हैजा का उपचार-Treatment Of Cholera in Hindi

0
164

हैजा जिसे कोलेरा (Cholera) भी बोला जाता है एक भयंकर बीमारी (Cholera Disease Information) है जो की पानी पीने से होती है हैजा (Cholera) का नाम सुनते ही कई बार भयानक चीजो का ख्याल आने लगता है, हैजा बीमारी (Cholera Disease) ज्यादातर गर्मी के अंत में या बरसात की शुरुआत में होती है यदि इसका इलाज (Cholera Treatment) समय पर नही किया गया तो यह रोग मृत्यु का कारण बन सकती है , यह बीमारी (Cholera Disease) बड़ी तेजी से बढ़ती है इसके जीवाणु हमारे शरीर में पानी या फिर खाने के द्वारा प्रवेश करते है यह बीमारी (Cholera Disease) गंदे स्थानों में रहने, अनहाईजैनिक खाना खाने , गंदा पानी पीने से व अधिक फ़ास्ट फ़ूड खाने से फैलती है |

हैजा का उपचार (Treatment Of Cholera)

हैजा के लक्षण- (Symptoms Of Haija)

अगर शुरुआती दौर में ही ध्यान दिया जाये तो हैजा के लक्षणों (Symptoms Of Cholera) को पहचाना जा सकता है अगर आप इन लक्षणों पर ध्यान दे तो हैजा की बीमारी (Cholera Disease) को पकड़ा जा सकता है |

हैजा के इन लक्षणों पर ध्यान दे- (Symptoms Of Cholera)

  • उलटी दस्त का होना हैजा  (Cholera) का कारण हो सकता है |
  • अनावश्यक व जरुरत से ज्यादा प्यास लगना |
  • व्यक्ति की अचानक से पेशाब बंद हो जाना |
  • रोगी देखते ही देखते अचानक से बीमार हो जाना |
  • व्यक्ति की आँखे भीतर की ओर धस जाना |
  • व्यक्ति के हाथ पैरो में अजीब सा दर्द होने लगता है |
  • शरीर ठण्डा पड़ने लगता है और बॉडी में पानी की मात्रा में कमी हो जाती है |

हैजा के उपचार- (Treatment Of Cholera)

  • 2 प्याज ले और उसका 1 कप में जूस निकाल कर उसे थोडा गर्म करके 1-1 घंटे के अन्तराल में हल्का नमक मिलकर पीना चाहिये |
  • 2 चम्मच सोंठ ले, 50 ग्राम ताजा बेल के गूदे और साथ में जायफल को मिला कर दिन में मरीज को 3-4 बार देना चाहिये |
  • 1 कप गुलाब जल में 1 निम्बू का रस और आधा चम्मच शक्कर को मिला कर लेने से फायदा मिलता है, इससे बॉडी में पानी की कमी नही होती है |
  • पुदीने के जूस को हर आधे घंटे पर लेते रहना चाहिये |
  • मरीज को आधे गिलास में 5 ग्राम फिटकरी को घोल कर देना चाहिये फायदा मिलेगा |
  • यदि मरीज को हैजा (Cholera Bacteria) के कारण जोड़ो में लगातार दर्द हो रहा हो
  • तो उसके शरीर पर राई का लेप लगाने से दर्द कम हो जायेगा |
  • लाल मिर्च के दाने को निकाल कर मिर्च के छिलके को पीस कर इसका पाउडर तैयार कर ले,
  • अब रोजाना इसे रोगी को शहद के साथ देने (Cholera Medication) से मरीज को फायदा मिलता है |

हैजा के रोकथाम के उपाय- (Haija Treatment)

  • हैजा रोग (Cholera Disease) से पीड़ित व्यक्ति को दुसरे अन्य व्यक्तियोंसे समुचित दूरी बनाकर रखनी चाहिये जिसे हैजा का रोग (Haija) लग चूका है उसके सारी वस्तुओ को संक्रमण मुक्त करना चाहिये अथवा उन वस्तुओ को जला देना भी एक विकल्प हो सकता है आस-पास के नालो अथवा जल युक्त गन्दे स्थानों को ब्लीचिंग पाउडर से संक्रमण मुक्त कर देना चाहिये |
  • सड़े गले और बासी खादय पदार्थो को खाने से बिलकुल बचना चाहिये इन खादय पदार्थो पर मक्खियों को बिलकुल भी न बैठने दे एहतियात के तौर पर रोगियों को सावर्जनिक स्थानों पर नही जाने देना चाहिये ऐसी अवस्था में दूध या पानी को उबालकर पीना चाहिये बाजारू खादय पदार्थो को खाते हुये जितना हो सके उतनी सावधानी बरते |

ओर पड़े – ( घेंघा रोग का घरेलु उपचार |)

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.