सर्दी-जुकाम व खाँसी की रोकथाम व इलाज

बदलते मौसम में सर्दी-जुकाम का होना बहुत ही साधारण सी समस्या है थोड़ी सी लापरवाही और डम्यून सिस्टम के कमजोर होने पर यह प्रोब्लम्स किसी को भी हो सकती है | सर्दियों के मौसम में जुकाम के अलावा खाँसी से आपके स्वास्थ को कठिनाईयों का सामना करना पड़ता   है | इनका इलाज करने के लिये एलोपेथिक दवाओ की मदद लेने से पहले उन दवाओ के दुष्प्रभाव उपेक्षित नही किये जा सकते है , इसके बजाय ऐसे बहुत सारे प्राकतिक घरेलु उपचार है जो बिना किसी आवंछित दुष्प्रभावो से आपका उपचार करते है जुकाम, खाँसी विषाणुओ ( वायरस ) द्वारा फैलाया जाने वाला संक्रमण है जो हमारी साँस प्रणाली के आगे वाले हिस्से को प्रभावित करता है |

सर्दी-जुकाम के कारण :

  • धूल धुँआ मिट्टी प्रदुषण बदलता मौसम आदि से एलर्जी होना |
  • ठण्डे से गरम् या एक दम गरम से ठण्डे में जाने के कारण |
  • वायरस तथा कभी बैक्टरिया के इन्फेक्शन होना, इत्यादी जुकाम के कारण हो सकते है |
  • एकदम ठण्डी चीजे खा लेना और इम्युनिटी पावर कम होना |

 इस रोग के लक्षण :

  • नाक बहना या नाक का बंद हो जाना |
  • सिरदर्द होना और बदन दर्द होना |
  • कभी-कभी हरारत होकर बुखार आ जाना |
  • छीके आना और गले में खिचखिच होना |

सर्दी का घरेलु उपचार :

  • 50 ग्राम भुने चने कपडे की पोटली में बांधकर रात में तवे पर गरम करके सूंघने पर नाक खुल जाती है इससे जुकाम में आराम मिलता है |
  • तुलसी और अदरक का थोडा सा रस निकालकर गरम करके गुनगुना रहने पर थोडा शहद मिलाकर लेना फायदेमंद है |
  • एक गिलास गरम दूध में चुटकी भर हल्दी एवं सौठ डालकर पीने से खाँसी, जुकाम में आराम मिलता है |
  • गले में खराश, खिच- खिच या खाँसी में व्योषादी वटी, लवंगादि वटी, तुरंत आराम देती  है |
  • हर्बल चाय भी सर्दी खासी व् जुकाम में बेहद फायदेमंद होती है |

खांसी जुकाम की रोकथाम के उपाय :

  • नाक व् मुह पर मास्क पहनना भी बेहतर उपाय है |
  • भीड़-भाड़ वाली जगहों जैसे मेले आदि में जाने से बचना चाहिये |
  • जुकाम- खाँसी से पीड़ित व्यक्तियों के संपर्क में ना आना |
  • पुरानी किताबे, अलमारी , कालीन आदि समय-समय पर साफ करते रहना |
  • बाइक आदि चलाते समय नाक एवं मुह पर रूमाल बांधना |

ओर पड़े – (साँस फूलने से होने वाली बीमारिया और उसके  निदान……)