Patanjali Giloy Ghan Vati

पंतजलि गिलोय घनवटी के लाभ व हानि – Benifits Of Patanjali Giloy Ghan Vati In Hindi

आयुर्वेद

पंतजलि गिलोय घनवटी क्या है ?

पंतजलि गिलोय घनवटी हमारे शरीर की कई समस्या का उपचार बहुत आसानी से कर देती है | गिलोय का पौधा बेल के आकर का होता है | पंतजलि गिलोय घनवटी को बनाने के लिए और कोई जड़ी बूटी को नही मिलाया जाता है | यह केवल इस लिए किया जाता है | जिससे हमारा शरीर स्वस्थ बन सके | पंतजलि गिलोय घनवटी, गिलोय के तने से के जूस से मिलाकर बनाई जाती है | यह एक आयुर्वेदिक दवा है | जो पंतजलि के द्वारा निर्मित की जाती है | इस दवा के द्वारा शरीर की कई समस्या का उपचार कराया जाता है | इसके सेवन से बैक्टीरिया और वायरस से संबंधित सभी समस्या जड़ से ख़त्म हो जाती है | अब आइये जानते है पंतजलि गिलोय घनवटी के फायदे के बारे में |


पंतजलि गिलोय घनवटी के लाभ

रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है पंतजलि गिलोय घनवटी

यदि आप प्रतिदिन किसी ना किसी समस्या के शिकार रहते है | या फिर आप कमजोरी के शिकार है | तो यह समस्या केवल रोग प्रतिरोधक क्षमता के कमजोर होने की वजह से आती है | अगर रोजाना इसका सेवन किया जाये | तो व्यक्ति की रोग प्रतिरोधक क्षमता में सुधार आने लगता है | क्यूकि पंतजलि गिलोय घनवटी के सेवन से हमारे शरीर का रक्त संचार सुधरने लगता है | जिससे व्यक्ति का शरीर स्वस्थ बनने लगता है |

रक्त साफ करने में फायदेमंद है पंतजलि गिलोय घनवटी

पंतजलि गिलोय घनवटी के सेवन से हमारे शरीर को काफी आराम मिलता है | यह हमारे शरीर के रक्त को शुद्ध बनता है | क्यूकि पंतजलि गिलोय घनवटी में पाए जाने वाले एंटी-ओक्सिडेंट और एंटी-बैक्टीरियल गुण हमारे शरीर के रक्त को साफ बनाते है | जिससे हमारे शरीर को कैंसर जैसी समस्या से छुटकारा मिल जाता है |

पिम्पल्स व चेहरे के दाग धब्बे को मिटाता है पंतजलि गिलोय घनवटी

यदि पंतजलि गिलोय घनवटी का सेवन प्रतिदिन किया जाये | तो इससे हमारे शरीर के साथ साथ हमारी त्वचा पर भी काफी असर पड़ता है | पंतजलि गिलोय घनवटी में पाए जाने वाले एंटी-बैक्टीरियल गुण हमारी त्वचा को मुलायम व सुंदर बनाने में हमारी बहुत मदद करता है |

यह यकृत की रक्षा करती पंतजलि गिलोय घनवटी

यकृत हमारे शरीर के महत्वपूर्ण अंग है | जिसका स्वस्थ रहना हमारे शरीर के लिए बहुत जरुरी है | इसिबात को ध्यान में रखकर पंतजलि ने पंतजलि गिलोय घनवटी का निर्माण किया है | जिससे हमारे यकृत को स्वास्थ बनाया जा सके | गिलोय घनवटी के एंटी-ओक्सिडेंट और एंटी-बैक्टीरियल गुण हमारे शरीर के साथ साथ हमारे यकृत को भी स्वस्थ बनाते है | जिससे हमारा शरीर स्वस्थ बन सके |

  • मधमेह को कम करने में मदद करती है |
  • शरीर की इम्युनिटी को बढाती है |
  • बुखार की समस्या में लीवर की रक्षा करती है |
  • शरीर की सुजन कम करने में लाभकारी होती है |
  • पुराने बुखार की समस्या को जड़ से ख़त्म करती है |
  • स्वाइन फ्लू जैसी समस्या में लाभकारी है |
  • शारीरिक कमजोरी व मानसिक कमजोरी को ख़त्म करती है |
  • हाथ-पैर में जलन की समस्या को दूर करती है |
  • रक्त में आक्सीज़न की मात्रा को नियंत्रित करती है |
  • यकृत से जुड़े सभी रोगों में लाभकारी है |

कैसे करे पंतजलि गिलोय घनवटी का सेवन

पंतजलि गिलोय घनवटी कला सेवन बहुत ही आसान होता है | इस दवा को बहुत आसानी से अपने प्रयोग में ला सकते है | इस दवा का सेवन व्यस्क व्यक्ति को दिन में दो बार करना चाहिये | वही बच्चों को दिन एक गोली का सेवन कराये | याद रहे बच्चे की उम्र पांच साल से अधिक होनी चाहिये | आप चाहे तो इसका सेवन शहद के साथ भी कर सकते है | खाना खाने के पहले इसका सेवन करे | इसके सेवन के एक घंटे बाद ही भोजन को ग्रहण करे | गर्भवती महिला भी इसका सेवन कर सकती है | लेकिन गर्भधारण के पांच महीने के बाद इसका सेवन बंद कर दे |

अब आइये जानते है कुछ पंतजलि गिलोय घनवटी से जुड़े सवाल के बारे में

क्या पंतजलि गिलोय घनवटी के साथ अंग्रेजी दवा का सेवन कर सकते है ?

पंतजलि गिलोय घनवटी के साथ किसी भी अंग्रेजी दवा का सेवन नही करना चाहिये | इससे व्यक्ति के स्वास्थ पर असर पड़ता है |

पंतजलि गिलोय घनवटी कैसे बनाई जाती है ?

पंतजलि गिलोय घनवटी को बनाने के लिए केवल गिलोय नामक जड़ी बूटी का ही प्रयोग किया जाता है | इसीलिए यह हमारी समस्या को जड़ से ख़त्म करने में कारगर साबित होती है |

 

और पढ़े – कलर ब्लाइंडनेस या वर्णान्धता – Color Blindness Treatment In Hindi

Tagged
MANVENDRA
HEALTH BLOGGER AND DIGITAL MARKETER AT SOFT PROMOTION TECHNOLOGIES PVT LTD

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *