशियों में रक्त की कमी होने लगती है |

जिससे एन्जाइन का निर्माण शुरू हो जाता है | अगर सही समय पर इस समस्या का उपचार ना कराया जाये तो इसके कारण मनुष्य को कई प्रकार की समस्या से गुजरना पड़ सकता है| साथ ही साथ जीवन जाने का खतरा भी हो सकता है | इसीलिए आज हम आपको  एंजियोप्लास्टी से जुडी कुछ जरुरी बातों को बताने जा रहे है | क्रपया इस लेख को पूरा पढ़े |

आइये जानते है एंजियोप्लास्टी के बारे में विस्तार से-

कब करायी जाती है एंजियोप्लास्टी सर्जरी

जैसा कि हम आपको बता चुके हैं की एस्थ्रोस्क्लोरोसिस के कारण हमारे ह्रदय की धमनियों में ब्‍लॉकेज की समस्या आने लगती है| जिसके कारण हमारे शरीर को कई प्रकार की समस्या का सामना करना पड़ता है | जिन रोगियों की हृदय कोरोनरी समस्‍याएं गंभीर हो जाती हैं | या फिर चिकित्सा भी काम नही आती है तो उन मरीजो की इस प्रकार की समस्या के उपचार के लिए कोरोनरी एंजियोग्राम नामक सर्जरी की जाती है | जिसमें मनुष्य के ह्रदय की धमनी में ट्यूब के द्वारा रक्त प्रवाह किया जाता है एवं ट्यूब कैथेटर के माध्यम से डाई डाली जाती है | इसके बाद इसके कई एक्स-रे भी लिए जाते है |

अब आइये जानते है कैसे होती है एंजियोप्लास्टी ?

जाने कैसे की जाती है स्टंट सर्जरी

हमारे रक्‍त धमनियों के सिकुड़ जाने के कारण हमारे सीने में दर्द या हृदय आघात होने की समस्या शुरू हो जाती है | इसी समस्या के उपचार के लिए एंजियोप्लास्टी सर्जरी की जाती है | इसको बैलून एंजियोप्लास्टी के नाम से भी जाना जाता है | इसके माध्यम से हमारे ह्रदय में रक्त प्रवाह को बेहतर बनाया जाता है | एंजियोप्लास्टी के कैथेटर के आखिर में लगे बैलून का उपयोग रक्‍त धमनी खोलने के लिए किया जाता है | यह उपकरण स्टेंट,  तार की नली जैसा छोटा होता है |

इस तकनीक का प्रयोग कुछ इस प्रकार किया जाता है | सबसे पहले एक पिचके हुए बैलून कैथेटर को गाइड वायर के खाली सिरे पर रखकर  हमारे शरीर के किसी भी अंग द्वारा शरीर में प्रवेश कराया जाता है | इसके बाद इसका सामान्य रक्तचाप पर इसको एक निश्चित आकर में फुलाया जाता है | जिससे हमारे धमनी में जमा वसा को खत्म करने में मदद मिलती है | इसके द्वारा हमारे रक्त धमनियों को बेहतर प्रवाह के लिए खोल दिया जाता है | जिससे हमारे ह्रदय में सही मात्रा में रक्त का प्रवाह हो सके | फिर अंत में इस बैलून को पिचकाकर कैथेटर द्वारा बाहर खीच लिया जाता है |

एंजियोप्लास्टी सर्जरी के बाद हमारे शरीर को इस प्रकार की कोई परेशानी कभी नही होती है | इसीलिए डॉक्टरों द्वारा इस सर्जरी की सलाह दी जाती है | जिससे हमारे धमनियों के ब्‍लॉकेज की समस्या को जड़ से खत्म किया जा सके |

क्यों जरूरी होती है

ह्रदय हमारे शरीर का मुख्य अंग होता है | वैसे तो शरीर हर अंग मुख्य होता है | लेकिन किसी कारणवश हमारे अंगो में रक्त की कमी हो जाये  तो इसकी वजह से हमारे शरीर को कई प्रकार की परेशानी का सामना करना पड़ सकता है | इसी तरह अगर हमारे ह्रदय में रक्त की कमी हो जाये तो इसकी वजह से हमारे शरीर को कई प्रकार के नुकसान हो सकते है | इसीलिए हमारे ह्रदय को स्वस्थ बनाने के लिए एंजियोप्लास्टी नामक सर्जरी की सहायता ली जाती है |

व्यक्ति की उम्र बढ़ने के साथ साथ हमारी धमनियां भी सिकुड़ने लगती है,  जिसके कारण हमारे ह्रदय में रक्त का प्रवाह कम हो जाता है और हमारे शरीर को कई प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है | ये समस्या कई बार दवा व कई उपचार के माध्यम से भी ठीक नही होती है | इसीलिए डॉक्टर एंजियोप्लास्टी की सलाह देते है| जिससे आपके हर्दय को स्वस्थ बनाया जा सके |

ह्रदय सर्जरी के बाद की सावधानी के बारे में

  • एंजियोप्लास्टी सर्जरी के बाद आपको संतुलित भोजन का सेवन करना चाहिये |
  • सर्जरी के कुछ समय तक किसी भी प्रकार का कोई भारी काम ना करे |
  • सर्जरी के बाद किसी भी प्रकार से धूम्रपान का सेवन बिलकुल ना करे |
  • फलो का सेवन या फिर जूस का सेवन करे |
  • अधिक तली हुई चीजो के सेवन से बचें |
  • कुछ समय तक किसी भी प्रकार का वयायाम या जिम ना करे एवं वजन उठाने से बचे |
  • अपने शरीर को तनाव मुक्त बनाने के लिए योगा करे |
  • किसी भी प्रकार की कोई समस्या होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे |

अगर आप भी इस प्रकार की कोई समस्या से ग्रसित है तो आपको ऊपर दी हुई सभी बातों को ध्यानपूर्वक पढना चाहिए और निजी डॉक्टर से भी सलाह जरुर ले|

अपनी इस समस्या के बारे में और पढ़े|

जाने एक्यूप्रेशर क्या है और एक्यूप्रेशर के लाभ के बारे में – Benefits Of Acupressure In Hindi

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.